लाइव टीवी

राजस्थान सरकार और राजपरिवार में ठनी, 550 करोड़ का पैलेस बना वजह

News18India
Updated: August 29, 2016, 10:18 AM IST

राजस्थान में जयपुर राजघराना और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया आमने-सामने हैं। 550 करोड़ की कीमत वाला जयपुर का राजमहल पैलेस इस विवाद की जड़ बना हुआ है।

  • News18India
  • Last Updated: August 29, 2016, 10:18 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। राजस्थान में जयपुर राजघराना और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया आमने-सामने हैं। 550 करोड़ की कीमत वाला जयपुर का राजमहल पैलेस इस विवाद की जड़ बना हुआ है। चार दिन पहले जयपुर विकास प्राधिकरण ने राजमहल पैलेस की 12 बीघा जमीन पर कब्जा जमा लिया और तीन दरवाजों पर ताला जड़ दिया। सरकारी कार्रवाई से नाराज जयपुर की राजकुमारी दीया इसके खिलाफ शक्ति प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं।

24 अगस्त को जयपुर की प्राइम लोकेशन पर मौजूद होटल राजमहल पैलेस के एक हिस्से पर जयपुर विकास प्राधिकरण का बुलडोजर चला। इसके बाद जेडीए के अफसरों ने महल परिसर की 12 बीघा जमीन अपने कब्जे में ले ली। साथ ही पैलेस के चार में से तीन दरवाजों को भी सील कर दिया। इस कार्रवाई से बौखलाई राजकुमारी दीया कुमारी पैलेस के गेट पर ही अफसरों से भिड़ गईं।

राजपरिवार का दावा है कि जेडीए की कार्रवाई भारत सरकार के साथ हुए अनुबंध के खिलाफ है। 1949 में जयपुर रियासत के राजस्थान में विलय के बाद तत्कालीन गृह मंत्री सरदार पटेल और पूर्व महाराजा मानसिंह के बीच हुए समझौते को कोविनेंट (अनुबंध) कहा जाता है। कोविनेंट के मुताबिक राजमहल पैलेस प्रिंसेज हाउस के तौर पर जयपुर राज परिवार की संपत्ति है।

120 बीघा में फैला राजमहल पैलेस आजादी से पहले अंग्रेज रेजिडेंट का दफ्तर यानी रेजिडेंस था। लेकिन विलय के समय कोविनेंट में इसे प्रिंसेज हाउस दिखाया गया था। 1993 में राजस्थान सरकार ने राजमहल की 65 बीघा जमीन का अधिग्रहण कर लिया। तब इसमें से 12 बीघा जमीन सरकार ने राजमहल के पास ही छोड़ दी थी। राजमहल पैलेस के मुख्य भवन समेत 54 बीघा जमीन अभी भी राज परिवार के पास है। यहीं से राजमहल पैलेस होटल का संचालन किया जा रहा है।

राजमहल को 1970 में पूर्व महाराजा मानसिंह ने अपने बेटे पूर्व महाराजा भवानी सिंह को गिफ्ट के रुप में दिया। और फिर पूर्व महाराजा भवानी सिंह ने इसे गिफ्ट के रूप में अपनी बेटी पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी को दे दिया।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंडिया 9 बजे से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2016, 10:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर