बाउंसर से अपने खिलाड़ी को घायल देख फैंस का फूटा था गुस्सा, लाइव मैच में गेंदबाज को बनाया था निशाना

बाउंसर से अपने खिलाड़ी को घायल देख फैंस का फूटा था गुस्सा, लाइव मैच में गेंदबाज को बनाया था निशाना
जॉन स्नो और फैंस के बीच हुई खींचा तानी

एशेज 1970-71 की सात टेस्ट मैचों की सीरीज को इंग्लैंड (England) ने 2-0 से अपने नाम किया था

  • Share this:
नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में एशेज सीरीज (Ashes) हमेशा से ही सबसे रोमांचक सीरीज मानी जाती रही है. इंग्लैंड (England) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बीच इस सीरीज को जीतने के लिए कांटे की टक्कर देखने को मिलती है. जीत के लिए खिलाड़ी मैदान पर जितना दम-खम दिखाते हैं स्टेडियम में फैंस में भी उतना ही उत्साह होता है. विरोधी टीम को नीचा दिखाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाती है. हर साल यह सीरीज खिलाड़ियों के साथ-साथ फैंस के ट्रोल करने के अलग-अलग तरीकों के लिए भी जाने जाते हैं.

1971-72 में फैंस के गुस्से के शिकार बने थे जॉन स्नो
ऐसा ही कुछ देखने को मिला 1971-72 की एशेज सीरीज में जो ऑस्ट्रेलिया (Australia) में खेली गई थी. इस सीरीज में उस समय सात मैच खेले जाते थे. इंग्लैंड ने यह सीरीज 2-0 से अपने नाम की थी. इस सीरीज में जिस एक गेंदबाज की चर्चा सबसे ज्यादा रही थी वह थे जॉन स्नो (Jon Snow). उस पूरे सीजन में इंग्लैंड के इस गेंदबाज ने अपनी खतरनाक बाउंसर से खिलाड़ियों के बीच खौफ पैदा कर दिया था. ऑस्ट्रेलियाई फैंस के बीच उन्हें लेकर काफी गुस्सा था.

जॉन स्नो पर फैंस ने फेंकी थी कैन



सिडनी में खेले जा रहे इस मैच में जॉन स्नो की एक बाउंस ने ऑस्ट्रेलिया के टेरी जेनर को खतरनाक बाउंसर मारी थी जिसके बाद वह ग्राउंड पर गिर गए थे. मैच को वहीं रोका गया और टेरी को मैदान से बाहर ले जाया गया. टेरी ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज थे और उन्हें चोटिल होता देख फैंस का गुस्से पर काबू नहीं रहा. ओवर के बाद जब स्नो फील्डिंग के लिए बाउंड्री के पास गए तो कुछ फैंस ने उनसे हाथ मिलाया.



इसी बीच एक फैन ने उन्हें पकड़ा, स्नो को लगा कि वह उनसे हाथ मिलाना चाहते हैं लेकिन फैन ने उन्हें कंधे से पकड़कर अपनी तरफ खींचा और उन्हें मारने की कोशिश की. इसी बीच स्टैंड में बैठे फैंस ने उनपर कैन फेंकनी शूरू कर दी. स्नो पीछे हटे लेकिन फैंस ने कैन फेंकने जारी रखा. स्नो को समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करें. अंपायर ने मैच कुछ देर के लिए रोक दिया और स्नो को बाउंड्री लाइन की जगह फील्ड पर आने को कहा. हालांकि इस दौरान फैंस लगातार मैदान पर कैन औऱ बोतल फेंकते रहे.

सीरीज भी रही इंग्लैंड के नाम
जॉन स्नो ने इस मैच में 40 रन देकर सात विकेट हासिल किया था. उनके प्रदर्शन के दम पर ही इंग्लैंड ने यह मैच 299 रन से जीता था. इस मैच के बाद इंग्लैंड ने सातवां टेस्ट मैच भी 62 रन से अपने नाम किया. इंग्लैंड ने सीरीज 2-0 से अपने नाम किया.

केरल में बच्चे के सामने मां से हुआ गैंगरेप,भारतीय क्रिकेटर बोला-मर गई इंसानियत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading