संजय बांगड़ ने किया खुलासा : वर्ल्ड कप में धोनी को सातवें नंबर पर भेजने के फैसले में ये लोग थे शामिल

टीम के बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने कहा कि इस फैसले के बारे में सभी अच्छी तरह जानते थे. यहां तक कि विराट कोहली ने सेमीफाइनल और अफगानिस्तान के खिलाफ मुकाबले के बाद प्रेस कांफ्रेंस में भी इसकी वजह बताई थी.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 2:37 PM IST
संजय बांगड़ ने किया खुलासा : वर्ल्ड कप में धोनी को सातवें नंबर पर भेजने के फैसले में ये लोग थे शामिल
टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने कहा है कि वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में धोनी को सातवें नंबर पर भेजने का फैसला मेरा अकेले का नहीं थाण्‍
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 2:37 PM IST
आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था. तब महेंद्र सिंह धोनी को सातवें नंबर पर भेजने के फैसले की भी जमकर आलोचना हुई थी. यह मामला इतना तूल पकड़ गया था कि कप्तान विराट कोहली को सफाई देनी पड़ी थी कि आखिर क्यों उन्होंने धोनी को इस अहम मुकाबले में सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा.

अब इस मुद्दे को लेकर टीम के बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ ने नया खुलासा किया है. उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कहा है कि वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी को सातवें नंबर पर भेजने का फैसला उनका अकेले का नहीं था. उन्होंने यह भी बताया है कि इस अहम फैसले में टीम इंडिया के कौन-कौन से लोग शामिल रहे थे.

न्यूजीलैंड के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी को दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या और ऋषभ पंत के बाद बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था. इस मुकाबले में भारतीय गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड को 8 विकेट पर 239 रनों के स्कोर तक रोक दिया था. हालांकि बल्लेबाजों ने निराश किया. टीम के टॉप ऑर्डर के चार बल्लेबाज दस ओवरों के अंदर महज 24 रन पर पवेलियन लौट गए थे. हालांकि इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा ने टीम को जीत दिलाने की बेहद कोशिश की, लेकिन वे 18 रन दूर रह गए.

cricket, mahendra singh dhoni, sanjay bangar, bcci, indian cricket team, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, संजय बांगर, विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी
महेंद्र सिंह धोनी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में अर्धशतक लगाया था, लेकिन वह टीम को जीत दिलाने में नाकाम रहे.


इस मामले में हिंदुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में संजय बांगड़ ने कहा कि मैं काफी हैरान हूं कि लोग इस फैसले के लिए मुझे जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, जबकि मैं ‌निर्णय लेने वाली अकेली अथॉरिटी नहीं हूं. विश्वास कीजिए हम सभी हालात को समझने के बाद फैसला लेते हैं. 2014 में टीम का बल्लेबाजी कोच का कार्यभार संभालने वाले बांगड़ ने कहा कि यह एक सामूहिक फैसला था और हम सभी ने निर्णय लिया था कि मध्यक्रम को लचीला बनाया जाएगा ताकि 30 से 40 ओवरों के बीच के खेल पर दबदबा बनाया जा सके.

विराट को इस बारे में पता था
संजय बांगड़ ने यह भी कहा कि इस फैसले के बारे में सभी अच्छी तरह जानते थे. यहां तक कि विराट कोहली ने सेमीफाइनल और अफगानिस्तान के खिलाफ मुकाबले के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि धोनी को निचले क्रम पर खिलाने का फैसला किया गया है ताकि डेथ ओवरों तक वह लय में आ सकें.
Loading...

cricket, mahendra singh dhoni, sanjay bangar, bcci, indian cricket team, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, संजय बांगर, विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी
न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ताबड़तोड़ अर्धशतक लगाकर रवींद्र जडेजा ने टीम को मुकाबले में ला खड़ा किया था.


धोनी को फिनिशर की भूमिका दी गई थी
संजय बांगड़ ने कहा कि दिनेश कार्तिक को पांचवें नंबर पर खिलाने का फैसला टीम के चेंजिंग रूम में यह सोचकर लिया गया कि वह विकेटों के पतन को रोकेंगे ताकि पारी का अंत करने के लिए हमारे पास हमारा सबसे अनुभवी खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी क्रीज पर मौजूद रहे. बांगड़ के अनुसार, रवि शास्‍त्री ने कहा है कि ये टीम का फैसला था. ऐसे में मुझे यह समझ नहीं आ रहा कि लोगों के मन में यह धारणा कैसे बन गई कि धोनी को सातवें नंबर पर भेजने का फैसला मेरा अकेले का था.

यह भी पढ़ें- बाइक चला रहे श्रीलंकाई बल्लेबाज कुसल मेंडिस हुए हादसे का शिकार, देखें VIDEO

रो रहे थे स्टीव स्मिथ, बैन से आहत पिता ने फेंक दिया था किट बैग

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 2, 2019, 2:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...