एयरलाइंस ने किया अपमान, भड़कीं शूटर मनु भाकर, खेल मंत्री किरण रिजिजू के दखल से सुलझा मामला

एयरपोर्ट पर मनु भाकर का अपमान, खेल मंत्री ने की मदद (फोटो-मनु भाकर इंस्टाग्राम)

एयरपोर्ट पर मनु भाकर का अपमान, खेल मंत्री ने की मदद (फोटो-मनु भाकर इंस्टाग्राम)

दिल्ली एयरपोर्ट पर वर्ल्ड नंबर 2 निशानेबाज मनु भाकर (Manu Bhaker) को बदसलूकी का सामना करना पड़ा, जिसके बाद उन्होंने ट्विटर के जरिए खेल मंत्री से मदद मांगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2021, 10:52 PM IST
  • Share this:
एयरलाइंस के अपमान पर भड़कीं शूटर मनु भाकर, खेल मंत्री रिजिजू के दखल से सुलझा मामलानई दिल्ली. इस देश में अगर क्रिकेट खिलाड़ी एयरपोर्ट पर जाए तो पूरी एयरलाइंस उसकी खातिरदारी में लग जाती है लोग उसकी एक झलक पाने के लिए उमड़ पड़ते हैं लेकिन दूसरे खेलों में भारत का नाम रोशन करने वालों को कई बार बदसलूकी का सामना करना पड़ता है. कुछ ऐसा ही स्टार निशानेबाज मनु भाकर (Manu Bhaker) के साथ हुआ है. मनु भाकर को दिल्ली एयरपोर्ट पर बदसलूकी का सामना करना पड़ा. एयर इंडिया ने उन्हें फ्लाइट पर चढ़ने से रोक दिया और उनसे 10200 रुपये मांगे.

मनु भाकर ने इसके बाद ट्विटर के जरिए एयर इंडिया स्टाफ की शिकायत की और खेल मंत्री किरेन रिजीजू से मदद मांगी. अपने ट्वीट में मनु भाकर ने पीएम मोदी को भी टैग किया. मनु भाकर के इस ट्वीट के बाद खेल मंत्रालय हरकत में आया और खुद खेल मंत्री रिजीजू ने इस निशानेबाज की मदद की.

मनु भाकर से हुई बदसलूकी!




मनु भाकर को एयरपोर्ट पर रोकने की वजह
बता दें मनु भाकर शुक्रवार को दिल्ली से भोपाल ट्रेनिंग के लिए जा रही थीं लेकिन उन्हें एयर इंडिया अधिकारियों ने फ्लाइट में बैठने से रोक दिया. मनु भाकर ने आरोप लगाया कि निशानेबाजी बंदूक से जुड़े कागजात होने के बावजूद एयरइंडिया के दिल्ली एयरपोर्ट इंचार्ज ने उनके साथ बदसलूकी की और उनसे 10200 रुपये की मांग की.

मनु भाकर से अपराधियों जैसा व्यवहार!


मनु भाकर ने लगाया अपराधियों जैसा बर्ताव होने का आरोप
मनु भाकर ने ट्वीट में कहा, 'इंदिरा गांधी एयरपोर्ट दिल्ली से भोपाल एमपी शूटिंग एकेडमी जाना है. मुझे अपने हथियार और गोलियां ले जानी जरूरी हैं. एयर इंडिया अधिकारियों से थोड़े सम्मान या हर बार खिलाड़ियों का अपमान ना करने का निवेदन है. प्लीज पैसे ना मांगना. मेरे पास डीजीसीए परमिट है. आईजीआई दिल्ली पर फ्लाइट नंबर एयर इंडिया 437 में नहीं चढ़ने दिया जा रहा. डीजीसीए परमिट और सभी जरूरी दस्तावेज होने पर भी मुझसे 10,200 रुपये मांगे जा रहे हैं. साथ ही एयर इंडिया के इंचार्ज मनोज गुप्ता डीजीसीए को जानते ही नहीं. नरेंद्र मोदी, हरदीप सिंह पुरी, अमित शाह, वसुंधरा राजे सिंधिया क्या मुझे रिश्वत देनी होगी. '

मनु भाकर ने अपने अगले ट्वीट में आरोप लगाया कि उनके साथ अपराधियों जैसा व्यवहार हो रहा है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'इस तरह का बर्ताव सहन नहीं किया जा सकता. मनोज गुप्ता इंसान नहीं हैं. वह मुझसे ऐसा बर्ताव कर रहे हैं जैसे मैं एक अपराधी हूं.  ऐसे लोगों को बात करने की बेसिक ट्रेनिंग देने की जरूरत है. उम्मीद है कि एविएशन मिनिस्ट्री इनके बारे में पता लगाएगी और इन्हें सही जगह भेजेगी.' अंत में मनु भाकर ने ट्वीट कर बताया कि खेल मंत्री किरेन रिजीजू के दखल के बाद उन्हें फ्लाइट में बैठा दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज