डेब्यू मैच में दोहरा शतक लगाने वाला बल्लेबाज बना मुंबई का कोच, 11 हजार से अधिक रन बनाए

अमोल मजूमदार ने फर्स्ट क्लास में 30 शतक लगाए. (Amol muzumdar Twitter)

अमोल मजूमदार ने फर्स्ट क्लास में 30 शतक लगाए. (Amol muzumdar Twitter)

पूर्व क्रिकेटर अमोल मजूमदार (Amol muzumdar) को बड़ी जिम्मेदारी मिली है. मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने पूर्व क्रिकेटर अमोल मजूमदार को मुंबई टीम का कोच बनाया है. उन्हें एक साल के लिए नियुक्त किया गया है. पिछले सीजन में टीम को दो कोच मिले थे.

  • Share this:

नई दिल्ली. मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने पूर्व क्रिकेटर अमोल मजूमदार को मुंबई टीम का कोच बनाया है. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 11 हजार से अधिक रन और इंटरनेशनल टीम के साथ काम करने के अनुभव के बीच मजूमदार को यह जिम्मेदारी दी गई है. नए कोच को 50 लाख रुपए तक का सालाना अनुबंध मिल सकता है. पूर्व इंटरनेशनल क्रिकेटर वसीम जाफर भी कोच बनने की रेस में थे.

पूर्व इंटरनेशनल क्रिकेटर विनोद कांबली, नीलेश कुलकर्णी और जतिन परांजपे की क्रिकेट सुधार समिति (सीआईसी) ने कोच का इंटरव्यू लिया था. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर और अनुभवी कोच बलविंदर सिंह संधू, पूर्व भारतीय स्पिनर साईराज बहुतुले, मुंबई के पूर्व कोच सुलक्षण कुलकर्णी ने भी कोच के लिए आवेदन किया था. अमोल मजूमदार को 2021-22 के लिए कोच बनाया गया है.

पिछले सीजन में दो टूर्नामेंट में दो कोच उतरे

मुंबई के पूर्व कप्तान मजूमदार की अगुआई में टीम ने रणजी खिताब जीता था और वह राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए), आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स, नीदरलैंड टीम और दक्षिण अफ्रीकी टीम के बल्लेबाजी कोच रहे हैं. वह कमेंटेटर भी हैं. मुंबई ने पिछले सत्र में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए अमित पगनिस को कोच नियुक्त किया था, लेकिन टीम के खराब प्रदर्शन के बाद उन्होंने पद छोड़ दिया. एमसीए ने इसके बाद विजय हजारे ट्रॉफी के लिए पूर्व भारतीय ऑफ स्पिनर रमेश पवार को मुख्य कोच बनाया, जिसमें टीम चैंपियन बनी.
20 साल से अधिक समय तक डेब्यू मैच का रिकॉर्ड कायम रहा

अमोल मजूदार ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट की शुरुआत मुंबई की ओर से की. 1993-94 में अपने डेब्यू मैच में ही मजूमदार ने 260 रन की बड़ी पारी खेली थी. यह रिकॉर्ड 2018 तक बना रहा. उन्होंने 171 मैच में 48 की औसत से 11167 रन बनाए. डेब्यू मैच में 260 रन की पारी उनके करियर की सबसे बड़ी पारी. 30 शतक और 60 अर्धशतक लगाए. हालांकि उन्हें कभी भी भारतीय टीम में मौका नहीं मिला. मुंबई के अलावा अमोल मजूमदार असम और आंध्र प्रदेश की ओर से भी खेले.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज