• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • जिस गेंदबाज से कांपता था पाकिस्तान, उसने विराट कोहली की वजह से 'छोड़ी' टीम इंडिया!

जिस गेंदबाज से कांपता था पाकिस्तान, उसने विराट कोहली की वजह से 'छोड़ी' टीम इंडिया!


 साल के आखिर में भारत को ऑस्‍ट्रेलिया का दौरा करना है.

साल के आखिर में भारत को ऑस्‍ट्रेलिया का दौरा करना है.

पाकिस्तान के स्पिनर सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने खुलासा किया कि उनकी टीम सचिन, सहवाग नहीं बल्कि अनिल कुंबले से बहुत डरती थी

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले क्रिकेट मुकाबले अकसर खेल से ज्यादा ही लगते हैं. ऐसा लगता है कि जैसे 70 गज के अंदर एक युद्ध चल रहा हो और उसका मजा करोड़ों लोग ले रहे हों. पाकिस्तान के खिलाफ सहवाग, सचिन, विराट कोहली जैसे दिग्गज बल्लेबाजों ने हमेशा शानदार प्रदर्शन किया है लेकिन पाकिस्तान की टीम इन खिलाड़ियों से नहीं बल्कि किसी और खिलाड़ी से डर लगता था. उस भारतीय खिलाड़ी के खिलाफ अकसर ड्रेसिंग रूम में या टीम मीटिंग में चर्चा होती थी. हम बात कर रहे हैं पूर्व कप्तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) की जिनसे पाकिस्तान कांपता था. खुद पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक ने इसका खुलासा किया है.

    'कुंबले थे पाकिस्तान के लिए बड़ा खतरा'
    पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर अनिल कुंबले को एक लड़ाका बताया. उन्होंने कहा, 'पाकिस्तान की टीम को अगर किसी खिलाड़ी से सबसे ज्यादा डर लगता था तो वो अनिल कुंबले (Anil Kumble) थे. पाकिस्तान के बल्लेबाज उन्हें लेकर हमेशा डरे रहते थे और एक ही चर्चा करते थे, कि अगर इनके खिलाफ अच्छे से खेल लिया, तो समझ लो हमने परीक्षा पास कर ली.'



    धीमी पिच पर कुंबले और खतरनाक होते थे
    सकलैन (Saqlain Mushtaq) ने बताया कि अनिल कुंबले  (Anil Kumble) धीमी विकेट पर शेन वॉर्नर और मुरलीधरन से भी ज्यादा खतरनाक गेंदबाज थे. उन्होंने कहा, 'स्पिनरों को पिच से तेजी और उछाल चाहिए होती है लेकिन अनिल कुंबले की खास बात ये थी कि वो धीमी और कम उछाल वाली पिच पर बहुत खतरनाक साबित होते थे. शेन वॉर्नर और मुरलीधरन जैसे गेंदबाज भी लो बाउंस पिच पर कुंबले जैसी गेंदबाजी नहीं कर पाते थे.'

    सकलैन ने आगे कहा, ' अनिल कुंबले  (Anil Kumble) ने हमारे खिलाफ एक पारी में 10 विकेट धीमी और कम उछाल वाली पिच पर ही लिए थे. मैंने भी उस मैच में दोनों पारियों में 5-5 विकेट झटके थे और मुझे काफी दम लगाना पड़ा था. अनिल कुंबले गेंद को ज्यादा टर्न नहीं कराते थे लेकिन वो अपने एक स्पेल से पूरा मैच जरूर टर्न कर देते थे. कुंबले एक आक्रामक गेंदबाज थे, वो कहने को स्पिनर थे लेकिन उनकी सोच एक तेज गेंदबाज जैसी थी.'

    बहुत ही समझदार इंसान हैं कुंबले
    सकलैन मुश्ताक ने अनिल कुंबले (Anil Kumble) की तारीफ करते हुए कहा कि वो एक अच्छे क्रिकेटर के साथ-साथ बहुत अच्छे इंसान भी हैं. सकलैन ने कहा, 'वो बेहद ही अक्लमंद इंसान हैं. उन्हें पता है कि क्रिकेट एक खेल है और इंसानियत भी कोई चीज है. मेरी आंखें थोड़ा कमजोर हो गई थी तो मैंने कुंबले से सलाह ली. कुंबले ने मुझे लंदन में उस डॉक्टर का पता बताया जिससे वो खुद और गांगुली अपनी आंखों का इलाज कराते थे. मैं कुंबले की सलाह पर लंदन में डॉक्टर भरत के पास गया और मुझे काफी फायदा पहुंचा. मुझे गेंद सही नजर आने लगी और मैंने शतक भी लगाया.'

    सकलैन ने आगे कहा कि अनिल कुंबले (Anil Kumble) की सबसे बड़ी खूबी थी कि वो टीम के लिए खेलते थे, उन्होंने कभी खुद की परवाह नहीं की. अनिल कुंबले ने चोट के बावजूद भी टीम के लिए गेंदबाजी की है. बता दें अनिल कुंबले ने भारत के लिए 132 टेस्ट मैचों में 619 विकेट झटके, इसके अलावा उन्होंने 271 वनडे मैचों में 337 विकेट भी लिए. कुंबले ने 42 आईपीएल मैचों में 45 विकेट झटके उनका इकॉनमी रेट 7 रन प्रति ओवर से भी कम रहा. अनिल कुंबले ने साल 2017 में टीम इंडिया की कोचिंग संभाली लेकिन एक साल बाद ही उन्होंने टीम से अलग होने का फैसला किया और उन्होंने अपना करार नहीं बढ़ाया. उनके और कप्तान विराट कोहली के बीच तालमेल ना बैठने की खबरें सामने आई और उसके बाद रवि शास्त्री टीम इंडिया के हेड कोच बने.

    सरकारी नौकरी का लेटर फाड़ क्रिकेट खेलने गया ये भारतीय खिलाड़ी और बदल गई जिंदगी

    कराटे की ट्रेनिंग कर रहा है टीम इंडिया का ये सुपरस्टार,मिल चुकी है ब्लैक बेल्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज