ये है एक दिन में 2 शतक लगाने वाला इकलौता बल्लेबाज, पूरी दुनिया करती है सलाम

10 सितंबर 1872 को हुआ था के एस रणजीतसिनजी का जन्म, उनके नाम पर ही भारत में खेली जाती है रणजी ट्रॉफी

News18Hindi
Updated: September 10, 2018, 4:05 PM IST
News18Hindi
Updated: September 10, 2018, 4:05 PM IST
इंटरनेशनल क्रिकेट में खेलने वाले पहले भारतीय के एस रणजीतसिनजी का जन्म 10 सितंबर 1872 को हुआ था. रणजीतसिनजी के नाम पर ही आज भारत में रणजी ट्रॉफी खेली जाती है. इस ट्रॉफी में ही अच्छा प्रदर्शन करने के बाद ही भारत को सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, विराट कोहली, अनिल कुंबले जैसे महान खिलाड़ी मिले. रणजीतसिनजी भले ही भारतीय थे लेकिन उन्होंने इंग्लैंड के लिए 15 टेस्ट मैच खेले. अपने करियर के दौरान उन्होंने कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए जिनके बाद उन्हें इतिहास के सबसे महान खिलाड़ियों में शूमार किया गया.

रणजी ना सिर्फ टेस्ट मैच खेलने वाले पहले भारतीय थे बल्कि इसके साथ-साथ उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में धमाका भी मचाया था. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले टेस्ट मैच में उन्होंने पहली पारी में 62 और दूसरी पारी में नाबाद 154 रन बनाए थे. हालांकि इतनी अच्छी बल्लेबाजी के बावजूद इंग्लैंड को हार झेलनी पड़ी थी.

रणजीतसिनजी (फोटो साभार- ट्विटर)


अगस्त 1896 में रणजी ने एक ही दिन में दो शतक ठोकने का अद्भुत कारनामा किया था. होव में खेले गए फर्स्ट क्लास मैच में रणजी ने पहली पारी में 100 और उसके बाद दूसरी पारी में 125 रन बनाए थे. दुनिया में कोई क्रिकेटर अबतक इस कारनामे को अंजाम नहीं दे सका है.

रणजी ने इंग्लैंड के लिए 15 टेस्ट मैच खेलकर कुल 989 रन बनाए. उनका औसत 45 के करीब रहा. वहीं फर्स्ट क्लास में उन्होंने 56.37 के औसत से 24,000 से ज्यादा रन बनाए, जिसमें 72 शतक शामिल थे.

1899 से 1903 तक ससेक्स की कप्तानी करने के बाद रणजी ने 1904 में भारत लौटने का फैसला किया. उन्होंने नवानगर में राज किया. इसके साथ-साथ उन्होंने अपने भतीजे दिलीप सिंह को क्रिकेट का ककहरा सिखाया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर