Home /News /shows /

फिल्म समीक्षा: ‘अलोन’ में छिपी है ब्लैक कॉमेडी

फिल्म समीक्षा: ‘अलोन’ में छिपी है ब्लैक कॉमेडी

चीखों से भारी हॉरर फिल्म ‘अलोन’ के नीचे कहीं छिपी है एक ब्लैक कॉमेडी। जरा सोचिए दो कॉनजॉएंड यानी की जुड़ी हुई जुड़वा बहनों में से एक अपनी दूसरी बहन से अलग होना चाहती है।

    मुंबई। चीखों से भारी हॉरर फिल्म ‘अलोन’ के नीचे कहीं छिपी है एक ब्लैक कॉमेडी। जरा सोचिए दो कॉनजॉएंड यानी की जुड़ी हुई जुड़वा बहनों में से एक अपनी दूसरी बहन से अलग होना चाहती है, क्योंकि वो अपने बॉयफ्रेंड के साथ कुछ प्राइवेट समय बिताना चाहती है।

    अफसोस की बात है की यह चीज इस हॉरर फिल्म में ठीक नहीं बैठती जो दो इंसानो और एक भूत के बीच लव ट्राएंगल की कहानी बताती है। संजना यानी बिपाशा बसु को उसकी मरी हुई जुड़वा बहन अंजना का भूत सताने लगता है जब वो अपनी मां यानी नीना गुप्ता की बीमारी के बाद केरला अपने घर आ जाती है।

    ‘रागिनी एमएमएस 2’ के डायरेक्टर भूषण पटेल वो ही घिसेपिटे हॉरर फॉर्मूले का इस्तेमाल करते हैं, बंद होते दरवाजों और भौंकते कुत्तों से लेकर टूटी हुई गुड़िया और अजीब परछाईयों तक। लेकिन फिर भी वो पूरी फिल्म में महज़ दो डरावने सींस देने में ही कामयाब होते हैं।

    घर के नौकर मानो संजना के बेवकूफ पति यानी करण सिंह ग्रोवर से ज्यादा समझदार हैं जो ये समझ ही नहीं पाता की उसकी बीवी के अंदर कोई आत्मा घुस आई है। जाहिर तौर पर, मंत्र पढ़ता हुआ बाबा ही है जो इस आत्मा को वश में कर सकता है, पर लास्ट मिनट में आया ट्विस्ट भी इस मरी हुई स्क्रिप्ट में जान नहीं डाल पता।

    डबल रोल में होने के बावजूद भी बिपाशा बसु, पैरलाइज्ड नीना गुप्ता से भी कम एक्सप्रेशंस देती हैं। बिपाशा और उनके मसल्ड को-स्टार के बीच के हॉट सींस इस फिल्म की टिकट पर पैसा खर्च करने की वजह नहीं हो सकते। मैं ‘अलोन’ को पांच में से डेढ़ स्तर देता हूं आप विश करेंगे की काश आप घर पर ही रहते।

    Tags: Bipasha basu, Bollywood, Rajeev masand ki pasand

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर