अब दो हजार रुपए में मिलेगा विराट, सचिन जैसा हाई क्वालिटी बल्ला!

इस बल्ले से विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर के बल्ले जैसी ह‌ी क्वालिटी है, जिसे कनाडा के साइंटिस्ट ने तैयार किया है

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 12:41 PM IST
अब दो हजार रुपए में मिलेगा विराट, सचिन जैसा हाई क्वालिटी बल्ला!
एल्गोबैट क्वालिटी के मामले में दिग्‍ग्जों के महंगे बल्ले की ही तरह है
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 12:41 PM IST
दुनिया के ज्यादातर दिग्गज पेशेवर क्रिकेट कम उम्र से ही मैदान पर उतर गए थे और सालों की कड़ी मेहनत के बाद दुनिया में अपनी चमक बिखेर पाए. हर दूसरा व्यक्ति खुद  को सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली आदि में देखने लगता है और उनके जैसे ही बनना भी चाहता है, लेकिन इस सपने को पूरा करने पर समस्या तब खड़ी हो जाती है, जब खेल का सबसे मुख्य हथियार भी उनकी जेब से बाहर का हो.

कई बार इसी कारण दुनिया के सामने कई छुपे हुए बेहतरीन बल्लेबाज नहीं  आ पाते हैं. लेकिन वैज्ञानिकों ने इसका भी ताेड़ निकाल लिया है. महंगा होने के कारण जो युवा खिलाड़ी अच्छा बल्ला नहीं खरीद पाते हैं, वैज्ञानिक ने उनके लिए एल्गोबैट तैयार किया है, जिसमें खूबी तो लाखों की कीमत वाले बल्ले जैसे होगी, लेकिन उसकी कीमत उनके बजट से भी कम होगी.

कम कीमत में बेहतर क्वालिटी का बल्ला

कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया यूनिवर्सिटी के साइंटिस्ट ने एक ऐसा एल्गोरिदम तैयार किया गया है, जिसकी मदद से बल्ले के आकार और प्रकार को विकसित किया गया गया. इससे खिलाड़ियों को आसानी से गेंद को हिट करने में मदद मिलेगी. इस वजह से इस एग्लोबैट की कीमत काफी कम है.

इस परियोजना के प्रमुख प्रोफेसर फिल इवांस के अनुसार दुनिया में करीब दस लाख लोग क्रिकेट खेलते हैं और अरबों की संख्या में लोग इसे देखते हैं. फुटबॉल के बाद इस खेल को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है. इवांस ने अनुसार अधिकतर बच्चे शुरुआती समय में इतने महंगे बल्ले को नहीं खरीद सकते और एक अच्छा बल्लेबाज बनने के लिए आपके पास एक बेहतरीन क्वालिटी का बल्ला भी होना चाहिए. ऐसे में बच्‍चे अपने सपनों को दबाए नहीं, इसीलिए एल्गोबैट को तैयार किया गया.

 

हजारों डॉलर में होती है कीमत
Loading...

जो बल्ले विलो की लकड़ी से बनते हैं, उनकी कीमत हजारों डॉलर से भी अधिक होती है, लेकिन अब उसी गुणवत्ता वाला सिर्फ दो से तीन हजार रुपए की कीमत में बच्चों के पास हो सकेगा.  एल्‍गोरिदम लिखने वाले सदेग मजलूमी ने‌ कि बैट की कंप्यूटर मॉडलिंग और ऑप्टीमाईजेशन एल्गाेरिदम का प्रयोग किया गया. हालांकि इस तरह के बल्ले को अभी बाजार में आने में समय लगेगा.

 

विराट जाएंगे वेस्टइंडीज़ दौरे पर, लेकिन इन तीन नामों पर सस्पेंस

सिर में चोट लगने पर मैदान पर उतर सकेगा दूसरा खिलाड़ी, एशेज से होगी शुरुआत!
First published: July 18, 2019, 12:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...