राजस्‍थान में बाघ शावक के मौत की वजह बना नेवला, पोस्‍टमार्टम में हुआ सनसनीखेज खुलासा
Jaipur News in Hindi

राजस्‍थान में बाघ शावक के मौत की वजह बना नेवला, पोस्‍टमार्टम में हुआ सनसनीखेज खुलासा

पोस्‍टमार्टम (Postmortem) में हुए खुलासे के बाद नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क (Nahargarh Biological Park) के अधिकारी अचंभित हैं.

  • Share this:
जयपुर. नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क (Nahargarh Biological Park) में एक नेवला (Weasel) बाघ (Tiger) के शावक की मौत की वजह बन गया. अविश्‍वसनीय लगने वाली यह घटना 16 आने सच है और अब इस बात की पुष्टि बाघ की पोष्‍टमार्टम रिपोर्ट में भी हो चुकी है. दरअसल, आज दोपहर राजस्‍थान के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क (Nahargarh Biological Park) में एक बाघ के शावक चंद्रा की मृत्‍यु हो गई थी. पोस्‍टमार्टन रिपोर्ट में पता चला कि बाघ के मौत की वजह लेप्टोस्पायरोसिस है. जानवरों में यह बीमारी चूहे या नेवले के पेशाब के कारण होती है. इस बीमारी का खुलासा होने के बाद बायोलॉजिकल पार्क के अधिकारी अचंभित हैं.

बायोलॉजिकल पार्क के डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने बताया कि आज डेढ़ वर्षीय बाघ शावक रुद्रा को पहले खाना खाने में परेशानी हुई थी. उसके बाद, उसके पेशाब में भी खून आया. 4 जून को जब शावक का इलाज किया गया और सैंपल लिए गए. जांच में उसका क्रीएटिनिन लेवल काफी ज्यादा था, तब से शावक चंद्रा को लगातार निगरानी में रखा गया था. आज दोपहर करीब 11 बजकर 30 मिनट पर शावक अपने पिंजरे में निढाल होकर गिर पड़ा. सूचना मिलने पर, डॉक्‍टरों की एक टीम तत्‍काल मौके पर पहुंची.  डॉक्‍टरों ने जांच के बाद शावक चंद्रा को मृत घोषित कर दिया.

पोस्‍टमार्टम के लिए गठित हुआ मेडिकल बोर्ड
बायोलॉजिकल पार्क के डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने बताया कि शावक के पोस्‍टमार्टम के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में शावक चंद्रा के मौत की वजह लेप्टोस्पायरोसिस बताई गई है. यह बीमारी चूहे या नेवले के मूत्र के संपर्क में आने से होने की संभावना होती है. बायोलॉजिकल पार्क में चूहों की मौजूदगी से तो अधिकारियों ने इनकार किया है, लेकिन खुले एनक्लोजर में नेवले कि मौजूदगी या आवाजाही से इनकार नहीं किया जा सकता हैं. पोस्टमॉर्टम में विसरा सैंपल लिए गए हैं.
बरेली में होगी शावक के बिसरा जांच


बायोलॉजिकल पार्क के डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के दौरान बाघ शावक चंद्रा का विसरा सैंपल ले लिया गया है. उसे डिटेल एग्जामिनेशन के लिए IVRI बरेली भेजा गया है. साथ ही, एहतियात के लिए कोरोना और कैनाइन डिस्टेंपर की जांच के लिए भी सैंपल भेजा गया है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading