ICC ने डीन जोंस की याद में जारी किया VIDEO, कहा- इनोवेटर, एंटरटेनर, प्रोफ्रसर और... रेस्ट इन पीस

डीन जोंस का गुरुवार को निधन हो गया.
डीन जोंस का गुरुवार को निधन हो गया.

ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पूर्व क्रिकेटर व कॉमेंटेटर डीन जोंस (Dean Jones) का गुरुवार को निधन हो गया. उन्होंने मुंबई में अंतिम सांस ली. महज 59 साल की उम्र में डीन जोंस की मौत से क्रिकेटप्रेमी हतप्रभ हैं. आईसीसी (ICC) ने उन्हें अपने तरीके से याद किया है, जिसमें डीन जोंस की जिंदगी का सफर छिपा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 1:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और कॉमेंटेटर डीन जोंस (Dean Jones) अब हमारे बीच नहीं है. इस दिग्गज क्रिकेटर ने महज 59 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया. उनकी गुरुवार को मुंबई में मौत हो गई. प्रोफेसर डीनो के नाम से मशहूर डीन जोंस की मौत से क्रिकेटप्रेमी हतप्रभ हैं. ऑस्ट्रेलिया, भारत समेत तमाम देशों के क्रिकेटरों, पूर्व क्रिकेटरों, खेल प्रशासकों से लेकर आम क्रिकेटप्रेमियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. दुनियाभर में क्रिकेट को चलाने वाली आईसीसी (ICC) ने उन्हें अपने तरीके से याद किया है, जिसमें डीन जोंस की जिंदगी का सफर और फलसफा छिपा हुआ है.

आईसीसी ने गुरुवार रात 10 बजे के करीब ट्वीट कर डीन जोंस को श्रद्धांजलि दी. एक मिनट 50 सेकंड के इस वीडियो की शुरुआत डीन जोंस को पैवेलियन से बैटिंग के लिए मैदान पर जाते हुए दिखाया गया है. दूसरे शॉट में वे ऑस्ट्रेलिया के बड़े मैदान पर लॉन्ग ऑन पर छक्के और चौके लगा रहे हैं. फिर उन्हें इनोवेटर के तौर दिखाया गया है, जहां वे ऐसे शॉट लगा रहे हैं, जो उन दिनों इनोवेशन के तौर पर देखे जा रहे थे.


आईसीसी के इस वीडियो के एक शॉट में डीन बड़ा छक्का लगाते हैं और यूं मुस्कुराते हैं, जैसे उन्होंने कुछ किया ही नहीं या जो किया वह बेहद आसान है. तीसरे शॉट में वे ब्लैकबोर्ड पर क्रिकेट की बारीकियां समझा रहे हैं. आईसीसी ने इस वीडियो के साथ लिखा, इनोवेटर, एंटरटेनर, प्रोफ्रसर, आइकन, रेस्ट इन पीस...



डीन जोंस का इंटरनेशनल करियर 10 साल का रहा. उन्होंने 1984 में पहला टेस्ट और पहला वनडे मैच खेला. साल 1994 में उनके करियर का आखिरी साल साबित हुआ. डीन जोंस ने मुंबई में अंतिम सांस ली. इसे संयोग नहीं तो और क्या कहा जाएगा कि जिस ऑस्ट्रेलियन को दुनियाभर में कभी पहचान भारत दौरे से मिली, उसकी मौत भी इसी देश में हुई. अपनी सटीक टिप्पणियों के लिए मशहूर डीन जोंस को प्रोफेसर डीनो के नाम से भी जाना जाता था.

डीन जोंस ने अपने करियर की पहली यादगार पारी चेन्नई में खेली. उन्होंने सितंबर 1984 में खेले गए चेन्नई टेस्ट में पहली पारी में 210 और दूसरी पारी में 24 रन बनाए. यह उनका महज तीसरा टेस्ट मैच और पहला शतक था. 210 रन की इस पारी से वे दुनियाभर में छा गए. उनकी यह पारी इसलिए भी यादगार है क्योंकि यह टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया था. डीन जोंस और कपलि देव को संयुक्त रूप से मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड दिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज