• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • टेस्ट इतिहास का पहला रन और पहला शतक इस खिलाड़ी के नाम, फिर भी देश के लिए 3 मैच ही खेले

टेस्ट इतिहास का पहला रन और पहला शतक इस खिलाड़ी के नाम, फिर भी देश के लिए 3 मैच ही खेले

On This Day: आज ऐसे क्रिकेटर का जन्म हुआ है, जिसने टेस्ट इतिहास की पहली गेंद खेलने के साथ पहली अर्धशतक और शतक जड़ा है. (PC-AFP)

On This Day: आज ऐसे क्रिकेटर का जन्म हुआ है, जिसने टेस्ट इतिहास की पहली गेंद खेलने के साथ पहली अर्धशतक और शतक जड़ा है. (PC-AFP)

HBD Charles Bannerman: किसी भी क्रिकेटर का सपना होता है कि वो अपने देश के लिए खेले. लेकिन ऐसा करते हुए अगर उस खिलाड़ी का नाम इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो जाए तो इससे बेहतर कुछ नहीं होगा. ऐसा ही कुछ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज चार्ल्स बैनरमैन के साथ हुआ था, जिनका जन्म आज ही के दिन 1851 (3 जुलाई, 1851) में इंग्लैंड के कैंट शहर में हुआ था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. किसी भी क्रिकेटर का सबसे बड़ा सपना होता है अपने देश के लिए खेलना. अगर ऐसे करते हुए उसका नाम इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो जाए, तो ये सोने पर सुहागा जैसा है. हालांकि, गिने-चुने खिलाड़ियों के साथ ही ऐसा होता है. ऐसे ही एक खिलाड़ी रहे हैं चार्ल्स बैनरमैन (Charles Bannerman) जिनका आज जन्मदिन है. बैनरमैन 3 जुलाई 1851 को इंग्लैंड के कैंट में पैदा हुए थे. लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लिए खेली. उन्होंने अपने करियर में सिर्फ तीन ही टेस्ट खेले. लेकिन उनके नाम दर्ज रिकॉर्ड जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे. टेस्ट इतिहास की पहली गेंद, पहला रन, पहला अर्धशतक और शतक समेत कई रिकॉर्ड बैनरमैन के नाम हैं.

    टेस्‍ट इतिहास का पहला मैच इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया (England vs Australia) के बीच 15 मार्च 1877 से शुरू हुआ था. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. चार्ल्स बैनरमैन और नैट थॉमसन बल्लेबाजी के लिए उतरे. स्ट्राइक बैनरमैन ने ली और वो टेस्ट इतिहास की पहली गेंद खेलने वाले बल्लेबाज बने. इसके बाद तो मैच में उन्होंने एक-एक कर कई रिकॉर्ड अपने नाम किए.

    बैनरमैन टेस्ट में रिटायर्ड हर्ट होने वाले खिलाड़ी
    बैनरमैन ने पहले अर्धशतक और फिर शतक ठोका. टेस्ट के पहले दिन ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट के नुकसान पर 166 रन बनाए. बैनरमैन 126 रन पर नाबाद रहे. दूसरे दिन वो 165 रन पर खेल रहे थे और उनकी उंगली में चोट लग गई और वो टेस्ट में रिटायर्ड हर्ट होने वाले पहले बल्लेबाज बने. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 245 रन बनाए. इसमें से अकेले 165 रन बैनरमैन के रहे. पूरी हुई टेस्‍ट पारी में प्रतिशत के लिहाज से ये सबसे ज्यादा रन थे. बैनरमैन ने टीम के 245 में से 165 रन यानी करीब 67 फीसदी रन खुद बनाए. ये रिकॉर्ड आज तक कायम है. हालांकि, बैनरमैन दूसर पारी में 4 रन बनाकर आउट हो गए.

    यह भी पढ़ें : पैडी अप्टन ने किया दावा, मैच से पहले भारतीय क्रिकेटरों को सेक्‍स करने की दी सलाह

    एरॉन फिंच ने हरारे में लगाया रनों का अंबार, रचा था टी20 अंतरराष्ट्रीय में इतिहास

    बैनरमैन ने सिर्फ तीन टेस्ट खेले
    टेस्ट इतिहास का पहला शतक जड़ने के बाद बैनरमैन अपने करियर में फिर कभी 30 से ज्यादा रन नहीं बना पाए. वो बीमारी के कारण ऑस्ट्रेलिया के लिए तीन टेस्ट ही खेल पाए. लेकिन उनका नाम क्रिकेट की रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो चुका था. बैनरमैन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 3 टेस्ट में करीब 60 के औसत से 239 रन बनाए. वहीं, 44 फर्स्ट क्लास मैच में इस बल्लेबाज ने 1687 रन बनाए. इसमें उनके नाम एक शतक और 9 अर्धशतक है. दिलचस्प बात है कि चार्ल्स के भाई एलेक बैनरमैन ने भी ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट क्रिकेट खेली. उन्होंने 28 टेस्ट में 23 की औसत से 1108 रन बनाए. हालांकि वो एक भी शतक नहीं लगा पाए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज