बड़े भारतीय क्रिकेटरों के सोशल मीडिया अकाउंट पर BCCI की नजर, फिक्सिंग का खतरा !

बड़े भारतीय क्रिकेटरों के सोशल मीडिया अकाउंट पर BCCI की नजर, फिक्सिंग का खतरा !
बीसीसीआई ने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण में वह राज्य संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर अभ्यास शुरू करेगा.

आईसीसी (ICC) की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख एलेक्स मार्शल ने इंटरव्यू में कहा था कि बुकी खिलाड़ियों से सोशल मीडिया के जरिए उन्हें फिक्सिंग की पेशकश कर सकते हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. भले ही कोरोना वायरस के चलते क्रिकेट पूरी तरह ठप पड़ा हो लेकिन आईसीसी को फिर भी मैच फिक्सिंग (Match Fixing) की चिंता है. आईसीसी की एसीयू यानि भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख एलेक्स मार्शल ने कहा है कि बुकी सोशल मीडिया के जरिए खिलाड़ियों से संपर्क साध सकते हैं. हालांकि आईसीसी एसीयू के चीफ की इस चेतावनी से बीसीसीआई (BCCI) बिलकुल टेंशन में नहीं है. बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई का कहना है कि भारतीय खिलाड़ी फिक्सिंग करने वालों के काम करने के तरीके से अच्छे से वाकिफ हैं और कुछ भी संदिग्ध होने पर वो इसकी तुरंत रिपोर्ट करेंगे. बता दें आईसीसी एसीयू प्रमुख एलेक्स मार्शल ने ‘द गार्डियन’ को दिये साक्षात्कार में कहा कि इस लंबे लॉकडाउन में और खिलाड़ियों के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के इस्तेमाल से भ्रष्टाचार की पेशकश की जा सकती है और लोगों को इससे सतर्कता से निपटना होगा.

बीसीसीआई एसीयू को भारतीय खिलाड़ियों पर भरोसा
बीसीसीआई एसीयू (ACU) के चीफ अजीत सिंह ने आईसीसी की उस चिंता पर कहा है कि उन्हें अपने खिलाड़ियों पर भरोसा है. अजीत सिंह ने कहा,'हमने अपने खिलाड़ियों को अच्छी तरह समझाया है कि लोग आपसे किस तरह पेशकश कर सकते हैं और सोशल मीडिया के जरिये उनका काम करने का तरीका क्या है. हमने उन्हें कहा है, देखिये इस तरह से संभावित फिक्सर और सट्टेबाज आपसे पेशकश करेंगे.' उन्होंने कहा, 'वे आपसे ऐसे व्यवहार करेंगे जैसे कि वे आपके प्रशंसक हों और वे किसी के जरिये आपसे मिलने की कोशिश करेंगे जो शायद आपका जानने वाला हो.' उन्होंने कहा, 'जब भी ऐसा कछ होता है तो ज्यादातर (भारतीय खिलाड़ी) हमें इसकी रिपोर्ट करते हैं कि मुझसे किसी ने संपर्क करने की कोशिश की.'

खिलाड़ियों के सोशल मीडिया हैंडल पर निगाह
अजीत सिंह से ये भी पूछा गया कि ज्यादातर बड़े खिलाड़ियों के लाखों प्रशंसक हैं और ये खिलाड़ी भी ऑनलाइन काफी सक्रिय हैं जो ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक लाइव पर सवाल जवाब सत्र करते हैं. तो क्या बीसीसीआई की एसीयू टीम ‘ऑनलाइन कंटेट’ पर निगाह रखती है? तो इसपर अजीत सिंह ने जवाब दिया, 'जिसकी भी ऑनलाइन निगाह रखी जा सकती है, हम ऐसा करते हैं. लेकिन निश्चित रूप से लॉकडाउन के समय में जाकर सत्यापन करना और स्थान की जांच करना संभव नहीं हो सकता.' उन्होंने कहा, 'लेकिन अगर कुछ भी हमारी निगाह में आता है तो यह खुद ही हमारे डाटाबेस में चला जाता है और जब लॉकडाउन खत्म होगा, और अगर जरूरत होगी तो हम इनका सत्यापन करेंगे.' बता दें लॉकडाउन के दौरान भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा एक्टिव हैं.



पीटरसन ने उड़ाया धोनी का मजाक, तो चेन्‍नई सुपर किंग्‍स ने दिया 'मुंहतोड़' जवाब

नेहरा का खुलासा, पाकिस्‍तान दौरे पर सहवाग और द्रविड़ पर भारी पड़ा ये क्रिकेटर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज