क्‍या मस्जिदों में महिलाओं को नहीं है जाने का हक़ ?

मंदिर, गिरजाघर और गुरुद्वारों में हमेशा औरतों की चहल-पहल दिखाई देती है लेकिन क्या मस्जिदों में मुसलमान औरतों को देखा जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2017, 1:11 PM IST
  • Share this:
फ़राह खान

मस्जिद में अज़ान होती है और सभी नमाज़ी वज़ू के बाद इबादत के लिए खड़े दिखते हैं लेकिन क्या हमने कभी ये सोचा है कि मस्जिदों में सिर्फ़ आदमी ही क्यों नज़र आते हैं. औरतें मस्जिदों में क्यों नहीं दिखाई देती हैं.

ख़ुदा का घर तो सबके लिए होता है, सभी उसकी नज़रों में एक बराबर होते हैं तो फिर औरतों के मस्जिद जाने पर रोक क्यों है? मंदिर, गिरजाघर और गुरुद्वारों में हमेशा औरतों की चहल-पहल दिखाई देती है लेकिन क्या मस्जिदों में मुसलमान औरतों को देखा जा सकता है.
बेशक इस्लाम अपनी औऱतों को मस्जिद में इबादत करने से नहीं रोकता लेकिन इसके बावजूद औरतें मस्जिद में नमाज़ पढ़ती, सजदा करती या दुआ मांगती नहीं दिखतीं.इस सवाल के जवाब की तलाश में न्यूज़18 इंडिया की टीम पहुंची देश की सबसे बड़ी मस्जिद यानी कि जामा मस्जिद में. वीडियो में देखें पूरी रिपोर्ट.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज