Asian Boxing Championships: 6 बार की वर्ल्‍ड चैंपियन मैरीकॉम की नजर फिर 'छक्‍का' लगाने पर

दिग्गज बॉक्सर मैरीकॉम अपने छठे एशियाई चैंपियनशिप खिताब के काफी करीब पहुंच गई हैं 
 (PC-मैरीकॉम इंस्टाग्राम)

दिग्गज बॉक्सर मैरीकॉम अपने छठे एशियाई चैंपियनशिप खिताब के काफी करीब पहुंच गई हैं (PC-मैरीकॉम इंस्टाग्राम)

ओलिंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुकी 38 वर्षीय मैरीकॉम ने सेमीफाइनल में मंगोलिया की लुतसाइखान अल्टांटसेतसेग को शिकस्त दी थी और अब फाइनल में उन्हें दो बार की विश्व चैंपियन किजाइबे से कड़ी चुनौती मिलेगी.

  • Share this:

दुबई. छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम (51 किग्रा) रविवार को यहां एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप (Asian Boxing Championships) के महिला 51 किग्रा फाइनल में कजाखस्तान की नाजिम किजाइबे से भिड़ेंगी और अपना छठा स्वर्ण पदक हासिल करने की कोशिश करेंगी. ओलिंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुकी 38 वर्षीय मैरीकॉम ने गुरुवार को सेमीफाइनल में मंगोलिया की लुतसाइखान अल्टांटसेतसेग को 4-1 से शिकस्त दी थी और अब फाइनल में उन्हें दो बार की विश्व चैंपियन किजाइबे से कड़ी चुनौती मिलेगी.

ओलिंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुकी एक अन्य मुक्केबाज पूजा रानी को सेमीफाइनल में वॉकओवर मिला था और वह फाइनल में उज्बेकिस्तान की फॅार्म में चल रही मावलुडा मोवलोनोवा के सामने होंगी, जिन्होंने अंतिम चार में लंदन ओलिंपिक पदक विजेता मरीना वोलनोवा की चुनौती समाप्त की थी.

अनुपमा और लालबुआतसाही के सामने भी कड़ी चुनौती 

अनुपमा (81 किग्रा से अधिक) और लालबुआतसाही (64 किग्रा) को भी अपने-अपने फाइनल में कजाखस्तान की मजबूत मुक्केबाजों से कड़ी टक्कर मिलेगी. सोमवार को पुरुष वर्ग में गत चैंपियन अमित पंघाल (52 किग्रा), शिव थापा (64 किग्रा) और संजीत (91 किग्रा) स्वर्ण पदक मुकाबले खेलेंगे. पंघाल फाइनल में रियो ओलिंपिक स्वर्ण पदक विजेता और मौजूदा विश्व चैंपियन उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज जोइरोव शाखोबिदीन के खिलाफ, जबकि असम के मुक्केबाज थापा को एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता मंगोलिया के बातरसुख चिनजोरिग से चुनौती मिलेगी. दूसरे वरीय संजीत का सामना रियो ओलिंपिक के रजत पदक विजेता वासिली लेविट से होगा, जो एशियाई चैंपियनशिप के अपने चौथे स्वर्ण पदक का लक्ष्य लेकर रिंग में उतरेंगे.
यह भी पढ़ें: 

यौन उत्पीड़न की जांच को लेकर नाइकी पर भड़के नेमार, बोले- बात सुने बिना कॉन्ट्रैक्ट तोड़ा

इगोर स्टिमक सितंबर तक रहेंगे भारतीय फुटबॉल टीम के कोच, मेडिरा बने अंतरिम तकनीकी निदेशक



भारतीय मुक्‍केबाजों का अब तक सबसे सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 

भारतीय मुक्केबाजों ने 2019 चरण में हासिल किए गए 13 (दो स्वर्ण, चार रजत और सात कांस्य) पदक से बेहतर करते हुए 15 पदक जीतकर पहले ही अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सुनिश्चित कर दिया है. आठ भारतीय मुक्केबाज सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), विकास कृष्ण (69 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा), जैस्मीन (57 किग्रा), साक्षी चौधरी (64 किग्रा), मोनिका (48 किग्रा), स्वीटी (81 किग्रा) और वरिंदर सिंह (60 किग्रा) को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था. इन सबने देश के लिए कांस्य पदक हासिल किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज