लाइव टीवी
Elec-widget

बड़ी खबर : मैच फिक्सिंग मामले में घिरा टीम इंडिया का ये खिलाड़ी, क्राइम ब्रांच करेगी पूछताछ

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 1:26 PM IST
बड़ी खबर : मैच फिक्सिंग मामले में घिरा टीम इंडिया का ये खिलाड़ी, क्राइम ब्रांच करेगी पूछताछ
कर्नाटक और तमिलनाडु प्रीमियर लीग में मैच फिक्सिंग की आंच अब अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंच गई है. (फाइल फोटो)

कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League) में मैच फिक्सिंग (Match Fixing) के आरोपों को लेकर चल रही जांच का दायरा अब काफी बढ़ गया है और वनडे व टेस्ट खेल चुका टीम इंडिया (Team India) का एक खिलाड़ी भी जांच के लपेटे में आ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 1:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnatak Premier League) के मैच फिक्सिंग (Match Fixing) कांड के लपेटे में अब टीम इंडिया (Team India) का एक खिलाड़ी भी आ गया है. क्राइम ब्रांच की टीम अब तक इस मामले में इस साल जुलाई के बाद से आठ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. इनमें लीग की टीम बेलगावी पैंथर्स के मालिक आसिफ अली थारा भी शामिल हैं. अब इस मामले की आंच एक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी तक पहुंच गई है. दरअसल, इस मामले में सेंट्रल क्राइम ब्रांच ने भारतीय क्रिकेटर अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) को पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया है. अभिमन्यु मिथुन कर्नाटक प्रीमियर लीग की टीम शिवमोगा लॉयंस के कप्तान थे.

फिलहाल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेल रहे हैं अभिमन्यु मिथुन
30 साल के अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) ने टीम इंडिया (Team India) के लिए साल 2010 में डेब्यू किया था. उन्होंने भारत के लिए चार टेस्ट और 5 वनडे मैच खेले हैं. वह पहले ऐसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं जिन्हें कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League) के मैच फिक्सिंग (Match Fixing) मामले में पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया गया है. अभिमन्यु मिथुन फिलहाल सूरत में हैं, जहां उनकी टीम को शुक्रवार 29 नवंबर को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) का सेमीफाइनल मुकाबला खेलना है. मिथुन पिछले साल शिवमोगा लॉयंस के कप्तान  थे और उनकी कप्तानी में टीम ने उस सीजन में एक भी मैच नहीं जीता था. इससे पहले वह मल्नाड ग्लेडिएटर्स और बीजापुर बुल्स का हिस्सा भी रह चुके हैं. पुलिस कमिश्नर संदीप पाटिल ने मिथुन को पूछताछ के लिए बुलाए जाने की पुष्टि की है.

kpl spot fixing, kpl spot fixing scandal, karnataka premier league, tnpl spot fixing, फिक्सिंग,स्पॉट फिक्सिंग, केपीएल, संयम गुलाटी, कर्नाटक प्रीमियर लीग, तमिलनाडु प्रीमियर लीग, अंशुमान उपाध्याय, अभिमन्यु मिथुन, abhimanyu mithun, टीम इंडिया, इंडियन क्रिकेट टीम, indian cricket team, team india
तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन ने हाल ही में विजय हजारे ट्रॉफी में हैट्रिक ली थी. (फाइल फोटो)


मिथुन से पूछे जाएंगे ये सवाल
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, संदीप पाटिल ने साथ ही कहा, 'हमने अभिमन्यु मिथुन से पूछताछ के लिए कुछ सवाल तैयार किए हैं. हम उनसे पिछले सीजन में उनके प्रदर्शन के बारे में पूछेंगे. हमने इस बारे में बीसीसीआई को भी जानकारी दे दी है. ऐसा करना इसलिए भी जरूरी था क्योंकि मिथुन एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं. ' इससे पहले आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए खेल चुके सीएम गौतम और कर्नाटक के उनके साथी अबरार काजी को केपीएल में फिक्सिंग के लिए बुकी से पैसे लेने के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

टीम इंडिया में ऐसे हुए शामिल
Loading...

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू करने के करीब ढाई महीने के भीतर ही अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) को चोटिल एस. श्रीसंत की जगह भारतीय क्रिकेट टीम में शमिल कर लिया गया. उन्होंने साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के तीसरे वनडे में डेब्यू किया. वहीं इसी साल जुलाई में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ गॉल में टेस्ट डेब्यू किया. अपने पहले टेस्ट में उन्होंने चार विकेट हासिल किए.

kpl spot fixing, kpl spot fixing scandal, karnataka premier league, tnpl spot fixing, फिक्सिंग,स्पॉट फिक्सिंग, केपीएल, संयम गुलाटी, कर्नाटक प्रीमियर लीग, तमिलनाडु प्रीमियर लीग, अंशुमान उपाध्याय, अभिमन्यु मिथुन, abhimanyu mithun, टीम इंडिया, इंडियन क्रिकेट टीम, indian cricket team, team india
भारतीय टीम के तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन केपीएल में शिवमोगा लॉयंस के कप्तान ‌थे. (फाइल फोटो)


अभिमन्यु का करियर प्रोफाइल
अभिमन्यु मिथुन ने टीम इंडिया के लिए 4 टेस्ट में 9 विकेट लिए हैं, जबकि 5 वनडे में उनके नाम 3 विकेट दर्ज हैं. जहां तक उनके फर्स्ट क्लास करियर की बात है तो उन्होंने 95 मैचों में 304 विकेट चटकाए हैं, जबकि 90 लिस्ट ए मैचों में मिथुन के नाम 123 विकेट दर्ज हैं. उन्होंने 60 टी-20 मुकाबलों में 55 विकेट लिए हैं. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके नाम 1739 रन भी हैं.

जेवलिन थ्रोअर से बने क्रिकेटर
कर्नाटक (Karnataka) के लिए विजय हजारे ट्रॉफी में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) का ये सफर उतना आसान नहीं है, जितना कि देखने में नजर आता है. बहुत ही कम लोग जानते हैं कि मिथुन शुरुआत में जेवलिन थ्रोअर थे. उन्होंने राज्य स्तर पर भी इस खेल में हाथ आजमाया है. वह अपने पिता के जिम में ट्रेनिंग किया करते थे, हालांकि इस खेल में वह आगे बढ़ने में सफल नहीं हो सके और उसके बाद अपने एक दोस्त के सुझाव पर उन्होंने क्रिकेट में हाथ आजमाने का फैसला किया.

kpl spot fixing, kpl spot fixing scandal, karnataka premier league, tnpl spot fixing, फिक्सिंग,स्पॉट फिक्सिंग, केपीएल, संयम गुलाटी, कर्नाटक प्रीमियर लीग, तमिलनाडु प्रीमियर लीग, अंशुमान उपाध्याय, अभिमन्यु मिथुन, abhimanyu mithun, टीम इंडिया, इंडियन क्रिकेट टीम, indian cricket team, team india
तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन शुरुआत में जेवलिन थ्रो में करियर बनाना चाहते थे. (फाइल फोटो)


17 साल की उम्र तक गेंद हाथ में लेकर तक नहीं देखी थी, पहले मैच में लिए 11 विकेट
शुरुआत में झुकाव जेवलिन थ्रो की ओर था इसलिए अभिमन्यु मिथुन (Abhimanyu Mithun) ने 17 साल की उम्र तक क्रिकेट की लेदर गेंद हाथ में लेकर भी नहीं देखी थी. मगर मिथुन ने अपना पहला ही फर्स्ट क्लास मैच खेलते हुए असाधारण प्रदर्शन कर डाला. उन्होंने पहली पारी में छह जबकि दूसरी पारी में हैट्रिक समेत पांच विकेट लिए. 2009-10 के रणजी सत्र में वह सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने. तब उन्होंने 47 विकेट लेकर कमाल कर दिया.

यह भी पढ़ें :-

फिक्सिंग मामले में बुकी ने किया खुलासा, कहा-BCCI अधिकारी के कहने पर कर रहे थे काम
भारत के खिलाफ वनडे और टी-20 सीरीज के लिए वेस्टइंडीज टीम का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 12:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...