खालिद मसूद ने किया था लंदन में संसद के बाहर हमला, आईएसआईएस ने अपना लड़ाका बताया

बुधवार को लंदन में संसद के बाहर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी अब इस्लामिक स्टेट ने ली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2017, 11:45 PM IST
  • Share this:
बुधवार को लंदन में संसद के बाहर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी अब इस्लामिक स्टेट ने ली है.लंदन हमले के हमलावर की पहचान हो गई है. लंदन पुलिस ने मारे गए आतंकी का नाम खालिद मसूद बताया है.

पुलिस जांच में यह बात सामने आई है कि मसूद को पहले भी कई मामलों में सजा सुनाई जा चुकी है. 52 वर्षीय खालिद मसूद का जन्म केंट में हुआ था लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि वह वेस्ट मिडलैंड्स में रह रहा था.

हालांकि, अभी तक लंदन पुलिस इस घटना की आतंकी हमले के तौर पर ही जांच कर रही थी. लेकिन, हमले के कई घंटे बाद तक किसी आतंकी संगठन ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली थी.



गुरुवार को न्यूज एजेंसी 'एएफपी' के हवाले से मिली जानकारी में ये कहा गया है कि आईएसआईएस ने ब्रिटेन संसद के करीब पहुंचे हमलावर को अपना सिपाही बताया है.
(ये भी पढ़ें - लंदन अटैक के गुनहगारों की तलाश में छापेमारी, सात गिरफ्तार)

गौरतलब है कि हाल ही दुनिया के कई देशों में हुए आतंकी हमलों के लिए भी मुख्य रूप से आईएसआईएस ही जिम्मेदार रहा है. इससे पहले जर्मनी की राजधानी बर्लिन में क्रिसमस पर सजे बाजार के बीच एक ट्रक ने आतंक फैलाया था, जिसके लिए इस्लामिक स्टेट का नाम सामने आया था. इसके अलावा फ्रांस के पेरिस और नीस में हुए बड़े आतंकी हमलों की जिम्मेदारी भी आईएसआईएस ने ली थी.

आपको बता दें कि बुधवार दोपहर ब्रिटेन की संसद के बाहर आतंकी हमला हुआ, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई. संसद के बाहर एक हमलावर ने अंधाधुंध गोलियां बरसाते हुए लोगों को अपनी कार से रौंद दिया. बाद में उसने संसद में घुसने की कोशिश भी की. हालांकी सुरक्षा बलों ने इस आतंकी को जल्द ही मार गिराया.

ये हमला उस वक्त हुआ जब संसद में ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे समेत तकरीबन 200 सांसद मौजूद थे. हमले में करीब 40 लोग भी घायल हुए.

(ये भी पढ़ें - देखें: आतंकी हमले से थर्राया लंदन, फायरिंग होते ही बदहवास भागे लोग)

हालांकि, संसद के निकट हुए आतंकी हमले के बाद गुरुवार को संसद की बैठक फिर शुरू हुई. सांसदों ने एक मिनट का मौन रखकर मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने एक बयान में कहा कि संसद की कार्यवाही आम दिनों की तरह आज भी चलेगी. उन्होंने सांसदों और दूसरे लंदन वासियों के साथ एक मिनट का मौन रखकर पीड़ितों के प्रति एकजुटता प्रकट की.

(ये भी पढ़ें - पहले भी दहल चुका है सेंट्रल लंदन, 2005 में हुए थे सीरियल ब्लास्ट)

वहीं घटना के कुछ घंटों बाद ही लंदन पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए 7 लोगों की गिरफ्तारी की है. करीब 100 पुलिस वाले इस पूरी जांच प्रक्रिया में जुटे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज