इंग्लैंड दौरे से पहले भारतीय टीम को 24 दिन क्वारंटीन में रहना होगा, बीसीसीआई ने ईसीबी से मांगी ये छूट

भारतीय टीम को अगले महीने में इंग्लैंड का दौरा करना है (फाइल फोटो)

भारतीय टीम को अगले महीने में इंग्लैंड का दौरा करना है (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) को इंग्लैंड में न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच से पहले 24 दिन क्वारंटीन में गुजारने होंगे. भारतीय टीम मुंबई में 14 दिन और इंग्लैंड में 10 दिन पृथकवास में रहेगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंग्लैंड दौरे की तैयारियां शुरू कर दी. भारतीय पुरुष और महिला क्रिकेट टीम को जून के पहले सप्ताह में इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना होना है. आज से मुंबई में सभी खिलाड़ियों को इकट्ठा करने के लिए बीसीसीआई ने तीन शहरों से चार्टर्ड उड़ानों की पेशकश की है. दोनों टीमों को मुंबई में दो हफ्ते के लिए क्वारंटीन होना पड़ेगा. मुंबई और उसके आसपास रहने वाले खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ एक हफ्ते बायो-बबल में प्रवेश करेंगे.

खिलाड़ियों को अभ्यास की छूट चाहता है बीसीसीआई

बीसीसीआई अभी भी इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और यूके सरकार के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहा है ताकि इंग्लैंड पहुंचने पर क्वारंटीन के नियमों में कुछ छूट मिल सके. भारतीय टीमें 2 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना हो सकती है. भारतीय पुरुष टीम 18 जून से न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए साउथेम्प्टन जाएगी, जबकि महिला टीम 16 जून से इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट खेलने के लिए ब्रिस्टल जाएगी. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार, बीसीसीआई इंग्लैंड में टीमों के लिए क्वारंटीन में छूट चाहता है जिससे खिलाड़ियों को ट्रेनिंग की अनुमति मिल सके.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “कुछ दिनों के लिए एक सख्त क्वारंटीन हो सकता है और फिर खिलाड़ियों को ट्रेनिंग की अनुमति दी जा सकती है. ऑस्ट्रेलिया में पिछले नवंबर में भारतीय खिलाड़ी तीन दिनों के लिए सख्त क्वारंटीन में थे और फिर उन्हें प्रशिक्षण की अनुमति दी गई थी. हालांकि खिलाड़ी अभ्यास के बाद अपने होटल के कमरों से बाहर नहीं निकल सके. इस बार भी कुछ ऐसा ही किया जा रहा है.' बीसीसीआई चाहता है कि भारतीय टीमें मैच से पहले कम से कम 10 दिनों का अभ्यास करे.
तीन शहरों से चार्टर्ड उड़ानों की व्यवस्था

इस बीच, बोर्ड इसमें जुटा है कि इंग्लैंड दौरे पर जाने वाले खिलाड़ी और सहयोगी स्टॉफ को मुंबई कैसे लाया जाए. सूत्रों ने कहा कि चार्टर्ड उड़ानें चेन्नई, हैदराबाद और दिल्ली से खिलाड़ियों को लेकर आएंगी. एक अधिकारी ने बताया कि जो खिलाड़ी चार्टर्ड उड़ानों का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें कार से अपने निकटतम हवाई अड्डों तक पहुंचना होगा. छोटे शहरों के खिलाड़ियों ने बोर्ड से अनुरोध किया है कि अगर बिजनेस क्लास का टिकट दिया जाता है तो उन्हें कमर्शियल फ्लाइट से मुंबई की यात्रा करने में खुशी होगी.'

मुंबई में बायो-बबल में प्रवेश करने से पहले सभी खिलाड़ियों को आरटी-पीसीआर टेस्ट में निगेटिव आना होगा. बोर्ड ने एक केंद्रीय एजेंसी के माध्यम से परीक्षणों की व्यवस्था की है. छोटे शहरों के खिलाड़ियों को सलाह दी गई है कि वे खुद ही टेस्ट कराएं और बोर्ड इसकी भरपाई करेगा.



यह भी पढ़ें:

कुलदीप यादव फंसे मुश्किल में, लॉन में कोरोना वैक्सीन लेने पर डीएम ने बिठाई जांच

एशेज सीरीज 8 दिसंबर से, 26 साल बाद फाइनल मुकाबला सिडनी की जगह पर्थ में

श्रीलंका दौरे पर राहुल द्रविड़ बन सकते हैं कोच

जुलाई में श्रीलंका का दौरा करने वाली भारतीय टीम के साथ बीसीसीआई राहुल द्रविड़ को कोच के रूप में भेजने पर विचार कर रहा है. भारत के पूर्व कप्तान इस प्रस्ताव पर विचार कर रहे हैं. द्रविड़ बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में क्रिकेट के प्रमुख का पद संभालने से पहले 2015-19 के बीच भारत 'ए' और अंडर -19 टीमों के मुख्य कोच रहे हैं.

सूत्रों के मुताबिक द्रविड़ के अपने भरोसेमंद साथी पारस म्हाम्ब्रे और अभय शर्मा के साथ दौरे पर जाने की संभावना है. शर्मा को क्षेत्ररक्षण कोच के रूप में महिला टीम के साथ इंग्लैंड की यात्रा करने के लिए कहा गया है. इंग्लैंड दौरे के लिए नियुक्त महिला बल्लेबाजी कोच एसएस दास भी श्रीलंका जा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज