अवैध संबंधो के खुलासे की धमकी देने पर मैनेजर ने किया प्रेमिका का कत्ल

लाइफ इंश्योरेंस के एक मैनेजर ने कंपनी में काम करने वाली मैनेजर प्रेमिका की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

  • News18India
  • Last Updated: March 10, 2016, 11:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। लाइफ इंश्योरेंस के एक मैनेजर ने कंपनी में काम करने वाली मैनेजर प्रेमिका की पीट-पीटकर हत्या कर दी। नवीन ने अपनी प्रेमिका से खुद के शादीशुदा होने की बात छुपा रखी थी लेकिन मामला खुलने पर प्रेमिका उसकी पत्नी को सारी बातें बता देने की धमकी दे रही थी।

बैंक मैनेजर ने प्रेमिका की हत्या कर उसे सड़क हादसे का रंग देने की कोशिश कर रहा था लेकिन कुछ राहगीरों ने उसकी योजना सफल नहीं होने दी। पुलिस ने बैंक मैनेजर को अपनी सहकर्मी लड़की की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आए नवीन को पुलिस ने अपनी ही प्रेमिका की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। नवीन रोहिणी के एमटूके मॉल में चलने वाले इसी एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस में मैनेजर के पद पर कार्यरत था। नवीन पर एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस में काम करने वाली 28 साल की पुण्य सागर की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप है।



पुलिस के मुताबिक नवीन अपनी सहकर्मी पुन्य सागर से प्रेम करता था और जल्द ही उससे शादी करने की बात कहता था। नवीन ने युवती से खुद के शादीशुदा होने की बात छुपा रखी थी। कुछ दिन पहले युवती को पता चला की नवीन शादी शुदा है बल्कि एक बच्चे का बाप भी है।
सच्चाई का पता लगने से नाराज पुन्य सागर अक्सर नवीन से कहती थी कि वो उसकी पत्नी को सारी सच्चाई बता देगी। पत्नी के सामने सच्चाई उजागर होने की डर से नवीन ने उसकी हत्या की साजिश रच डाली। पुन्य सागर के परिवार के मुताबिक नवीन के शादीशुदा होने का पता चलने के बाद उन्होंने अपनी बेटी की शादी एक नेवी ऑफिसर से तय कर दी थी। नेवी ऑफिसर फिलहाल विदेश में है लिहाजा परिवार ने 16 नवबंर शादी की तारीख तय की थी।

लड़की के परिवार के मुताबिक शादी ठीक हो जाने की वजह से नवीन गुस्से में था और उसी ईर्ष्यावश उसने पुन्य सागर की हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक नवीन लड़की को तीन मार्च को लॉंग ड्राईव के बहाने अपने साथ लेकर निकला। उसने पहले ही योजना बना रखी थी कि लॉंग ड्राईव के दौरान ही वो लड़की की हत्या कर किसी सुनसान जगह पर उसके शव को ठिकाने लगा देगा।

घटना की रात करीब एक बजे मंगोलपुरी इलाके में इसी जगह नवीन ने कार रोकी और लड़की की पिटाई शुरू कर दी। नवीन के सिर पर खून सवार था। लड़की की पिटाई करने के बाद वो उसका सिर फुटपाट पर लगातार पटकता रहा। उसी दौरान वहां दो अन्य लोग पहुंच गए।

अचानक दोनों युवकों को देख घबराए नवीन ने घायल पुन्य सागर को कार में डाला और वहां से फरार हो गया। पुलिस के मुताबिक नवीन के फरार होने से उन दोनों युवकों को शक हुआ और हौसला दिखाते हुए उन्होंने पुलिस को कॉल कर नवीन की कार का पीछा शुरू कर दिया। इस बीच नवीन अपनी कार लेकर सीधा इलाके के एक निजी अस्पताल में गया और वहां सड़क हादसे की बात बताकर लड़की को अस्पताल में दाखिल कराकर मौके से फरार हो गया।

सूचना मिलने के बाद अस्पताल पहुंची दिल्ली पुलिस ने सुराग के आधार पर एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस के मैनेजर नवीन के घर पहुंची लेकिन वो घर से फरार था। कई जगहों पर छापेमारी के बाद पुलिस ने आखिरकार बुधवार को नवीन को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल नवीन को पूछताछ के लिए पुलिस ने रिमांड पर ले लिया है।

दो युवकों की बहादुरी और सच्चे नागरिक की भूमिका की पुलिस सराहना कर रही है। पुलिस का कहना है कि दिल्ली के लोग अगर इसी तरह अपराध के प्रति अपनी आंखे और कान खुले रखकर जिम्मेदार नागरिक की भूमिका निभाने लगें तो दिल्ली से अपराध खत्म हो जाएगा।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज