Ashes 2019: चौथा टेस्ट मैच आज से, अपनी उम्मीदों को बचाने उतरेगी इंग्लिश टीम

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 11:50 AM IST
Ashes 2019: चौथा टेस्ट मैच आज से, अपनी उम्मीदों को बचाने उतरेगी इंग्लिश टीम
पांच मैचों की सीरीज में इंग्लैंड 1-1 से बराबरी पर है

अगर इंग्लिश टीम चौथा टेस्ट गंवा देती है तो एशेज ट्रॉफी (Ashes) गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के पास ही रहेगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 11:50 AM IST
  • Share this:
मैनचेस्टर. मेजबान इंग्लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया (England vs Australia) के बीच बुधवार से एशेज सीरीज (Ashes) का चौथा मुकाबला खेला जाएगा. मैनचेस्टर में खेले जाने वाले इस मुकाबले में जहां इंग्लैंड की कोशिश ऑस्ट्रेलिया पर बढ़त हासिल करने की होगी. वहीं ऑस्ट्रेलिया टीम की नजर मुकाबले को जीतकर ट्रॉफी पर अपना अधिकार बनाए रखने पर होगी. पांच मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 से बराबर हैं और अब दो मैच और बचे हैं. ऐसे में अगर सीरीज बराबरी पर रहती है  तो एशेज ट्रॉफी पिछली बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के पास ही रहेगी.

दोनों के बीच लीड्स में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच को बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की शानदार पारी के दम पर इंग्लैंड ने जीतकर ऑस्ट्रेलिया की बराबरी कर ली थी.

जहां पिछली जीत से इंग्लिश टीम आत्मविश्वास से भरी हुई है, वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी है कि चौथे टेस्ट मैच के लिए स्टीव स्मिथ (Steve Smith) की टीम में वापसी हो गई है. जो मैच से एक दिन पहले दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज बने. लॉर्ड्स टेस्ट की पहली पारी में स्मिथ जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) की गेंद से चोटिल हो गए थे, जिस कारण तीसरे टेस्ट मैच में वह टीम से बाहर रहे थे और उनकी जगह मार्नस लाबुशेन को टीम में शामिल किया गया था.

ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भारी 

इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा काफी भारी है. इंग्लैंड को अगर एशेज ट्रॉफी  (Ashes) अपने हाथ में उठानी है तो उसे हाल में बढ़त के साथ सीरीज खत्म करनी होगी.

चौथे टेस्ट मैच से पहले अभ्यास के लिए जाते स्टीव ‌स्मिथ


सीरीज में बराबरी रहने पर ट्रॉफी गत चैंपियन के पास ही रहती है. ऐसे में इंग्लैंड पर अधिक दबाव है. वहीं ऑस्ट्रेलिया हर मामले में मेजबान पर भारी दिख रही है. उनके स्‍टार बल्लेबाज स्‍टीव स्मिथ (Steve Smith) की भी टीम में वापसी हो गई है. ‌स्मिथ ने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़े थे, जबकि दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में 92 रन की पारी खेली थी. स्मिथ ने दोनों ही मैचों में टीम को संकट से  बाहर  निकाला था.
Loading...

मार्नस लाबुशेन भी बने ऑस्ट्रेलिया की ताकत

मार्नस लाबुशेन भी ऑस्ट्रेलिया की ताकत बन गए हैं. दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में चोटिल स्मिथ की जगह वैकल्पिक खिलाड़ी के रूप में मैदान पर बल्लेबाजी करने के उतरे लाबुशेन ने उस पारी में 59 रन बनाए थे. इसके अगले टेस्ट की दोनों पारियों में 74 और 80 रन की पारी खेली थी. इस प्रदर्शन के दम पर स्मिथ की वापसी के बावजूद वें टीम में अपनी जगह बचा पाने में सफल रहे. इनके अलावा डेविड वॉर्नर (David Warner) का बल्ला पूरी तरह से शांत है. कप्तान‌ टिम पेन भी लय में नहीं दिख रहे हैं.

आर्चर और स्टोक्स के भरोसे इंग्लिश टीम 

पिछले तीन मैचों में इंग्लिश टीम जोफ्रा आर्चर (Jofra Archer) और बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के भरोसे ही दिखी. जहां बेन स्टोक्स ने तीसरे टेस्ट मैच में अपनी बल्लेबाजी से इंग्लैंड को एक विकेट से जीत दिला दी थी, वहीं आर्चर का सामना करना ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए आसान नहीं होता. आर्चर जेम्स एंडरसन की जगह टीम में आए ‌थे.

टॉप ऑर्डर कर रहा है संघर्ष 

इंग्लैंड का टॉप ऑर्डर लगातार संघर्ष कर रहा है. ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना करने में टॉप ऑर्डर नाकाम नजर आ रहा है. अब ताे ऑस्ट्रेलियाई टीम में मिचेल स्‍टार्क जैसे गेंदबाज भी आ गए है, जो इंग्लैंड को और अधिक परेशान करने में कोई कमी नहीं रहने देंगे. चौथे टेस्ट के लिए इंग्लिश टीम के बल्लेबाजी क्रम में बदलाव देखने काे मिल सकता है.

IPL: केएल राहुल को मिल सकती है किंग्स इलेवन पंजाब की कमान

वो तूफानी ऑलराउंडर जिसे साउथ अफ्रीका के लिए बताया गया 'खतरा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 10:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...