डीजल गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक से इन कंपनियों पर पड़ेगा बुरा असर!

2000 सीसी से ऊपर की नई डीजल गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लग गई है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का ऑटो मोबाइल कंपनियों पर बुरा असर पड़ना तय है क्योंकि 2000 सीसी से ऊपर का ज्यादातर डीजल गाड़ियां एसयूवी और लग्जरी कैटेगरी में आती हैं।

  • News18India
  • Last Updated: December 16, 2015, 11:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। 2000 सीसी से ऊपर की नई डीजल गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लग गई है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का ऑटो मोबाइल कंपनियों पर बुरा असर पड़ना तय है क्योंकि 2000 सीसी से ऊपर का ज्यादातर डीजल गाड़ियां एसयूवी और लग्जरी कैटेगरी में आती हैं। बता दें कि होंडा सीआरवी- 2000 सीसी, ह्यूंडई सांता-फे- 2199 सीसी, फोर्ड एंडेवर- 3000 सीसी से ज्यादा, मित्शुबिशी पजेरो- 2500 सीसी की हैं।

आमतौर पर 2000 सीसी की डीजल गाड़ियों की कीमत 15 लाख से शुरू होकर करोड़ों रुपये तक जाती है। आपको बताते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले की सबसे ज्यादा मार किन मॉडल्स पर पड़ेगी। इस फैसले का सबसे ज्यादा असर रसूख की पहचान माने जाने वाले एसयूवी पर पड़ेगा।

बता दें कि टोयोटा फॉर्च्यूनर का शुरुआती मॉडल 2982 सीसी का है, जबकि टोयोटा इनोवा - 2494 सीसी की है, आपको बता दें कि टोयोटा की इन दोनों गाड़ियों का लोगों में जबरदस्त क्रेज है।



इस फैसले के सबसे ज्यादा मार भारतीय कंपनी महिंद्रा पर पड़ेगी, जिसके बेस्टसेलर मॉडल्स 2000 सीसी से ऊपर के ही हैं। महिंद्रा स्कॉर्पियो - 2179 सीसी
महिंद्रा XUV500 - 2179 सीसी और महिंद्रा बोलेरो - 2523 सीसी साथ ही टाटा मोटर्स की एसयूवी सफारी पर की बिक्री पर भी असर पड़ेगा जो कि 2179 सीसी का है।

बात करें लग्जरी कारों की तो मर्सिडीज, ऑडी और बीएमडब्लू के ज्यादातर मॉडल्स 2000 सीसी से ऊपर के ही होते हैं। ऐसे में इस रोक का सबसे बुरा असर इन बड़ी कंपनियों पर पड़ना तय है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज