लाइव टीवी
Elec-widget

सौरव गांगुली ने रच दिया इतिहास, BCCI अध्यक्ष बनते ही कर दिया ये बड़ा काम!

News18Hindi
Updated: November 22, 2019, 11:46 AM IST
सौरव गांगुली ने रच दिया इतिहास, BCCI अध्यक्ष बनते ही कर दिया ये बड़ा काम!
सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्यक्ष बनते ही डे—नाइट टेस्ट के आयोजन के प्रयास शुरू कर दिए थे. (FILE PHOTO)

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने के दूसरे ही दिन डे-नाइट टेस्ट मैच (Day-night Test Match) आयोजित करने की कवायद में जुट गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2019, 11:46 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) की टीमें शुक्रवार 22 नवंबर से कोलकाता (Kolkata) के ऐतिहासिक ईडन गार्डेंस (Eden Gardens) पर क्रिकेट का सुनहरा अध्याय शुरू करने के लिए तैयार हैं. यही वो तारीख है जब दोनों टीमें अपने-अपने क्रिकेट इतिहास का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेंगी. ये लम्हा इसलिए भी खास है क्योंकि दोनों देशों के लिए ये पल साल 2015 में डे-नाइट टेस्ट की शुरुआत होने के चार साल बाद आया है. खासकर भारत (India) के लिए इस सपने को हकीकत में बदलने का श्रेय बीसीसीआई के नए अध्यक्ष (BCCI President) सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को जाता है. ये भी दिलचस्प संयोग है कि 22 नवंबर को ही सौरव गांगुली बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर अपने कार्यकाल का एक महीना भी पूरा कर लेंगे.

इस तरह सफल हुई कवायद
टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने 23 अक्टूबर को बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) पद का कार्यभार संभालने के दूसरे ही दिन डे-नाइट टेस्ट (Day Night Test) को अपने एजेंडे की प्राथमिकताओं में बताया. इसी दिन उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) से इस मामले में सहमति हासिल कर ली. गांगुली ने बाद में बताया कि विराट ने डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए अपनी सहमति देने में महज तीन सेकेंड का समय लिया. मगर ऐतिहासिक टेस्ट के लिए सिर्फ विराट की सहमति काफी नहीं थी. ये और बात है कि विराट की सहमति ने भारतीय क्रिकेट के एक नए युग की शुरुआत तो कर ही दी थी. यही वजह थी कि गांगुली ने इसके बाद बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (Bangladesh Cricket Board) के अध्यक्ष से डे-नाइट टेस्ट के आयोजन की अनुमति मांगी. जब बांग्लादेश ने इस पर अपनी मंजूरी दे दी तब जाकर इस ऐतिहासिक टेस्ट पर मुहर लगी.

cricket news, sports news, india vs bangladesh, indian cricket news, bcci, kolkata test, second test, pink ball test, day night test, world test championship, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, भारतीय क्रिकेट टीम, इंडिया वस बांग्लादेश, बीसीसीआई, कोलकाता टेस्ट, दूसरा टेस्ट, पिंक बॉल टेस्ट, ईडन गार्डेंस, डे—नाइट टेस्ट, sourav ganguly, सौरव गांगुली
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने डे-नाइट टेस्ट को लेकर भारतीय कप्तान विराट कोहली से भी बात की.


गांगुली ने तीन साल पहले ही जता दिए थे इरादे
बेशक सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने के बाद डे-नाइट टेस्ट आयोजित करने के लिए जी-जान लगा दी हो. कम ही लोग जानते हैं कि बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से काफी पहले ही सौरव गांगुली डे-नाइट टेस्ट मैच के पक्ष में ताल ठोकने लग गए थे. यही वजह है कि साल 2016 में दलीप ट्रॉफी का डे-नाइट मैच कराने का रास्ता साफ करने वाली बीसीसीआई की तकनीकी समिति में वह भी शामिल थे.

सौरव के ही शहर में भारत का पहला डे-नाइट टेस्ट
Loading...

ये भी अजब संयोग है कि भारतीय क्रिकेट इतिहास (Indian Cricket History) का पहला डे-नाइट टेस्ट सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के अपने शहर कोलकाता (Kolkata) में ही खेला जा रहा है. उनके अपने घरेलू मैदान ईडन गार्डेंस (Eden Gardens) पर. यही वजह है कि सौरव ने इसे ऐतिहासिक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. इस टेस्ट के लिए पूरे शहर को गुलाबी रंग में रंग दिया गया है. ऐसा इसलिए क्योंकि डे-नाइट टेस्ट (Day Night Test) गुलाबी गेंद (Pink Ball) से ही खेला जाता है. इतना ही नहीं, टेस्ट के चारों दिन के सभी टिकट बिक गए हैं. हर दिन करीब 65000 लोग इस टेस्ट को देखने स्टेडियम पहुंचेंगे. भारतीय ​क्रिकेट इतिहास में भी ये शायद पहला मौका होगा जब किसी टेस्ट में स्टेडियम दर्शकों से खचाखच भरा होगा.

cricket news, sports news, india vs bangladesh, indian cricket news, bcci, kolkata test, second test, pink ball test, day night test, world test championship, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, भारतीय क्रिकेट टीम, इंडिया वस बांग्लादेश, बीसीसीआई, कोलकाता टेस्ट, दूसरा टेस्ट, पिंक बॉल टेस्ट, ईडन गार्डेंस, डे—नाइट टेस्ट, sourav ganguly, सौरव गांगुली
अभी तक 11 डे-नाइट टेस्ट मैचों का आयोजन हुआ है और सभी में नतीजे निकले हैं. (FILE PHOTO)


दादा का मानना है... स्टेडियम में उमड़ेंगे दर्शक
भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के सबसे आक्रामक कप्तानों में शुमार सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) अगर डे-नाइट टेस्ट का समर्थन करते हैं तो इसके पीछे उनका ये विश्वास भी है कि आफिस के बाद लोग मैच देखने के लिए भारी संख्या में स्टेडियम पहुंचेंगे. उनकी नजरों में टेस्ट क्रिकेट के प्रति लोगों की रुचि बनाए रखने और नए लोगों को आकर्षित करने के नजरिए से भी डे-नाइट टेस्ट (Day Night Test) का आयोजन बेहद अहम है. बेशक इसका नतीजा तो आने वाले वक्त में ही पता चल सकेगा, लेकिन फिलहाल भारतीय टीम अब उन देशों की कतार में शामिल हो गई है, जिन्होंने पहले ही डे-नाइट टेस्ट को अपना लिया था.

डे-नाइट टेस्ट खेलने वाली नौवीं टीम भारत
अब तक सात देशों ने डे-नाइट टेस्ट मैच (Day Night Test Match) खेले हैं. इनमें ऑस्ट्रेलिया ने 5, पाकिस्तान-श्रीलंका-वेस्टइंडीज-इंग्लैंड ने 3-3, साउथ अफ्रीका और न्यूजीलैंड ने 2-2 और जिम्बाब्वे ने एक मैच खेला है. इस तरह भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) डे-नाइट टेस्ट खेलने वाली नौवीं और दसवीं टीम हैं. साल 2015 से अब तक 11 डे-नाइट टेस्ट मैच खेले गए हैं. भारत-बांग्लादेश के बीच होने वाला ये पिंक बॉल टेस्ट 12वां डे-नाइट टेस्ट होगा.

यह भी पढ़ें :

ईडन पर बनेगा इतिहास, भारतीय क्रिकेट का 'गुलाबी' अध्याय लिखने उतरेंगे विराट के धुरंधर
इस बल्लेबाज ने 94 गेंद में ठोके 241 रन, लगाए 22 छक्के लेकिन IPL टीम से बाहर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 10:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...