दो साल बाद टेस्ट शतक लगाकर भावुक हो गए थे अजिंक्‍य रहाणे, बोले- मुझ पर दबाव था

भाषा
Updated: August 30, 2019, 4:42 PM IST
दो साल बाद टेस्ट शतक लगाकर भावुक हो गए थे अजिंक्‍य रहाणे, बोले- मुझ पर दबाव था
अजिंक्‍य रहाणे.

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ पहले टेस्ट में 81 और 102 रन की मैच विजयी पारियां खेलीं जिससे भारत (India) ने एंटीगा (Antigua Test) में 381 रन के बड़े अंतर से जीत हासिल की.

  • Share this:
भारतीय उप कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने वेस्‍टइंडीज (West Indies) के खिलाफ एंटीगा टेस्‍ट (Antigua Test) में शतक लगाया था. उन्‍होंने दो साल बाद अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाया था. इस बारे में उन्‍होंने कहा कि दो साल के सूखे के बाद 10वां टेस्ट शतक जड़ना विशेष था और वह एंटीगा में ऐसा करने के बाद थोड़े भावुक हो गए थे. रहाणे ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में 81 और 102 रन की मैच विजयी पारियां खेलीं जिससे भारत ने एंटीगा में 381 रन के बड़े अंतर से जीत हासिल की.

टेस्‍ट सीरीज से पहले उठ रहे थे रहाणे पर सवाल
रहाणे ने पत्रकारों से कहा, ‘मुझे लगता है कि 10वां शतक सचमुच काफी विशेष था. मैं किसी विशेष जश्न के बारे में नहीं सोच रहा था, यह अपने आप हुआ. मैं थोड़ा भावुक हो गया था.’ टेस्ट सीरीज से पहले रहाणे की फॉर्म पर काफी बहस चल रही थी लेकिन भारतीय टेस्ट टीम के उप कप्तान ने अपने आलोचकों को चुप करा दिया.

ajinkya rahane, india tour of west indies, ajinkya rahane fifty, team india, india vs west indies, अजिंक्‍य रहाणे, रहाणे फिफ्टी, टीम इंडिया
अजिंक्‍य रहाणे टेस्‍ट क्रिकेट में 2 साल से शतक नहीं लगा पाए थे.


10वां शतक काफी अहम था
उन्होंने कहा, ‘यह 10वां शतक जड़ने में मुझे दो साल लगे. जैसा कि मैंने कहा कि प्रक्रिया हमेशा ही मेरे लिए काफी मायने रखती है. हर सीरीज से पहले तैयारी काफी अहम होती है. वास्तव में मैं पूरे दो वर्षों से ऐसा कर रहा था इसलिए यह 10वां शतक सचमुच काफी अहम था.’ भारत ने पहली पारी में 25 रन तक तीन विकेट गंवा दिए थे तब रहाणे बल्लेबाजी करने उतरे और इस बल्लेबाज ने इसे टीम के लिए विशेष करने के मौके के रूप में देखा.

वेस्‍टइंडीज ने की थी अच्‍छी गेंदबाजी 
Loading...

रहाणे ने कहा, ‘हम दबाव में थे. मुझे लगा कि वेस्टइंडीज ने पूरे दिन सचमुच काफी अच्छी गेंदबाजी की थी. यह अपनी टीम के लिए कुछ विशेष करने का मौका था. मुझे लगता है कि परिस्थितियों के कारण मैं अपने बारे में नहीं सोच रहा था क्योंकि तब साझेदारी करना काफी अहम था और एक खिलाड़ी को बल्लेबाजी करनी थी और हम यह जानते थे. मैंने सोचा कि यह मेरे लिए भी कुछ विशेष होगा क्योंकि हम जानते थे कि हम उस समय मुश्किल स्थिति में थे. खुश हूं कि हमने उस स्थिति से वापसी करते हुए सचमुच काफी अच्छा किया.’

यह भी पढ़ें-

सहवाग का बड़ा खुलासा, कहा-मेरे और धोनी के बीच भी लड़ाई...
भावुक होकर लिया था संन्यास, मुझमें काफी क्रिकेट बाकी: रायडू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 4:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...