लाइव टीवी

भारत दौरे से पहले बांग्लादेशी क्रिकेटर्स की हड़ताल खत्म, मगर मुश्किल में फंस गए शाकिब अल हसन, बोर्ड करेगा कानूनी कार्रवाई

News18Hindi
Updated: October 26, 2019, 12:21 PM IST
भारत दौरे से पहले बांग्लादेशी क्रिकेटर्स की हड़ताल खत्म, मगर मुश्किल में फंस गए शाकिब अल हसन, बोर्ड करेगा कानूनी कार्रवाई
शाकिब अल हसन ने एक टेलीकॉम कंपनी के साथ करार किया है

बांग्लादेशी क्रिकेटर्स के हड़ताल करने के बाद शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने एक कंपनी के साथ एग्रीमेंट साइन किया, जिसके बाद बोर्ड ने उन्हें नो‌‌टिस भेजा

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2019, 12:21 PM IST
  • Share this:
ढाका. अगले महीने बांग्लादेशी टीम को भारत का दौरा करना है, लेकिन उससे पहले बांग्लादेश खिलाड़ी और बोर्ड अपनी ही परेशानियाें का निपटारा करने में व्यस्‍त है. पहले वेतन संबंधी कई मांगाें को लेकर खिलाड़ी हड़ताल पर चले गए ‌थे और अब शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) मुश्किल में फंस गए. भले ही टीम हड़ताल खत्म करके भारत दौरे के लिए अभ्यास में जुट गई, लेकिन शाकिब बड़ी परेशानी में फंस गए. यहां तक कि बोर्ड उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी करने की तैयारी कर रहा है.
बोर्ड ने टेस्ट और टी20 कप्तान शाकिब के खिलाफ कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया है. दरअसल शाकिब ने टेलीकॉम कंपनी के साथ डील करके बोर्ड के नियम और शर्त का उल्लघंन किया था, जिसके बाद  बोर्ड को ऐसा कदम उठाना पड़ा. बोर्ड के अध्यक्ष नजमुल हसन (Nazmul Hasan ) ने कहा कि अगर शाकिब ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो उनके खिलाफ कड़ा कदम उठाया जाएगा. स्‍थानीय टेलीकॉम कंपनी ने 22 अक्‍टूबर को घोषणा की थी कि देश के नंबर एक ऑल राउंडर शाकिब अल हसन बतौर ब्रांड एंबेसडर उनसे जुड़ रहे हैं. इसके बाद क्रिकेटर्स के हड़ताल पर जाने के एक दिन बाद दोनों के बीच इस समझौते पर मुहर लग गई.

bangladesh cricket board, shakib al hasan, india vs bangladesh, sports news, cricket, बांग्लादेश किकेट बोर्ड, भारत बनाम बांग्लादेश, स्पोर्ट्स न्यूज
बोर्ड ने शाकिब अल हसन को कारण बताओ नोटिस भेजा है


टेलीकॉम कंपनी के साथ नहीं कर सकते डील

बोर्ड अध्यक्ष हसन ने बंगाली अखबार से बात करते हुए कहा ‌कि शाकिब किसी भी तरह से एग्रीमेंट साइन नहीं कर सकते और वह डील को क्यों नहीं कर सकते, इसके बारे में भी हमारे अनुबंध पेपर में साफतौर पर कहा गया है. उन्हाेंने कहा कि रॉबी टेलीकॉम हमारा टाइटल स्पॉन्सर है. ग्रामीणफोन ने बोली नहीं लगाई थी और इसके बजाय वे कुछ क्रिकेटर्स को कुछ करोड़ रुपये देकर अपना काम करवा रहा है. आखिर में क्या हुआ. बोर्ड को तीन सालों में टका 90 कराेड़ का नुकसान हुआ. कुछ खिलाड़ियों को फायदा हुआ, लेकिन बोर्ड को मुश्किलों का सामना करना पड़ा.इसीलिए उन्हें पेपर्स पर इसके बारे में जानकारी दे दी गई थी.

मुआवजे के लिए भेजा नोटिस
यहां तक कि मंत्रालय ने भी कह‌ा था बिना उनकी जानकारी के टेलीकॉम कंपनी से किसी तरह का समझौता न किया जाए. हालांकि यह सब कागजातों पर हैं. तो कैसे शा‌किब ने बिना हमें जानकारी दिए एंग्रीमेंट किया. उन्होंने समय पर भी सवाल उठाए. उन्होंने सबका ध्यान खींचते हुए कहा कि इनका साहस दे‌खिए, ये ऐसे समय पर किया गया, जब हड़ताल के कारण क्रिकेट नहीं खेला जा रहा है.उन्होंने कहा कि वह कानूनी कारवाई करने जा रहे हैं. वह‌ इस संबंध में किसी को भी नहीं माफ नहीं करेंगे.हम उनसे नुकसान की भरपाई के लिए बात करेंगे. उन्होंने कहा कि हम कंपनी के साथ साथ खिलाड़ी से भी मुआवजे की मांग करेंगे. बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि जैसे ही 23 अक्‍टूबर को उन्होंने यह खबर सुनी, उन्होंने कंपनी को मुआवजे के लिए नोटिस भेजा, साथ ही शाकिब (Shakib Al Hasan) को भी कारण बताओं नोटिस भेजा गया.
Loading...

स्पॉट फिक्सिंग में फंसी रॉबिन उथप्पा की टीम, कोच और बल्लेबाज गिरफ्तार

मुंबई इंडियंस की शानदार दिवाली पार्टी में नजर आया खिलाड़ियों का स्टाइलिश अवतार







News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 12:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...