लाइव टीवी

दाऊद के पाकिस्तानी पते पर UN की भी मुहर, IBN7 ने दिखाया था घर

News18India
Updated: August 23, 2016, 10:07 PM IST

भारत का दुश्मन नंबर वन अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही छिपा है। इसका पुख्ता सबूत IBN7 ने इसी साल खुफिया कैमरे में कैद कर दुनिया को दिखाया था।

  • News18India
  • Last Updated: August 23, 2016, 10:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। भारत का दुश्मन नंबर वन अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही छिपा है। इसका पुख्ता सबूत IBN7 ने इसी साल खुफिया कैमरे में कैद कर दुनिया को दिखाया था। ये वही पता था जो भारत सरकार ने अपने डोजियर में शामिल किया था और अब दुनिया की सर्वोच्च संस्था संयुक्त राष्ट्र ने भी दाऊद के उसी पते पर अपनी मुहर लगा दी है।

जी हां, अब दुनिया ये जान ले कि 23 सालों से भारत को छल रहा दाऊद पाकिस्तान के किस किस कोने में अपना आशियाना बना चुका है। पाकिस्तान को जोर का झटका जोर से लगा है। संयुक्त राष्ट्र ने दाऊद के 9 पतों में से 3 को छोड़ बाकी 6 पते सही करार दिए हैं। लेकिन पाकिस्तान है कि मानता ही नहीं।

1993 में मुंबई में सीरियल ब्लास्ट में 200 से ज्यादा लोगों की मौत का गुनहगार दाऊद इब्राहिम आज से नहीं पिछले 20 सालों से पाकिस्तान की गोद में पल रहा है। लेकिन अपनी सरजमीं पर आतंक को पालने पोसने वाला पाकिस्तान हमेशा इनकार करता आया है। भारत के दावों और सबूतों को झुठलाता रहा है। लेकिन अब संयुक्त राष्ट्र की कमेटी ने दाऊद के पाकिस्तानी पतों की पुष्टि कर दी है।

संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान में दाऊद के 9 पतों में से 6 को सही माना है भारत ने ये पते समेत दाऊद के खिलाफ सबूतों का कच्चा चिट्ठा पाकिस्तान को सौंपा था। संयुक्त राष्ट्र की सूची में दाऊद के जो पते दिखाए गए हैं, उनमें व्हाइट हाउस, सऊदी मस्जिद के पास, क्लिफ्टन, कराची, पाकिस्तान हाउस नंबर 37, स्ट्रीट नंबर 30- डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी, कराची, पाकिस्तान पैलेशियल बंगला, नूराबाद, कराची, पाकिस्तान शामिल हैं। सुरक्षा परिषद की आईएसआईएल और अलकायदा प्रतिबंध समिति ने दाऊद के बाकी के तीन पते इस लिस्ट से हटा दिए हैं।

हटाए गए पतों में एक पता संयुक्त राष्ट्र में इस्लामाबाद की दूत मलीहा लोधी के घर का है। संयुक्त राष्ट्र कमेटी ने दाऊद के जिन दो और पतों को सूची से हटाया है उनमें ‘8th फ्लोर, मेहरान चौक, नजदीक परदेसी हाउस-3, तलवार एरिया, क्लिफ्टन कराची और 6/A जौबम तंज़ीम, फेज-5, डिफेंस हाउसिंग एरिया, कराची शामिल हैं।

इसी साल IBN7 ने भी बड़ा जोखिम उठाते हुए दाऊद के पाकिस्तानी ठिकाने को खोज निकाला था। हमारा खुफिया कैमरा भी कराची में जा पहुंचा। हमने दिखाया कि किस तरह कराची के क्लिफ्टन इलाके में सऊदी मस्जिद के पास दाऊद का बंगला है। हमारे स्टिंग ऑपरेशन में तो पता यहां तक लगा था कि दाऊद ने अपने घर के भीतर ही एक मस्जिद भी बनवा ली है, ताकि नमाज पढ़ने के लिए घर से बाहर निकलने का जोखिम उसे न उठाना पड़े।

हमने कड़ी सुरक्षा से  घिरे जिस बंगले का जिक्र किया था वो दरअसल दाऊद के उन 6 पतों में शामिल है जिनपर अब संयुक्त राष्ट्र ने मोहर लगा दी है। यानि आईबीएन 7 की पाकिस्तान में की गई खुफिया पड़ताल सही साबित हुई है। लेकिन सबूतों को नकारने वाले पाकिस्तान ने इस जीते जागते सबूत को भी मानने से इनकार कर दिया था। मगर सोमवार को संयुक्त राष्ट्र ने दाऊद के पतों की लिस्ट में जो बदलाव किए उसने पाकिस्तान की कलई खोल दी।दाऊद ही नहीं उसके घरवालों के नाम हिंदुस्तान और पाकिस्तन में लोग जानते हैं, लेकिन पहली बार दाऊद का पूरा कुनबा संयुक्त राष्ट्र के दस्तावेजों में कैद हो गया है। दाऊद के पासपोर्ट, दाऊद के फर्जी नाम, उसकी बीवी का नाम दाऊद का पूरा कच्चा चिट्ठा अब पूरी दुनिया के सामने हैं। संयुक्त राष्ट्र की समिति ने दाऊद को लेकर अपनी सूची में कई अहम बदलाव किए हैं। दाऊद को पाकिस्तान ने एक या दो नहीं 4 पासपोर्ट जारी किए हैं।

एक तरफ पाकिस्तान दुनिया में ये ढिंढोरा पीटता रहता है कि उसका दाऊद से कोई वास्ता नहीं है वो पाकिस्तान में नहीं रहता है। लेकिन हकीकत क्या है ये संयुक्त राष्ट्र के दस्तावेजों से जगजाहिर है। जिसमें दाऊद का नाम आतंकियों की फेहरिस्त में शामिल है। इस सूची में दाऊद के पाकिस्तानी ठिकानों के साथ ही उसके तमाम पासपोर्ट की जानकारी भी दर्ज है। इनमें वे पासपोर्ट भी हैं, जो पाकिस्तान में जारी किए गए। संयुक्त राष्ट्र में दर्ज जानकारी के मुताबिक दाऊद को

पासपोर्ट नंबर A717288, 18 अगस्त 1985 को दुबई से जारी हुआ

पासपोर्ट नंबर G866537, 12 अगस्त 1991 को रावलपिंडी से बनवाया गया

पासपोर्ट नंबर C-267185, जुलाई 1996 में कराची से जारी हुआ

पासपोर्ट नंबर H-123259, जुलाई 2001 में रावलपिंडी में बनवाया

पासपोर्ट नंबर G-869537, रावलपिंडी से जारी हुआ

ये पांचवां मौका है जब संयुक्त राष्ट्र की सूची में दाऊद से जुड़ी जानकारियों में बदलाव किया गया है। दाऊद को नवंबर 2003 में आतंकियों की सूची में डाला गया था। संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकी घोषित किए जाने के बाद दाऊद की संपत्ति कुर्क है. उसकी यात्राओं पर पाबंदी लगी है।

दाऊद के ठिकानों के अलावा उसके परिवार की जानकारियों में भी बदलाव किए गए हैं।  इसमें दाऊद के पिता का नाम- शेख इब्राहिम अली कासकर, मां का नाम- अमीना बी, पत्नी का नाम महजबीं शेख अंडरलाइन किया गया है। दाऊद के जन्म स्थान के रूप में दर्ज बंबई को काटकर महाराष्ट्र के रत्नागिरी स्थित खेर किया गया है। इसके अलावा दाऊद दूसरे नामों के रूप में 'शेख फारूकी, बड़ा सेठ, बड़ा भाई, इकबाल भाई, मुच्छड़ और हाजी साहब' भी जोड़े गए हैं।

1993 के मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड दाऊद 23 साल से भारत को चकमा दे रहा है। 257 बेगुनाहों की मौत का गुनहगार पाकिस्तान की शह पर भारत में दूसरे आतंकी हमलों की साजिश में भी शामिल रहा है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंडिया 9 बजे से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2016, 10:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर