336 मैच में लिए 993 विकेट, फिर भी इंग्लैंड के लिए नहीं खेल सका एक भी मैच

अफसोस की बात है कि इंग्लैंड की काउंटी क्रिकेट में धूम मचाने वाले इस गेंदबाज को हमेशा गैरी सोबर्स द्वारा एक ओवर में छह छक्के जड़ने के लिए ही याद किया जाता रहा.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 3:18 PM IST
336 मैच में लिए 993 विकेट, फिर भी इंग्लैंड के लिए नहीं खेल सका एक भी मैच
मैल्कम नैश ने ग्लैमोर्गन को काउंटी चैंपियनशिप जिताने में अहम योगदान दिया था.
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 3:18 PM IST
काउंटी क्रिकेट में करीब 17 साल बिताने और शानदार प्रदर्शन के बावजूद इस खिलाड़ी को कभी इंग्लैंड के लिए खेलने का मौका नहीं मिला. बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज के बेहतरीन खेल का आलम यह था कि इसने 336 फर्स्ट क्लास मैच खेलकर 993 विकेट ले डाले, लेकिन अफसोस की बात यह है कि इस खिलाड़ी को हमेशा गैरी सोबर्स द्वारा एक ओवर में छह छक्के जड़ने के लिए ही याद किया जाता रहा. जी हां, हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के मैल्कम नैश की, जिन्होंने अपने जीवन के बेशकीमती साल काउंटी टीम ग्लैमोर्गन के लिए खेलते हुए बिताए.

मैल्कम नैश का 74 साल की उम्र में निधन हो गया. भले ही उन्हें राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने का मौका नहीं मिला, लेकिन घरेलू क्रिकेट में उन्होंने अपना जलवा खूब दिखाया. मैल्कम नैश ने 336 फर्स्ट क्लास मैचों में 7129 रन बनाए. उनका सर्वाधिक स्कोर 130 रन था. उन्होंने दो शतक और 25 अर्धशतक लगाए. नैश ने 148 कैच भी लपके. इन मुकाबलों में उन्होंने 993 विकेट लिए. वहीं, 271 लिस्ट-ए मैचों में उन्होंने 2303 रन बनाए, जबकि 324 विकेट अपने नाम किए.

घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद ये मैल्कम नैश के करियर की विडंबना ही रही कि उन्हें 25 की शानदार औसत से लिए गए 993 विकेटों के लिए नहीं, बल्कि 1968 में खेले गए उस मैच के लिए याद रखा जाता है जिसमें वेस्टइंडीज के महान क्रिकेटर गैरी सोबर्स ने उनके एक ओवर में छह छक्के जड़े थे. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 56 रन देकर नौ विकेट रहा.

garry sobers, malcolm nash, county, ecb, england cricket team, गैरी सोबर्स, मैल्कम नैश, काउंटी क्रिकेट, इंग्लैंड क्रिकेट टीम, स्टुअर्ट ब्रॉड, stuart broad

मैल्कम नैश भले ही इंग्लैंड के लिए एक भी मैच न खेल सके हों, लेकिन काउंटी क्रिकेट में उनका नाम बेहद सम्मान के साथ लिया जाता है. 1975 में हैंपशायर की इस पारी में दसवां बल्लेबाज रन आउट के तौर पर आउट हुआ था. इस मैच में उन्होंने कुल 14 विकेट लिए थे. इसके अलावा मैल्कम नैश ने 1968 में 15 रन देकर 7 विकेट लेते हुए समरसेट को 40 रन पर ढेर करने में अहम भूमिका निभाई थी.

एक ओवर में खुद भी जड़ चुके थे लगातार 4 छक्के
मैल्कम नैश को उनके ओवर में लगे छह छक्कों के लिए याद किया जाता है, लेकिन कम ही लोग ये बात जानते हैं कि उन्होंने खुद एक ओवर में लगातार चार छक्के जड़े थे. दरअसल, 1976 में सरे के खिलाफ 130 रन की अपनी पारी के दौरान उन्होंने ये कारनामा किया था. सरे के 338 रन के जवाब में ग्लैमोर्गन 65 रन पर 6 विकेट गंवाकर संकट में थी. तब बल्लेबाजी के लिए उतरे नैश ने महज 76 मिनट में शतक जड़ दिया था. उनके फर्स्ट क्लास करियर की दूसरी और आखिरी सेंचुरी 1978 में लीसेस्टरशायर के खिलाफ आई. तब टीम का स्कोर 7 विकेट पर 78 रन था. नैश ने 5 छक्कों की अपनी पारी में 124 रन बनाए.
Loading...

बहुत कम लोग जानते हैं कि एक ओवर में छह छक्के खाने वाले मैल्कम नैश खुद भी एक ओवर में लगातार 4 छक्के जड़ चुके हैं.


चैंपियनशिप जिताने में अहम योगदान
ग्लैमोर्गन ने 1969 में काउंटी चैंपियनशिप अपने नाम की तो मैल्कम नैश अपनी टीम के सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. उनहोंने 18.98 की औसत से 21 मैचों में 71 विकेट लिए थे, जबकि 22.89 की औसत से 435 रन भी बनाए.

एक ओवर में 6 छक्के खाने वाले इंग्लैंड के इस गेंदबाज का निधन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 3:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...