लाइव टीवी

'मिग-29K' के नौसेना में शामिल करते ही भारत ने ऐसे उड़ाए पाक-चीन के होश!

News18India
Updated: May 11, 2016, 11:50 PM IST

नौसेना को 'मिग-29के' मिलना पाकिस्तान के लिए सबसे बड़ा झटका है। पहले से ही पाकिस्तानी नौसेना की हालत पस्त है। ऐसे में भारत ने 'मिग-29के' को सामने लाकर पाकिस्तान के होश उड़ा दिए हैं।

  • Share this:
नई दिल्ली। पिछले 33 सालों से भारतीय नौसेना की शान रहा लड़ाकू विमान सी हैरियर अब हमेशा के लिए विदा हो गया है। व्हाइट टाइगर कहे जाने वाले लड़ाकू विमानों की गोवा में आखिरी उड़ान एक भावुक लम्हा रहा। लेकिन इसी के साथ आधुनिक तकनीक से लैस 'मिग-29के' सुपरसोनिक फाइटर जेट नौसैनिक बेड़े में शामिल हो गया। नौसेना को 'मिग-29के' मिलना पाकिस्तान के लिए सबसे बड़ा झटका है। पहले से ही पाकिस्तानी नौसेना की हालत पस्त है। ऐसे में भारत ने 'मिग-29के' को सामने लाकर पाकिस्तान के होश उड़ा दिए हैं।

बता दें कि पिछले 33 सालों से भारतीय नेवी की शान बढ़ाने वाले सी हैरियर को भारतीय नेवी ने 1983 में ब्रिटेन से खरीदा था। 33 सालों के इस लंबे सफर में सी हैरियर ने कई ऑपरेशंस और अभ्यास में हिस्सा लिया। सी हैरियर को सबसे तेज वर्टिकल टेक ऑफ और लैडिंग करने वाले विमानों में से एक माना जाता है। सी हैरियर ने गोवा के डाबोलिम हवाई हड्डे पर जब आखिरी बार अपनी ताकत यही ताकत दिखाई तो वहां मौजूद लोग एक बार फिर हैरान हो गए। सी हैरियर की आखिरी लैंडिग के वक्त नौसेना ने इसे वॉटर केनन सैल्यूट भी दिया।

सी हैरियर की शानदार विदाई और 'मिग-29के' के नेवी में शामिल होने के मौके पर खुद नेवी चीफ आर के धोवन गोवा नेवल एयरबेस पर मौजूद थे। नेवी चीफ के साथ-साथ वेस्ट्रन नेवल कमांड के मुखिया समेत महाराष्ट्र और गोवा के कई बड़े अधिकारी इस मौके पर मौजूद रहे। नेवी चीफ आर के धवन का भी मानना है कि 'मिग-29के' के नेवी में शामिल होने से नेवी की ताकत बहुत ज्यादा बढ़ी है।

नेवी चीफ आर के धवन के मुताबिक सी हैरियर को आज हम सब लोगों ने विदाई दी है, उसकी जिम्मेदारी अब और भी ताकत वाले सुपर सॉनिक जेट 'मिग-29के' को दी गई है। हमें उम्मीद हैं कि इसके आने से हमारी ताकत काफी ज्यादा बढ़ेगी।

रियर एडमिरल पुनित बहल के मुताबिक नेवल एविएशन बदलाव आना जरुरी है। हर जगह बदलाव अच्छे के लिए होता है। नेवी में भी यह बदलाव अच्छ के लिए ही किया जा रहा है। 'मिग-29के' की सबसे बड़ी ताकत है उसकी रफ्तार और अचूक निशाना।

नौसैनिक बेड़े में शामिल हुआ 'मिग-29के' सी हैरियर के मुकाबले तकनीकि के मामले में आधुनिक और कई गुना ज्यादा ताकतवर है। यह अत्याधुनिक मिसाइल और रॉकट से लैस है। ऐसे वक्त में जब चीन हिंदमहासागर में भारत को घेरने की लगातार कोशिश कर रहा है तब भारतीय नौसैनिक बेड़े में मिग-29k का शामिल होना भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।

हिंद महासागर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा समंदर है। धरती का इकलौता ऐसा महासागर जिसका नाम किसी देश के नाम पर है, लेकिन पिछले कुछ दशकों से हिंद महासागर को ललचाई नजरों से देख रहा है चीन और उसका साथ दे रहा है पाकिस्तान।  इसकी एक बड़ी वजह ये भी है कि दुनिया के समुद्री कारोबार का 65 फीसदी हिंद महासागर से ही होकर गुजरता है। कच्चे तेल की सप्लाई का बड़ा हिस्सा इसी रास्ते पर निर्भर है।चीन की नजर इस कारोबारी रास्ते पर है और इसलिए वो पाकिस्तान के ग्वादर में पोर्ट विकसित कर रहा है। चीन के नापाक इरादों को रोकने के लिए हाल ही में भारत और अमेरिका ने हाथ मिलाने का फैसला किया है। हिंद महासागर में अब दोनों ही देश मिलकर पनडुब्बियों पर नजर रखेंगे।

सुरक्षा के जानकारों के मुताबिक कोई भी देश अपनी नौसेना की तकनीकी क्षमता को हमेशा छिपाकर रखता है। समंदर के भीतर उसके पास कितनी ताकत है। इसका खुलासा वो जंग के वक्त ही करता है। लेकिन अमेरिका अपनी नौसैनिक तकनीक भारत को देने के लिए तैयार है और इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि हिंद महासागर में को लेकर अमेरिका कितना गंभीर है।

अमेरिका के साथ ही जापान और ऑस्ट्रेलिया भी भारत का साथ देने के लिए तैयार हैं। इन देशों का की संयुक्त मोर्चेबंदी के बाद चीन की हिम्मत नहीं होगी भारत की ओर देखने की और पाकिस्तान तो एक दिन भी भारत के आगे टिक नहीं पाएगा। मौजूदा वक्त में ही भारत की नौसेना पाकिस्तानी नौसेना को बुरी तरह पठखनी देने का माद्दा रखती है। क्योंकि--

# भारत के पास 7 पोर्ट हैं, पाकिस्तान के पास सिर्फ 2 पोर्ट हैं।
# भारत के पास 295 युद्धक जहाज हैं जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 197।
# भारत के पास 2 एयरक्राफ्ट करियर हैं, पाकिस्तान के पास एक भी नहीं है।
# भारत के पास 14 सबमरीन हैं, पाकिस्तान के पास सिर्फ 5 सबमरीन हैं।
# भारत के पास डिस्ट्रॉयर क्लास के 14 जहाज हैं, पाकिस्तान के पास एक भी नहीं है।
# भारत के पास कॉवेट क्लास के 26 जहाज हैं, पाकिस्तान के पास एक भी नहीं है।

आप समझ सकते हैं कि पाकिस्तानी नौसेना के लिए भारत का मुकाबला करना कितना मुश्किल है और अब गोवा में नौसेना को 'मिग-29के' लड़ाकू विमान की ताकत मिलने के बाद उसका हौसला और बढ़ गया है।

(पूरी खबर के लिए वीडियो देखें।)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खबरों में खास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 11, 2016, 8:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर