आर्टिकल 370 हटने के बाद से 'गायब' जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मिले

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 11:02 PM IST
आर्टिकल 370 हटने के बाद से 'गायब' जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मिले
जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम के गायब खिलाड़ी मिले

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से टीम के कई क्रिकेटर्स (Jammu- Kashmir Cricket Team) से संपर्क टूट गया था जो अब एकजुट हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 11:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लग गई थी और सुरक्षा के लिहाज से काफी समय तक मोबाइल और इंटरनेट सेवा भी बंद रखी गई जिसकी वजह से घाटी के कई क्रिकेटरों से संपर्क टूट गया. हालांकि अब जम्मू-कश्मीर के सभी खिलाड़ी  (Jammu- Kashmir Cricket Team) एकजुट हो गए हैं और ये सब टीवी विज्ञापनों की वजह से मुमकिन हो पाया. जम्मू-कश्मीर के सभी खिलाड़ी गुरुवार से बड़ौदा में ट्रेनिंग शुरू करेंगे.

JKCA ने दिया था विज्ञापन
बता दें जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ (जेकेसीए) ने संपर्क से बाहर हुए घाटी के अपने खिलाड़ियों से संपर्क करने के लिए पिछले हफ्ते स्थानीय टीवी चैनलों पर विज्ञापन दिए थे. राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को रद्द करने के बाद कश्मीर घाटी में संचार सुविधाओं को सीमित किया गया है. टीम के खिलाड़ी और मेंटॉर इरफान पठान (Irfan Pathan) ने बताया कि टीम मोती बाग ग्राउंड पर ट्रेनिंग करेगी जो बड़ौदा के राजसी गायकवाड़ परिवार का है.

इरफान पठान जम्मू-कश्मीर के मेंटॉर हैं


पठान ने पीटीआई से कहा, 'सभी खिलाड़ी जम्मू में एक साथ आ गए हैं और एक दिन बाद बड़ौदा पहुंचेंगे. टीवी पर विज्ञापन देने की योजना ने निश्चित तौर पर काम किया. कश्मीर के सभी खिलाड़ियों ने विज्ञापन देखा और जम्मू में जेकेसीए के कार्यालय में पहुंचे.' टीम के पास 24 सितंबर से शुरू हो रही विजय हजारे ट्रॉफी के लिए तैयार होने की कड़ी चुनौती है.

भारत की ओर से 29 टेस्ट और 120 वनडे मैच खेलने वाले पठान ने कहा, 'यह बड़ी चुनौती है लेकिन हमें हमारे पास जो भी समय है उसका सर्वश्रेष्ठ इस्तेमाल करना होगा. हमें जितना अधिक संभव हो उतने अभ्यास मैच खेलने होंगे और टीम की एकजुटता से जुड़ी गतिविधियों में हिस्सा लेना होगा. खिलाड़ियों की फिटनेस पर काम करने का समय नहीं है.'

परवेज रसूल से भी टूटा हुआ था संपर्क

Loading...

जम्मू-कश्मीर टीम को हुआ नुकसान
बता दें घाटी में मोबाइल, टेलीफोन सुविधा होने के बाद कई खिलाड़ियों से संपर्क टूट गया था जिसकी वजह से टीम को नुकसान पहुंचा. जम्मू-कश्मीर की टीम आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम की विजी ट्रॉफी में हिस्सा लेना था और इससे पहले उसे कई प्रैक्टिस मैच भी खेलने थे.

पाकिस्तान के हेड कोच बनेंगे मिस्बाह उल हक, ये दिग्गज होगा गेंदबाजी कोच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 10:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...