• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता नहीं देने के लिए बीसीसीआई ने ICC को लिखा पत्र

कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता नहीं देने के लिए बीसीसीआई ने ICC को लिखा पत्र

बीसीसीआई ने कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता नहीं देने को लेकर ICC को पत्र लिखा है. (AFP)

बीसीसीआई ने कश्मीर प्रीमियर लीग को मान्यता नहीं देने को लेकर ICC को पत्र लिखा है. (AFP)

कश्मीर प्रीमियर लीग का आयोजन 6 अगस्त से होना है लेकिन इसे लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है. इसे मान्यता नहीं देने के लिए बीसीसीआई ने अब आईसीसी को पत्र भी लिखा है. केपीएल को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की तरफ से मंजूरी मिली है. विवादित क्षेत्रों में मैच आयोजित कराने को लेकर आईसीसी के किसी भी नियम में कुछ नहीं कहा गया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. कश्मीर प्रीमियर लीग (Kashmir Premier League) के शुरू होने से पहले ही इसे लेकर बड़ा विवाद शुरू हो गया है. अब बीसीसीआई ने आईसीसी को पत्र लिखकर छह अगस्त से शुरू होने वाली इस घरेलू टी20 लीग को मान्यता नहीं देने का आग्रह किया है. क्रिकइन्फो की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई ने लीग का आयोजन कश्मीर में ना करने के लिए आईसीसी को लिखा है.

    इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने शनिवार को उसके आंतरिक मामलों में दखल देने की बीसीसीआई की कोशिशों पर नाखुशी जाहिर की थी. यह उन रिपोर्टों पर आधारित था कि भारतीय बोर्ड कुछ देशों के खिलाड़ियों को लीग में शामिल होने से रोकने की कोशिशें कर रहा रहा है. रिपोर्ट में दावा किया गया था कि बीसीसीआई इसके लिए आईसीसी के कई अन्य पूर्ण सदस्यों के संपर्क में था.

    इसे भी पढ़ें, कश्‍मीर प्रीमियर लीग को लेकर हर्शल गिब्‍स का बड़ा बयान, कहा- बीसीसीआई बना रहा है दबाव

    दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सलामी बल्लेबाज हर्शल गिब्स, जिनके लीग में खेलने की उम्मीद है, ने ट्विटर पर कहा था उन्हें केपीएल में खेलने को लेकर धमकी दी गई. गिब्स ने दावा किया था कि उनसे ऐसा कहा गया है कि यदि वह केपीएल में खेलते हैं तो उन्हें क्रिकेट से संबंधित किसी भी काम के लिए भारत में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा.

    अब यह सामने आया है कि बीसीसीआई ने आईसीसी से भी संपर्क किया था. बीसीसीआई की शिकायत का आधार कश्मीर में मौजूदा स्थिति को विवादित क्षेत्र के रूप में केंद्रित करता है. बीसीसीआई ने पूछा है कि क्या ऐसे क्षेत्रों में क्रिकेट मैच खेले जा सकते हैं जो दोनों देशों (भारत-पाकिस्तान) के बीच लंबे समय से चल रहे विवाद का केंद्र रहा है.

    इसे भी पढ़ें, कश्‍मीर प्रीमियर लीग: BCCI पर आरोप लगाकर घिरे शाहिद अफरीदी, लोग बोले- सुधर जाओ

    कश्मीर पहले भारत और पाकिस्तान के बीच कई विवादों का कारण रहा है. पाकिस्तान कश्मीर के कुछ हिस्सों पर अपना अधिकार भी जताता रहा है. दोनों देशों के बीच राजनीतिक और राजनयिक संबंधों में पिछले कुछ वर्षों में उतार-चढ़ाव आया है. मौजूदा दौर में भारत और पाकिस्तान के बीच कोई द्विपक्षीय सीरीज भी नहीं खेली जाती है. इतना ही नहीं, पाकिस्तान के खिलाड़ियों को आईपीएल तक में खेलने की अनुमति नहीं मिलती है.

    कश्‍मीर प्रीमियर लीग के पहले सीजन का आयोजन इस महीने 6 अगस्त से शुरू होना है. इस लीग में हर्शल गिब्‍स, तिलकरत्‍ने दिलशान, मोंटी पनेसर जैसे बड़े क्रिकेटर्स भी नजर आ सकते हैं. लीग में ओवरसीज वॉरियर्स, मुजफ्फराबाद टाइगर्स, रावलकोट हॉक्स, बाग स्टालियन, मीरपुर रॉयल्स और कोटली लायंस 6 टीमें हिस्‍सा ले रही हैं. पाकिस्तान और भारत के क्रिकेट बोर्डों के बीच संबंध आम तौर पर दोनों देशों के राजनीतिक माहौल के हिसाब से चलते हैं. दोनों देशों के बीच 2012-13 से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है. इसके अलावा 2007-08 में एक टेस्ट मैच खेला गया था.

    ऐसी घरेलू लीगों के लिए स्वीकृति पूर्ण सदस्य देश द्वारा दी जाती है जिसमें टूर्नामेंट खेला जा रहा है, न कि आईसीसी या अन्य इस बारे में फैसला लेते हैं. इसके लिए केपीएल को पीसीबी की मंजूरी मिली है. विवादित क्षेत्रों में मैचों के बारे में आईसीसी के किसी भी नियम में कुछ नहीं कहा गया है. आयोजकों के अनुसार, शाहिद अफरीदी, शोएब मलिक, इमाद वसीम, मोहम्मद हफीज, कामरान अकमल और शादाब खान केपीएल में अलग-अलग टीमों की कप्तानी करेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज