कारपेंटर के बेटे ने विराट-रोहित को आउट कर मचाई सनसनी, बल्लेबाजों के लिए बना 'खौफ'

कारपेंटर के बेटे ने विराट-रोहित को आउट कर मचाई सनसनी, बल्लेबाजों के लिए बना 'खौफ'
कारपेंटर के बेटे ने दिग्गजों को कर दिया था परेशान!

एक ऐसा क्रिकेटर (Cricket) जिसने गरीबी से जंग लड़ते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट में जगह बनाई और उसके बाद दुनिया के बड़े-बड़े बल्लेबाज हैरान रह गए.

  • Share this:
नई दिल्ली. एक क्रिकेटर की जिंदगी किसी तपस्या से कम नहीं होती. वो बचपन से ही मैदान पर कड़ी मेहनत शुरू कर देता है और लाखों लोगों को पीछे छोड़ता हुआ इंटरनेशनल टीम में जगह बनाता है. इसके बाद टीम में जगह मिलने के बाद उसे खुद को साबित करना होता है. ये तपस्या तब और कठिन हो जाती है जब आप क्रिकेट के मैदान के अलावा गरीबी से भी जंग लड़ रहे हों. ऐसी ही कहानी है श्रीलंका के मिस्ट्री स्पिनर अखिला धनंजय (Akila Dananjaya) की, जिनका इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करना ही एक चमत्कार है.

अखिला धनंजय की कहानी
अखिला धनंजय (Akila Dananjaya) की कहानी किसी परीकथा से कम नहीं है. कौन सा ऐसा युवा खिलाड़ी होता है, जिसने ना कोई फर्स्ट क्लास मैच खेला हो, ना ही कोई लिस्ट ए मैच में हिस्सा लिया हो. साथ ही कोई अंडर 19 क्रिकेट भी ना खेला हो और वो सीधे वर्ल्ड कप टीम में शामिल हो जाए? कुछ ऐसा ही हुआ था मिस्ट्री स्पिनर अखिला धनंजय के साथ, जिन्हें श्रीलंका के कप्तान महेला जयवर्धने ने 2012 टी20 वर्ल्ड कप के लिए चुन लिया था.

गरीबी में बीता अखिला का बचपन
अखिला धनंजय (Akila Dananjaya) एक गरीब घर से ताल्लुक रखते थे. उनके पिता सुनील परेरा एक कारपेंटर थे. बड़ी मुश्किल से उनका घर चलता था. हालांकि अखिला को क्रिकेट का बड़ा शौक था. अखिला के पास गेंद खरीदने तक के पैसे नहीं थे और वो ग्राउंड में खराब होने वाली पुरानी गेंदों को जमा कर उनसे प्रैक्टिस करते थे. अखिला धनंजय एक छोटे से स्कूल महानामा विद्यालय में पड़ते थे. अखिला कोलंबो के तट पर पानान्डुरा में ही प्रैक्टिस करते थे.





रातों-रात बदली किस्मत
अखिला पाकिस्तान के स्पिन गेंदबाज सईद अजमल को बड़ा पसंद करते थे और उन्हीं की तरह वो गेंदबाजी करने की कोशिश करते थे. अखिला ने सईद अजमल को देख लेग स्पिन, गुगली, दूसरा, कैरम बॉल, ऑफ स्पिन सीख ली, वो भी सटीक लाइन लेंथ के साथ. कौन कहता है कि रातों रात आपकी किस्मत नहीं बदलती? अखिला धनंजय के साथ जो हुआ उसे जानकर आपको इसपर यकीन हो जाएगा. साल 2012 में अखिला धनंजय की किस्मत ही बदल गई. कोलंबो में श्रीलंकाई टीम प्रैक्टिस कर रही थी और नेट्स पर अखिला धनंजय भी थे.

जयवर्धने को किया परेशान
अखिला धनंजय (Akila Dananjaya) ने श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने को गेंदबाजी की और उसके बाद जो हुआ वो हैरान करने वाला था. धनंजय ने अपने तरकश के हर तीर को जयवर्धने की ओर फेंका. जयवर्धने धनंजय को ठीक से नहीं खेल पाए. उन्हें इस छोटे से कद के स्पिनर को खेलने में काफी दिक्कत हुई. हो भी क्यों ना, धनंजय की गेंदबाजी में थी ही इतनी विविधता. धनंजय की गेंदें खेलने के बाद महेला जयवर्धने ने फैसला कर लिया कि इस गेंदबाज को सीधे टी20 वर्ल्ड कप में उतारा जाएगा. जयवर्धने के इस फैसले का विरोध हुआ लेकिन धनंजय ने खुद को साबित किया.
यह भी पढ़ें: 

सानिया मिर्जा के साथ शादी करने के फैसले पर बोले शोएब मलिक, कहा- एक राजनेता...

हरभजन सिंह को परिवार के साथ योग करते रोहित ने किया ट्रोल, कहा - पाजी सांस...

टी20 वर्ल्ड कप 2012 में अपने डेब्यू मैच में धनंजय ने श्रीलंका की ओर से सबसे अच्छी गेंदबाजी की और उन्होंने 4 ओवर में 32 रन देकर 2 विकेट लिये. धनंजय ने श्रीलंका के लिए कई मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन किया. उन्होंने भारत और साउथ अफ्रीका जैसी मजबूत टीमों के खिलाफ वनडे में 6-6 विकेट चटकाने का कारनामा भी किया. साल 2017 में भारत के खिलाफ उन्होंने विराट कोहली-रोहित शर्मा और केएल राहुल जैसे बल्लेबाजों को आउट किया. साउथ अफ्रीका के खिलाफ तो उन्होंने 29 रन देकर 6 विकेट चटकाए, जो कि उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. धनंजय ने 6 टेस्ट मैच में 33 विकेट लिये हैं. वनडे में उन्होंने 36 मैचों में 51 विकेट झटके हैं और टी20 में वो 22 मैचों में 22 विकेट चटका चुके हैं. साफ है एक कारपेंटर के बेटे ने इतना कुछ हासिल किया है, जो सच में बड़ी बात है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading