लाइव टीवी

नाम के रक्षामंत्री रह गए हैं ख्वाजा आसिद, राहिल शरीफ हर जगह कर रहे देश का प्रतिनिधित्व!

News18India
Updated: April 22, 2016, 10:10 PM IST

पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जिसमें देश की रक्षा करने वाली सेना तो सबसे ताकतवर है लेकिन देश का रक्षा मंत्री सबसे कमजोर।

  • News18India
  • Last Updated: April 22, 2016, 10:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली। पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जिसमें देश की रक्षा करने वाली सेना तो सबसे ताकतवर है लेकिन देश का रक्षा मंत्री सबसे कमजोर। हालत ये है कि रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ को विदेशी नेताओं ने भी पूछना छोड़ दिया है। पाकिस्तान दौरे के वक्त भी कोई उनसे मिलने नहीं जाता। पाकिस्तानी सेना के प्रमुख राहिल शरीफ की हर तरफ है। लोकप्रियता में इस वक्त राहिल से बड़ा चेहरा कोई नहीं और रक्षामंत्री को गुमनामी के अंधेरे में धकेल दिया गया है।

जब पाकिस्तान को अमेरिका, साऊथ अरब, ईरान और चीन से बात करनी थी तो जनरल राहिल शरीफ देश का प्रतिनिधित्व करते नजर आए। जब हर देश में, हर जगह पर पाकिस्तानी सेना का मुखिया नजर आएगा तो फिर बेचारा वो कहां जाए,  जिस पर देश की रक्षा की जिम्मेदारी है। मजाक में कहा जाने लगा कि पाकिस्तान ने अपने रक्षा मंत्री को पर्दे के पीछे छिपा दिया है।

अगर किसी देश में जाना हो तो जनरल राहिल शरीफ हाजिर रहते हैं। अगर दूसरे देश का कोई बड़ा नेता पाकिस्तान आता है, तो उसकी मुलाकात राहिल शरीफ से कराई जाती है। बेचारे रक्षा मंत्री को पूछा तक नही जाता। दुनिया में ऐसा करने वाला पाकिस्तान इकलौता देश है। नतीजा ये कि सत्ता के गलियारे से रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ पूरी तरह गायब हो चुके हैं।

सूत्रों की मानें तो सेना मुख्यालय से आई किसी भी फाइल को मना करने की रक्षा मंत्रालय में हिम्मत नहीं है। रावलपिंडी में मौजूद सेना मुख्यालय से जो भी कहा जाता है, रक्षा मंत्रालय को उसे मानना ही पड़ता है। रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ को कभी भी जनरल राहिल से बातचीत करते हुए नहीं देखा गया है।

इसलिए जब कभी जनरल राहिल शरीफ और रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ कभी भी एक साथ कैमरे में दर्ज हो जाते हैं तो पाकिस्तान में ब्रेकिंग न्यूज हो जाती है। पाकिस्तान की जनता भी समझती है कि राहिल शरीफ ने अपने देश के रक्षा मंत्री की हैसियत को कहां तक गिरा दिया है। जबकि एक दौर वो भी था जब रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ पानी पी पी कर पाकिस्तान की फौज को कोसते हुए नजर आते थे।

पाकिस्तान में सेना हमेशा से खुद को सरकार से ऊपर समझती रही है। दुनिया को दिखाने के लिए सुप्रीम कोर्ट सेना के खिलाफ आदेश जारी भी कर देता है तो उस पर अमल नहीं किया जाता। जिस नेता को राहिल शरीफ से मिलना होता है तो वो वाकायदा उनसे मुलाकात का वक्त लेता है। पाकिस्तान सेना के खौफ का अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं कि पाकिस्तान में रक्षा सचिव तक का पद बिना सेना की मंजूरी के भरा नहीं जाता। सेना की सख्त हिदायत है कि इस पद पर कोई रिटायर्ड फौजी ही नियुक्त किया जाए। नवाज सरकार की कभी हिम्मत नहीं हुई कि इस आदेश का पालन ना करे। पाक सेना के खिलाफ जाने की।

ख्वाजा आसिफ ने सबसे बड़ी गलती 2014 में की थी जब उन्होंने पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ पर सवाल खड़ा कर दिया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान में सिर्फ फौज को ही हर तरह की आजादी है। उन्होंने ये भी कहा था कि पाक फौज के जनरल ही पाकिस्तान को बर्बाद करते रहे हैं। पाकिस्तान में उस वक्त ख्वाजा आसिफ के बयानों ने सभी को चौंका दिया था। इसके बाद तुरंत ही सेना ने अपने रक्षा मंत्री को ही बर्खास्त करने की तैयारी शुरू कर दी थी।बर्खास्तगी तक की बात तो ठीक थी, लेकिन मुमकिन है ख्वाजा आसिफ को इससे भी सजा मिलने का अंदेशा हो गया था। घबराए हुए ख्वाजा आसिफ ने सार्वजनिक तौर सेना से माफी मांग ली थी। ये कहा था कि सेना तो देश के लिए बहूमूल्य रत्न है। एक वो वक्त था। एक ये वक्त है कि सेना कुछ भी कहे या करे। ख्वाजा आसिफ सेना की हां में हां मिलाते हैं। राहिल शरीफ उनके सबसे बड़े आका बन गए हैं।

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ को अब पाक सेना की ज्यादतियां नजर नहीं आतीं। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री अपनी ही सेना के गुलाम बनकर रह गए हैं। अपनी कुर्सी और अपनी जान बचाने के लिए एक देश का रक्षा मंत्री खुद ही लापता हो गया है। पाकिस्तान में टीवी चैनलों में रक्षा मंत्री की खिल्ली उड़ाई जाती है। ये पाकिस्तान में ही हो सकता है कि रक्षा मंत्री की बेइज्जती पर तालियां बजाई जाएं। आप समझ सकते हैं कि पाकिस्तान की जनता में भी रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ और वहां की सरकार की क्या इज्जत रह गई है। अगर ऐसा ही रहा तो मुमकिन है कि आने वाले दिनों में रक्षा मंत्री की तरह पूरी पाकिस्तान सरकार भी लापता हो जाए।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खबरों में खास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 22, 2016, 8:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर