लाइव टीवी

कॉलिजियम पर उठाए जस्टिस काटजू ने सवाल, बोले जजों की नियुक्ति जानना जनता का हक

News18India
Updated: September 5, 2016, 12:32 AM IST

सिस्टम पर सवाल उठाने वाले जस्टिस चेलामेश्वर के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस काटजू उतर गए हैं। उनका दावा है कि कॉलिजियम सिस्टम पूरी तरह से सड़ चुका है।

  • News18India
  • Last Updated: September 5, 2016, 12:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। सिस्टम पर सवाल उठाने वाले जस्टिस चेलामेश्वर के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस काटजू उतर गए हैं। उनका दावा है कि कॉलिजियम सिस्टम पूरी तरह से सड़ चुका है और सब कुछ आपस में मिल बांटकर तय कर लिया जाता है।

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट कॉलिजियम के एक पूर्व जस्टिस सदस्य जस्टिस चेलामेश्वर ने कॉलिजियम की आलोचना की है, इस पर  काटजू ने कहा कि मैं जस्टिस साहब को पूरी तरह समर्थन करता हूं। मैं उन्हें तब से जानता हूं जब वह आंध्र प्रदेश के जज थे। वे बेहद ईमानदार शख्स हैं और कॉलिजियम पर उनके सवाल उठाना एकदम जायज हैं।

उन्होंने कहा कि कॉलिजियम व्यवस्था में पारदर्शिता की बेहद कमी हैं। इसमें जज मिल बांट कर अपने अपने आदमियों को तय कर लेते हैं और बेहद गोपनीयता के साथ सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जज की नियुक्ति हो जाती है। इसकी वजह से देश को एक बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है।

काटजू ने आगे कहा कि चेलामेश्वर के अलावा कॉलिजियम की एक और सदस्य रुमा पॉल भी इस पारदर्शिता की कमी पर सवाल खड़े कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि कॉलिजियम की मीटिंग्स की रिकॉर्डिंग होनी चाहिए और उसे लोगों के सामने लाना चाहिए ताकि लोगों को भी पता चले कि कौन भ्रष्ट जजों को समर्थन कर रहा है। एक लोकतांत्रिक देश में लोगों का ये हक है। मैं इस सिस्टम के बारे में अच्छे से जानता हूं और ये पूरी तरह से विफल सिस्टम हो चुका है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंडिया 9 बजे से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2016, 11:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर