अपना शहर चुनें

States

अंकिता ऑस्ट्रेलियाई ओपन क्वॉलिफायर के आखिरी दौर में हारी, अब भी उम्मीद बरकरार

अंकिता रैना का ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में खेलने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया (Ankita Raina/Instagram)
अंकिता रैना का ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में खेलने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया (Ankita Raina/Instagram)

अंकिता रैना का ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में खेलने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया जब वह बुधवार को ऑस्ट्रेलियाई ओपन क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट के आखिरी दौर में सर्बिया की ओल्गा डानिलोविच से हार गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 7:41 AM IST
  • Share this:
मेलबर्न. अंकिता रैना का ग्रैंडस्लैम एकल मुख्य ड्रॉ में खेलने का सपना एक बार फिर अधूरा रह गया जब वह बुधवार को ऑस्ट्रेलियाई ओपन क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट के आखिरी दौर में सर्बिया की ओल्गा डानिलोविच से हार गई. दुबई में चल रहे महिला एकल क्वॉलिफायर में अंकिता को तीसरे और आखिरी दौर में सर्बियाई खिलाड़ी ने दो घंटे में 6.2, 3.6, 6.1 से मात दी. अंकिता अपनी पहली सर्विस पर अंक नहीं बना पाई, जिसका उन्हें नुकसान हुआ. उन्होंने कहा कि उनकी प्रतिद्वंद्वी ने अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाया.

अंकिता ने पीटीआई-भाषा से कहा, ''हम दोनों ने अच्छी टेनिस खेली. पहले सेट में उच्चस्तर का खेल हुआ. वह अच्छी सर्विस कर रही थी और अपनी सर्विस पर अंक बना रही थी.'' उन्होंने कहा, ''दूसरे सेट में मैं उसकी सर्विस को अच्छी तरह से समझने लगी और मैंने जवाबी रिटर्न किए, जिसका मुझे फायदा मिला. उसने तीसरे सेट में शुरू से ही अच्छी सर्विस करके 3-0 से बढ़त बनाई. उसके स्ट्रोक और सर्विस तेज थे. मैंने हालांकि आखिर तक हार नहीं मानी और मुझे इस पर गर्व है.''

अमिताभ बच्चन ने शेयर की भविष्य की महिला क्रिकेट टीम, क्या जीवा बनेंगी कप्तान?



अंकिता का ग्रैंडस्लैम के मुख्य दौर में जगह बनाने का यह छठा प्रयास था. अंकिता को हालांकि अब भी मुख्य ड्रॉ में जगह बनाने की उम्मीद है क्योंकि आयोजकों ने अंतिम दौर में हारने वाले खिलाड़ियों को मेलबर्न ले जाने की योजना बनायी ताकि किसी खिलाड़ी के हटने की स्थिति में उन्हें 'लकी लूजर' के तौर पर मुख्य ड्रॉ में जगह दी जा सके.
Sports News Today Live Updates: पुकोवस्की की जगह चौथे टेस्ट में हैरिस करेंगे ओपन

अंकिता ने कहा, ''वे (आयोजक) मुझे मेलबर्न ले जा रहे हैं और कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए कुछ खिलाड़ी हट सकते हैं. मैं कतार में सातवें स्थान पर हूं. मुझे अब भी उम्मीद है.'' अगर अंकिता को ड्रॉ में जगह नहीं मिलती तो फिर सत्र के पहले ग्रैंडस्लैम में एकल वर्ग में भारत की उम्मीदें सिर्फ सुमित नागल पर टिकी रहेंगी. उन्हें पुरुष एकल में वाइल्ड कार्ड मिला है. रामकुमार रामनाथन पुरुष एकल क्वॉलिफायर के पहले दौर में हार गए जबकि प्रजनेश गुणेश्वरन को दूसरे दौर में पराजय झेलनी पड़ी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज