BCCI के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने बताया, जुलाई में श्रीलंका का दौरा क्यों करेंगे टीम इंडिया के व्हाइट बॉल स्पेशलिस्ट

श्रीलंका दौरे पर शिखर धवन संभाल सकते हैं टीम इंडिया की कमान (PIC: AFP)

श्रीलंका दौरे पर शिखर धवन संभाल सकते हैं टीम इंडिया की कमान (PIC: AFP)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने श्रीलंका के छोटे प्रारूप के दौरे (India vs Sri Lanka) के लिए एक सफेद गेंद विशेषज्ञ टीम भेजने का फैसला किया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) आगामी आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) के लिए अब से कुछ दिनों में यूनाइटेड किंगडम (UK) के लिए रवाना होने वाली है. जिसके बाद अगस्त-सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. कोविड-19 प्रतिबंधों के कारण विराट कोहली (Virat Kohli) के नेतृत्व वाले भारतीय खिलाड़ी श्रीलंका में सीमित ओवरों की सीरीज के लिए जुलाई में डब्ल्यूटीसी फाइनल और इंग्लैंड टेस्ट के बीच उनके लंबे ब्रेक के बावजूद उपलब्ध नहीं हो पाएंगे. ऐसे में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने श्रीलंका के छोटे प्रारूप के दौरे (India vs Sri Lanka) के लिए एक सफेद गेंद विशेषज्ञ टीम भेजने का फैसला किया है.

श्रीलंका में भी मामले बढ़ रहे हैं, ठीक वैसे ही से भारत कोविड -19 की दूसरी लहर के तहत गंभीर रूप से जूझ रहा है. इस दौरे के अभी भी समय के साथ आगे बढ़ने की उम्मीद है. हाल ही में एक बातचीत में बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने बताया कि बोर्ड श्रीलंका के दौरे के साथ आगे क्यों बढ़ा?

उन्होंने कहा क्योंकि भारत आने वाले महीनों में दो अलग-अलग टीमों को समानांतर रूप से मैदान में उतारने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा, ''जैसा कि आप जानते हैं कि पिछले डेढ़ साल से इस कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए क्रिकेट जगत काफी दबाव में है, बहुत सारे एफ़टीपी रद्द कर दिए गए हैं, जिसने पूरी दुनिया में इन संघों पर बहुत दबाव डाला है. जब तक आप इन यात्राओं को नहीं करते, हम इसे सही नहीं कर सकते. और इन सभी बोर्डों के लिए अपने वित्तीय संघर्ष से बाहर आना बहुत मुश्किल होगा, जिससे वे गुजर रहे हैं.''

ICC के नॉकआउट मैचों में क्यों फेल होती है टीम इंडिया? दीप दासगुप्ता ने बताया राज
अरुण धूमल ने स्पोर्ट्सकीड़ा को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ''हमें पिछले साल भी श्रीलंका दौरे को छोड़ना पड़ा था. इसलिए, हमें उस पर काम करने की जरूरत है और चूंकि हमारी टीम जो इंग्लैंड जा रही है, वह मुख्य रूप से टेस्ट के लिए है, ऐसे में हम व्हाइट बॉल क्रिकेट के लिए टीम बना सकते हैं. इसलिए हमने ऐसा सोचा कि हमें श्रीलंकाई बोर्ड से बात करके अपनी ओर से कुछ करना चाहिए और हम समय पर व्हाइट बॉल क्रिकेट खेल सकते हैं.''

2011 CWC: सचिन तेंदुलकर ने याद किया जीत का जश्न, तब पठान-कोहली से की थी खास गुजारिश

रिपोर्ट्स के मुताबिक, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या, युवजेंद्र चहल, कुलदीप यादव, राहुल चाहर, दीपक चाहर, पृथ्वी शॉ आदि जुलाई में लिमिटेड ओवर्स की सीरीज के लिए श्रीलंका जा सकते हैं. शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार और हार्दिक पंड्या के नाम इस दौरे पर भविष्य के कप्तान के रूप में भी सामने आ रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज