होम /न्यूज /खेल /ओलंपिक से बॉक्सिंग के बाहर होने पर भारत को बड़ा नुकसान, दिग्गज ने IOC से क्यों कहा- ये अपराध करने जैसा?

ओलंपिक से बॉक्सिंग के बाहर होने पर भारत को बड़ा नुकसान, दिग्गज ने IOC से क्यों कहा- ये अपराध करने जैसा?

ओलंपिक खेल 2028 का आयोजन लॉस एंजिल्स में होगा (PIC: AFP)

ओलंपिक खेल 2028 का आयोजन लॉस एंजिल्स में होगा (PIC: AFP)

Olympics games 2028: अपनी पीढ़ी के सबसे सफल मुक्केबाजों में से एक जोंस ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) अध्यक्ष थॉमस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भारत में मुक्केबाजी सबसे लोकप्रिय ओलंपिक खेलों में से एक है
एमसी मैरीकॉम, विजेंदर सिंह और अमित पंघाल इस खेल को नयी ऊंचाईयां दे रहे हैं
ओलंपिक में मुक्केबाजी के नहीं होने से नया स्टार मिलने की उम्मीद कम हो जाएगी

नयी दिल्ली. अमेरिका के महान मुक्केबाज रॉय जोंस जूनियर को लगता है कि ओलंपिक से बॉक्सिंग के बाहर किये जाने से भारत जैसे देशों में इस खेल में ‘नये सितारे खोजने’ की उम्मीद कम हो जाएंगी, क्योंकि उभरते हुए मुक्केबाजों पास आगे बढ़ने के लिये कोई दिशा नहीं होगी. लाॅस एजिंल्स 2028 ओलंपिक के लिये शुरूआती खेलों की सूची में से बॉक्सिंग को बाहर रखा गया है, जो कई देशों के लिये बड़ा झटका है और यह फैसला कई संचालन संबंधित मुद्दों के कारण लिया गया है.

अपनी पीढ़ी के सबसे सफल मुक्केबाजों में से एक जोंस ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) अध्यक्ष थॉमस बाक और आईओसी कार्यकारी समिति को एक खुला पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने उनसे इस महीने के शुरू में मुक्केबाजी को बाहर किये जाने के संबंध में फैसले पर दोबारा विचार का अनुरोध किया है.

राय जोंस ने IOC को लिखे पत्र में कहा- ये करना अपराध
इस पत्र में 1988 ओलंपिक के रजत पदक विजेता ने कहा कि मुक्केबाजी को ओलंपिक से बाहर करना ‘एक अपराध करने’ की तरह ही होगा. जोंस ने पीटीआई को एक ईमेल साक्षात्कार में कहा, ‘‘इतने सारे बच्चे उम्मीद, फोकस और दिशा खो देंगे. जरा देखिये ओलंपिक से कितने मुक्केबाजी सुपरस्टार बने हैं.’’

VIDEO: वेस्टइंडीज के बल्लेबाज पॉवेल ने मारा ऐसा छक्का, सीधे स्टेडियम के बाहर गिरी गेंद, देखते रह गए हुसैन

विराट कोहली ने पाकिस्तानी एंकर को फिर से दिया इंटरव्यू, आगबबूला हुए फैंस; बोले- ये तो रणनीति…

मैरीकॉम, विजेंदर सिंह और अमित पंघाल ने इस खेल को दी हैं नई ऊंचाईयां
भारत में मुक्केबाजी सबसे लोकप्रिय ओलंपिक खेलों में से एक है और छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरीकॉम, बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह और अमित पंघाल ने देश में इस खेल को नयी ऊंचाईयों तक पहुंचाया है. उन्होंने कहा, ‘‘इससे मुक्केबाजों और देशों को नया मुक्केबाजी स्टार मिलने की उम्मीद मिलती है. ओलंपिक में मुक्केबाजी के नहीं होने से, यह उम्मीद कहां से आयेगी?’’

आईओसी द्वारा संचालन संबंधित मुद्दों पर अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ को लगातार चेतावनी जारी किये जाने से मुक्केबाजी के ओलंपिक में शामिल किये जाने की उम्मीद भी कम ही दिखती है.

Tags: 2028 America Olympics, 2028 Olympics, Boxing, IOC, IOC chief Olympics, Mc mary kom

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें