Home /News /sports /

Australian Open: एश्ले बार्टी ने रचा इतिहास, 42 साल बाद ऑस्ट्रेलिया की महिला खिलाड़ी खेलेगी फाइनल

Australian Open: एश्ले बार्टी ने रचा इतिहास, 42 साल बाद ऑस्ट्रेलिया की महिला खिलाड़ी खेलेगी फाइनल

वर्ल्ड नंबर वन खिलाड़ी एश्ले बार्टी (Asleigh Barty) साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open 2022) के फाइनल में पहुंचीं. (Ashleigh barty instagram)

वर्ल्ड नंबर वन खिलाड़ी एश्ले बार्टी (Asleigh Barty) साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open 2022) के फाइनल में पहुंचीं. (Ashleigh barty instagram)

Australian Open 2022: वर्ल्ड नंबर-1 ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी ऑस्ट्रेलियन ओपन के महिला सिंगल्स के फाइनल में पहुंच गई हैं. 1980 में वेंडी टर्नबुल के बाद अपने घरेलू ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने वाली वह ऑस्ट्रेलिया की पहली महिला खिलाड़ी हैं. बार्टी फ्रेंच ओपन और विंबलडन का खिताब जीत चुकी हैं.

अधिक पढ़ें ...

    मेलबर्न. एश्ले बार्टी ने गैरवरीय मेडिसन कीज को हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली है. एश्ले बार्टी ने मेजबान देश के लंबे इंतजार को खत्म किया और अब उनकी नजरें एक और सूखे को खत्म करने पर टिकी हैं. बार्टी ने सेमीफाइनल में एकतरफा मुकाबले में मेडिसन कीज को 6-1, 6-3 से हराया. उन्होंने 51वीं रैंकिंग वाली अमेरिकी खिलाड़ी कीज को महज 62 मिनट में हराया. फाइनल में बार्टी का मुकाबला पोलैंड की इगा स्विएटेक और डेनिएल कॉलिन्स के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से होगा.

    एश्ले बार्टी 1980 में वेंडी टर्नबुल के बाद अपने घरेलू ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने वाली आस्ट्रेलिया की पहली महिला खिलाड़ी हैं. ऑस्ट्रेलिया का कोई खिलाड़ी 1978 में क्रिस ओ नील के बाद आस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब नहीं जीत पाया है. शीर्ष रैंकिंग वाली बार्टी ने सेमीफाइनल तक के अपने सफर के दौरान सिर्फ 17 गेम गंवाए और उन्होंने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए 2017 अमेरिकी ओपन उप विजेता कीज के खिलाफ दबदबा बनाया. बार्टी ने 2021 में विंबलडन जीता था. वहीं, 2020 में उन्होंने फ्रेंच ओपन का खिताब अपने नाम किया था. अब वो हार्ट कोर्ट पर खिताब जीतने से एक जीत दूर हैं.

    इसे भी देखें, सानिया मिर्जा को संन्यास के ऐलान का पछतावा, क्या बदलेगा निर्णय?

    25 साल की बार्टी ने सेमीफाइनल मुकाबला जीतने के बाद कहा, “ईमानदारी से कहूं, तो यह अविश्वसनीय है. मुझे खुशी है कि मुझे यहां अपना सर्वश्रेष्ठ टेनिस खेलने का मौका मिला. गेंद आज रात थोड़ी धीमी थी, स्ट्रिंग्स से भारी थी. मैंने बस दौड़ने और हालात से तालमेल बैठाने की जितनी कोशिश कर सकती थी, उतनी की. मैंने विपक्षी खिलाड़ी को सर्विस के दौरान दबाव में बनाए रखने का प्लान बनाया था, जिससे मैं काफी हद तक सफल रही.

    बार्टी ने दुनिया की 21वें नंबर की खिलाड़ी जेसिका पेगुला को 6-2, 6-0 से हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया था. मेडिसन कीज पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए दिखाई दी थीं. उन्होंने क्वार्टर फाइनल में फ्रेंच ओपन चैंपियन बारबोरा क्रेसिकोवा को 6-3, 6-2 से हराया था.

    AUS Open: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने जमाया रंग, 42 साल बाद डबल्स फाइनल खेलेगी मेजबान देश की जोड़ी

    वर्ल्ड नंबर-1 बार्टी ने पिछले कुछ हफ्तों से कोर्ट पर शानदार खेल दिखा रही हैं और अब 1978 के बाद से मेलबर्न मेजर जीतने वाली पहली ऑस्ट्रेलियाई बनने से सिर्फ एक जीत दूर हैं. ऑस्ट्रेलिया का कोई खिलाड़ी 1978 में क्रिस ओ नील के बाद ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब नहीं जीत पाया है.

    Tags: Ashleigh barty, Australian open, Australian Open Tennis Tournament, Sports news, Tennis

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर