लाइव टीवी

IPL को लेकर हुए विवाद ने 'खत्‍म' कर दिया था पीटरसन का करियर, अब एंड्रयू स्‍ट्रॉस ने मानी गलती

भाषा
Updated: April 5, 2020, 1:25 PM IST
IPL को लेकर हुए विवाद ने 'खत्‍म' कर दिया था पीटरसन का करियर, अब एंड्रयू स्‍ट्रॉस ने मानी गलती
केविन पीटरसन ने 2014 में ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था (फाइल फोटो)

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की आईपीएल नीति को लेकर एंड्रयू स्ट्रॉस ( Andrew Strauss) और केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) में काफी विवाद हुआ था.

  • Share this:


लंदन. एक समय के आक्रामक बल्‍लेबाज केविन पीटरसन (Kevin Pietersen)  ने अपनी आत्मकथा में टीम से बाहर किए जाने का जिक्र करते हुए एंड्रयू स्‍ट्रॉस ( Andrew Strauss)  की आलोचना की थी. पीटरसन के अनुसार स्ट्रॉस ने उनका समर्थन नहीं किया था. टीम से बाहर होने के बाद पीटरसन के करियर को झटका लगा था और 2014 में ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. मगर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने स्वीकार किया कि उन्होंने पीटरसन के मुद्दों को ठीक तरह से नहीं सुलझाया था और इस आक्रामक बल्लेबाज को अनुशासन का पूरी तरह से पालन नहीं करने के बाद भी मौका मिलना चाहिए था.

स्ट्रॉस ने हालांकि कहा कि वह इस बात को अच्छी तरह समझते है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिलाड़ियों के लिए क्यों जरूरी है, लेकिन अगर वे टेस्ट क्रिकेट की जगह आईपीएल को प्राथमिकता देंगे तो इससे गलत उदाहरण पेश होगा.



आईपीएल को लेकर हुआ था विवाद



इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की आईपीएल (IPL) नीति को लेकर स्ट्रॉस और पीटरसन में काफी विवाद हुआ था. स्ट्रॉस ने स्काई स्पोर्ट्स से कहा कि आईपीएल को लेकर पीटरसन के साथ उनकी हमेशा सहानुभूति रही है. उन्होंने कहा कि उन्‍हें समझ में आ गया था कि आईपीएल में दुनिया भर के बड़े खिलाड़ी एक साथ खेलते है और वहां खिलाड़ियों को बड़ी रकम दी जाती है.

पीटरसन ने कार्यक्रम की वकालत तक की 

खास बात यह है कि जब स्ट्रॉस ईसीबी के क्रिकेट के निदेशक बने थे तो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए आईपीएल में भाग लेने के लिए एक खास कार्यक्रम तैयार किया था, जिसकी पीटरसन ने सबसे लंबे समय तक वकालत की थी. उन्होंने कहा कि उन्‍हें काफी लंबे समय तक लगता था कि आईपीएल के लिए विंडो की जरूरत है. उन्‍होंने ईसीबी से कहा था कि एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकते, क्योंकि यह टीम के लिए बड़ी समस्या बन जाता. पूर्व कप्तान ने कहा कि इसके साथ ही उन्‍हें यह भी लगा कि टेस्ट क्रिकेट को छोड़ कर खिलाड़ी को आईपीएल में खेलने की छूट देना काफी खतरनाक है. इससे आप युवा खिलाड़ियों को यह सीख दे रहे कि आईपीएल (IPL) टेस्ट क्रिकेट से ज्यादा जरूरी है. स्‍ट्रॉस ने कहा कि उन्होंने पीटरसन को कई बार समझाया था कि टेस्ट क्रिकेट ज्यादा जरूरी है. पीटरसन ने अपनी आत्मकथा में 2014-15 में टीम से बाहर किए जाने का जिक्र करते हुए इसके लिए मैट प्रायर और स्टुअर्ट ब्रॉड पर भी निशाना साधा था.

परिवार से मिलने 7 समंदर पार पहुंचे शाकिब,'परीक्षा' पास करने के बाद हुई मुलाकात

युवराज सिंह का बड़ा बयान, डेब्‍यू के समय 'आलसी' नजर आते थे रोहित शर्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 1:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading