होम /न्यूज /खेल /PAK vs ENG: साथी से बदसलूकी के कारण टीम से कटा था पत्ता, 6 साल बाद वापसी पर ठोका पहला शतक

PAK vs ENG: साथी से बदसलूकी के कारण टीम से कटा था पत्ता, 6 साल बाद वापसी पर ठोका पहला शतक

England vs Pakistan: बेन डकेट ने 6 साल बाद इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी की और पहला शतक ठोका. (England cricket twitter)

England vs Pakistan: बेन डकेट ने 6 साल बाद इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी की और पहला शतक ठोका. (England cricket twitter)

England vs Pakistan Rawalpindi Test: इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज बेन डकेट ने पाकिस्तान के खिलाफ रावलपिंडी टेस्ट की पहली ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पाकिस्तान-इंग्लैंड के बीच रावलपिंडी में पहला टेस्ट खेला जा रहा
इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज बेन डकेट ने अपना पहला शतक ठोका
डकेट ने 6 साल बाद इंग्लैंड की टीम में वापसी की और सैकड़ा जड़ दिया

नई दिल्ली. पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच रावलपिंडी में 3 टेस्ट की सीरीज का पहला मैच खेला जा रहा है. इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी. जैक क्राउली और बेन डकेट की सलामी जोड़ी ने टेस्ट में टी20 के अंदाज में बल्लेबाजी की. दोनों ने 14 ओवर में ही 100 रन जोड़ डाले. यह सिलसिला यहीं नहीं थमा. अगले 100 रन जोड़ने के लिए इस जोड़ी को सिर्फ 16 ओवर खेलने पड़े. इस दौरान जैक क्राउली ने अपना शतक पूरा किया और उनके ठीक बाद डकेट का सैकड़ा भी पूरा हुआ. डकेट के लिए यह पारी इसलिए खास है. क्योंकि उन्होंने 6 साल बाद इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी की और अपने ही मैच में शतक ठोक दिया. इससे बेहतर, कमबैक की उम्मीद वो भी नहीं कर सकते थे.

डकेट और क्राउली के बीच पहले विकेट के लिए 233 रन की पार्टनरशिप हुई. डकेट ने इससे पहले, 4 टेस्ट में कुल 110 रन बनाए थे और रावलपिंडी टेस्ट की पहली पारी में ही अकेले 107 रन बनाए. इसके लिए डकेट ने 110 गेंद खेली. उन्होंने 107 रन की पारी में 15 चौके लगाए. यह डकेट के टेस्ट करियर का पहला शतक है. डकेट ने पिछले चारों टेस्ट 2016 में खेले थे. इसके बाद से उन्हें इंग्लैंड की टेस्ट टीम में मौका नहीं मिला था. उन्होंने 22 साल की उम्र में टेस्ट डेब्यू किया था. तब ट्रेवर बेलिस इंग्लैंड के कोच और जो रूट कप्तान थे.

डकेट का हमेशा से विवादों से नाता रहा
2016 में ही डकेट प्रोफेशनल क्रिकेट एसोसिएशन के प्लेयर ऑप द ईयर और यंग प्लेयर ऑफ द ईयर पुरस्कार एकसाथ जीतने वाले खिलाड़ी बने थे. इसी साल ही उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ वनडे और टेस्ट डेब्यू किया था. अगले साल यानी 2017 में वो एशेज सीरीज के लिए इंग्लैंड आए थे. उन्हें इंग्लैंड-XI के खिलाफ वॉर्म अप मैच खेलना था. लेकिन, उससे पहले पर्थ में उन्होंने टीम के उपकप्तान जेम्स एंडसन पर बीयर फेंक दी थी. इसके बाद उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. इससे पहले, वो फिटनेस टेस्ट में फेल होने के कारण इंग्लैंड की अंडर-19 टीम की कप्तानी भी गंवा चुके थे. यानी डकेट का हमेशा से ही विवादों से गहरा नाता रहा.

बांग्लादेश दौरे के बाद 3 मैच में क्यों नहीं खेलेंगे विराट और रोहित? टीम इंडिया का कप्तान भी बदल जाएगा

KL Rahul Marriage: केएल राहुल शादी के कारण एक और बड़ी सीरीज नहीं खेलेंगे, जानें पूरी डिटेल

76 की स्ट्राइक रेट से एक हजार रन बनाए
इसके बाद डकेट ने अपने खेल पर फोकस किया. इसका सबूत है 2002 में उनका प्रदर्शन. उन्होंने 72 की औसत से 1012 रन बनाए. इसमें तीन शतक और 50 से ज्यादा रन की 8 पारियां शामिल हैं. इसी वजह से नॉटिंघमशायर डिवीजन टू का खिताब जीतने में सफल रहा. सबसे खास बात यह रही कि डकेट ने यह रन 76 की स्ट्राइक रेट से बनाए, जिसे टेस्ट फॉर्मेट के लिहाज से अच्छा माना जाएगा. शायद यही वजह थी कि इंग्लैंड की टेस्ट टीम के नए कोच ब्रैंडन मैकुलम और कप्तान स्टोक्स को वो भा गए और मैकुलम की बैजबॉल क्रिकेट की सोच में वो फिट हो गए और 6 साल बाद टेस्ट टीम में उनकी वापसी हुई और डकेट ने भी पहला शतक ठोककर इसे और यादगार बना दिया.

Tags: Ben stokes, England, England vs Pakistan, James anderson

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें