लाइव टीवी

कभी उधार की किट और मैगी से होता था हार्दिक पंड्या का गुजारा, आज जीते हैं लग्जरी लाइफ

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 7:33 AM IST
कभी उधार की किट और मैगी से होता था हार्दिक पंड्या का गुजारा, आज जीते हैं लग्जरी लाइफ
हार्दिक पंड्या का खुशमिजाज अंदाज प्रशंसकों के बीच बेहद लोकप्रिय है.

भारतीय स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) 11 अक्टूबर को 27 साल के होने जा रहे हैं, क्रिकेटर बनने के लिए उन्होंने बहुत संघर्ष किया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 7:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Happy Birthday Hardik Pandya) मैदान पर अपनी बल्लेबाजी और उसके बाहर अपनी अलग स्टाइल के लिए मशहूर हैं. 11 अक्टूबर को 27 साल के होने जा रहा यह क्रिकेटर आज भले ही लग्जरी लाइफ जीता हो लेकिन इस जिंदगी के लिए उन्होंने बहुत संघर्ष किया है. गुजरात (Gujrat) के वडोदरा से शुरू हुआ पंड्या (Hardik Pandya) का सफर आज टीम इंडिया (Team India) तक पहुंचा है जिसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत और कई त्याग किए हैं.

हार्दिक के पिता हिमांशु पंड्या (Himanshu Pandya) गुजरात के सूरत (Surat) में फाइनेंस का व्यापार करते थे. हालांकि कुछ समय बाद 1998 में उनके पिता अपना व्यापार बंद करके वडोदरा जाने को मजबूर हो गए. उस समय पंड्या महज पांच साल के थे. वडोदरा में पंड्या परिवार किराए के मकान में रहता था. हार्दिक के पिता को क्रिकेट काफी पसंद था. वह हमेशा अपने दोनों बेटों को साथ में मैच दिखाते थे तो कई बार मैच के लिए स्टेडियम भी ले जाते थे.

खेलने के लिए नहीं थी क्रिकेट किट
इसी दौरान हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) को उन्होंने आर्थिक तंगी के बावजूद किरण मोरे (Kiren More) की एकेडमी में दाखिला दिलाया. हार्दिक पंड्या नौवीं क्लास में फेल हो गए थे. इसके बाद उन्होंने पूरी तरह से क्रिकेट पर फोकस करने के लिए पढ़ाई छोड़ दी.

hardik pandya, krunal pandya, mumbai indians, ipl
क्रुणाल पंड्या और हार्दिक पंड्या आईपीएल में मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हैं


हार्दिक का कहना है कि जब वह 17 साल के थे तब उनके पास खुद की क्रिकेट किट भी नहीं थी. दोनों भाइयों ने करीब सालभर तक बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन से क्रिकेट किट लेकर काम चलाया.
हार्दिक के लिए संघर्ष खत्म नहीं हुआ.
Loading...

मैगी खाकर चलाते थे काम
उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब वह अंडर-19 टीम में थे उस वक्त सुबह-शाम वह पैसों की कमी के कारण केवल मैगी खाकर काम चलाते थे. उस समय उनके परिवार के लिए दो वक्त खाने का इंतजाम करना भी मुश्किल था. उनका यह संघर्ष तब तक चला जबतक उन्हें मुंबई इंडियंस की ओर से आईपीएल खेलने का मौका नहीं मिला.

हार्दिक ने साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 डेब्यू किया था. इसके बाद उसी साल उन्हें वनडे टीम में भी मौका मिल गया. भारतीय टीम ने उन्हें अगले ही साल श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट टीम में भी मौका दिया जिसका उन्होंने बखूबी फायदा उठाया. पंड्या आज तीनों फॉर्मेट में टीम का अहम हिस्सा हैं.

स्‍टीव स्मिथ का कारनामा, 3.5 साल और 55 पारियों के बाद पहली बार ऐसे हुए आउट

विराट कोहली मेसी-रोनाल्डो से ज्यादा मेहनती, फील्ड पर बिताते हैं सबसे अधिक समय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 7:33 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...