लाइव टीवी

सौरव गांगुली को मिली बड़ी राहत, खारिज हुआ यह गंभीर आरोप

भाषा
Updated: November 16, 2019, 11:46 PM IST
सौरव गांगुली को मिली बड़ी राहत, खारिज हुआ यह गंभीर आरोप
बीसीसीआई अध्‍यक्ष सौरव गांगुली. (AP Photo)

भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) के मौजूदा संविधान के अनुसार कोई भी व्यक्ति एक ही समय में कई क्रिकेट भूमिकाएं अदा नहीं कर सकता है.

  • भाषा
  • Last Updated: November 16, 2019, 11:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: बीसीसीआई (BCCI) के आचरण अधिकारी डीके जैन (DK Jain) ने बोर्ड अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के खिलाफ हितों के टकराव (Conflict Of Interest) की शिकायत खारिज कर दी. मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने चार अक्टूबर को यह शिकायत दर्ज की थी जब गांगुली बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के अध्यक्ष थे. इसमें उन्होंने दावा किया था कि वह कैब अध्यक्ष और बीसीसीआई एजीएम में इसके प्रतिनिधि के रूप में कई पद पर काबिज हैं. जैन ने कहा कि भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) के मौजूदा संविधान के अनुसार कोई भी व्यक्ति एक ही समय में कई क्रिकेट भूमिकाएं अदा नहीं कर सकता है.

'हितों के टकराव का मामला नहींं टिकता'  
उन्होंने यह भी ध्यान दिलाया कि गांगुली ने 23 अक्टूबर को बीसीसीआई अध्यक्ष पद का भार संभालते हुए कैब अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया जिससे उनका कोई भी हितों का टकराव नहीं है. डीके जैन ने फैसले में कहा, 'मेरा मानना है कि नए घटनाक्रम में गांगुली के खिलाफ हितों के टकराव का मामला आचरण अधिकारी के सामने विचार के लिए नहीं टिकता. नतीजे के रूप में वर्तमान शिकायत को खारिज किया जाता है.'

rahul dravid, bcci, cricket, sport news राहुल द्रविड़, बीसीसीआई, क्रिकेट
राहुल द्रविड़ अभी एनसीए की जिम्‍मेदारी संभाल रहे हैं.


राहुल द्रविड़ भी हो चुके हैं बरी
इससे पहले डीके जैन ने राहुल द्रविड़ पर लगे हितों के टकराव के मामले को भी खारिज कर दिया था. बता दें कि द्रविड़ के खिलाफ भी संजीव गुप्‍ता ने हितों के टकराव का आरोप लगाया था. गुप्‍ता का आरोप था कि द्रविड़ एक समय पर एक से ज्‍यादा पोस्‍ट पर थे जो कि बीसीसीआई के संविधान का उल्‍लंघन है. शिकायत में कहा गया था कि द्रविड़ जुलाई में बीसीसीआई की ओर से नेशनल क्रिकेट एकेडमी के डायरेक्‍टर पद पर नियुक्‍त किए जाने के समय इंडिया सीमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड में उपाध्‍यक्ष पद पर भी थे.

गुप्‍ता का दावा था कि इस कंपनी का संबंध चेन्‍नई सुपर किंग्‍स से है. एनसीए की जिम्मेदारी दिए जाने से पहले वह इंडिया ए और अंडर-19 टीमों के मुख्य कोच भी थे. जस्टिस डीके जैन ने अपने आदेश में कहा कि द्रविड़ के खिलाफ टकराव का मामला बन नहीं पाया ऐसे में उन्‍होंने शिकायत को खारिज कर दिया क्‍योंकि इसमें कोई मेरिट नहीं थी.
Loading...

विराट कोहली तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन से खुश, बोले- बुमराह आएगा तो...

इस गेंदबाज का अजीब एक्शन दुनियाभर में छाया, क्‍या आपने वीडियो देखा 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 11:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...