संन्यास नहीं लेना चाहते थे अंबाती रायडू, लेकिन इन लोगों की वजह से छोड़ा क्रिकेट!

भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर ने रायडू के संन्यास के लिए टीम इंडिया के सेलक्टर्स को जिम्मेदार ठहराया है.

  • Share this:
एक ओर जहां आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया शानदार प्रदर्शन कर रही है, वहीं दूसरी ओर कभी उसके स्टार बल्लेबाज और नंबर 4 के सबसे बड़े दावेदार रहे अंबाती रायडू ने संन्यास का ऐलान कर दिया. रायडू के अचानक संन्यास के बाद भारत की दो वर्ल्ड कप जीत में अहम भूमिका निभाने वाले गौतम गंभीर भड़क गए और उन्होंने टीम इंडिया के सेलेक्टर्स को इसका जिम्मेदार ठहराया. गौतम गंभीर के मुताबिक अंबाती रायडू अभी संन्यास नहीं लेते अगर उन्हें सेलेक्टर्स आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में मौका देते.

गौतम गंभीर ने कहा, 'अंबाती रायडू ने सेलेक्टर्स की वजह से संन्यास लिया है. सेलेक्टर्स के फैसलों ने निराश किया है और इसी वजह से रायडू ने क्रिकेट को अलविदा कहा.' गौतम गंभीर ने कहा, 'टीम इंडिया के पांचों सेलेक्टर्स ने उतने रन मिलकर नहीं बनाए जितने अकेले रायडू ने बनाए हैं. रिषभ पंत और मयंक अग्रवाल को धवन और विजय शंकर की चोट के बाद वर्ल्ड कप स्क्वॉड में मौका मिला, कोई भी खिलाड़ी अगर रायडू की जगह होता तो उसे जरूर बुरा लगता. रायडू का इस तरह संन्यास लेना भारतीय क्रिकेट के लिए निराशाजनक है.'

अंबाती रायडू और गौतम गंभीर
अंबाती रायडू और गौतम गंभीर




आपको बता दें जब टीम इंडिया की वर्ल्ड कप टीम का सेलेक्शन हुआ था तो गौतम गंभीर ने रायडू को टीम में ना चुने जाने पर निराशा जताई थी. गंभीर के मुताबिक, रायडू क टीम में जगह नहीं बना पाना सबसे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण था. गंभीर का मानना था कि रायडू को उनकी महज तीन असफलताओं के बाद बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, जो गलत है. उन्होंने रायडू का पक्ष लेते हुए कहा, ‘यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि सफेद गेंद के क्रिकेट में 48 के औसत वाले खिलाड़ी को जो केवल 33 वर्ष का है, उसे टीम में जगह नहीं दी गयी. चयन में किसी अन्य फैसले से ज्यादा दुखद मेरे लिये यही है.’
इस एक गलती ने कर दिया रायडू का करियर तबाह, वरना आज विराट से भी बड़े होते
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज