वर्ल्ड कप मैच में 'तू चल मैं आया' की तर्ज पर पूरी टीम बना सकी मात्र 45 रन, इंग्लिश गेंदबाजों ने किया था कमाल

कनाडा की टीम मात्र 45 रन पर ऑलआउट हो गई थी. (सांकेतिक फोटो)

On This Day : 14 जून का दिन क्रिकेट इतिहास में कनाडा के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं है. साल 1979 में खेले गए वर्ल्ड कप में कनाडा की पूरी टीम 45 रन पर ऑलआउट हो गई थी. तब इंग्लैंड की कमान माइक ब्रियरली संभाल रहे थे और ज्योफ बायकॉट और ग्राहम गूच जैसे दिग्गज टीम में शामिल थे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्रिकेट मैदान पर कई बार बल्लेबाज 'तू चल मैं आया' की तर्ज पर एक के बाद एक करते हुए आउट हो जाते हैं और टीम बहुत मामूली स्कोर पर ऑलआउट होती है. ऐसा ही हुआ था 14 जून के दिन, वो भी वर्ल्ड कप मैच में, जब कनाडा की टीम मात्र 45 रन पर पैवेलियन लौट गई थी. यह 1979 वर्ल्ड कप मैच के दौरान हुआ, जब इंग्लैंड के गेंदबाजों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए कनाडा को इतने मामूली स्कोर पर ऑलआउट कर दिया.

    14 जून का दिन क्रिकेट इतिहास में कनाडा के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं होगा. साल 1979 में खेले गए वर्ल्ड कप में कनाडा की पूरी टीम 45 रन पर ऑलआउट हो गई थी. तब इंग्लैंड की कमान माइक ब्रियरली संभाल रहे थे और ज्योफ बायकॉट और ग्राहम गूच जैसे दिग्गज टीम में शामिल थे.

    वर्ल्ड कप-1979 के 8वें मैच में इंग्लैंड और कनाडा आमने-सामने थे. तब वनडे मैच 60 ओवर का होता था. कनाडा के कप्तान ब्रायन मॉरिसेट ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. टीम के बल्लेबाज टिककर खेलने में नाकाम रहे और 'तू चल मैं आया' की तर्ज पर आउट होते रहे. आलम यह था कि आधी टीम मात्र 37 रन तक पैवेलियन लौट चुकी थी.

    इसे भी देखें, इंग्लैंड को मिली न्यूजीलैंड से करारी शिकस्त, पीटरसन ने बताई हार की वजह

    टीम के तीन बल्लेबाज तो खाता भी नहीं खोल सके. केवल एक बल्लेबाज फ्रैंकलिन डेनिस (21) ही दहाई के आंकड़े को छू सके और पूरी टीम 45 रन तक ऑलआउट हो गई. लंबे कद के पेसर क्रिस ओल्ड ने 8 रन देकर चार विकेट झटके. इंग्लैंड ने दो विकेट खोकर 13.5 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया. ओल्ड को मैन ऑफ द मैच मिला.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.