B'Day Special: लांस क्लूजनर: वो तूफानी ऑलराउंडर जिसे साउथ अफ्रीका के लिए बताया गया 'खतरा', ऐसे खत्म हो गया करियर

एक समय साउथ अफ्रीका के स्टार ऑलराउंडर रहे लांस क्लूजनर (Lance Klusener) आज अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 9:55 AM IST
B'Day Special: लांस क्लूजनर: वो तूफानी ऑलराउंडर जिसे साउथ अफ्रीका के लिए बताया गया 'खतरा', ऐसे खत्म हो गया करियर
वनडे क्रिकेट में लांस क्लूजनर ने तीन हजार से अधिक रन बनाने के साथ ही 192 विकेट भी लिए हैं
News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 9:55 AM IST
नई दिल्ली. बात 1996 की है, जब साउथ अफ्रीकन खिलाड़ी लांस क्लूजनर (Lance Klusener) ने इंग्लैंड के खिलाफ 19 जनवरी को खेले गए वनडे मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था. उस मैच में वो बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में ही अपना खाता नहीं खोल पाए. लेकिन उनकी गेंदबाजी को देखकर उन्हें साउथ अफ्रीका का आने वाला स्टार बताया जाने लगा था. क्लूजनर  (Lance Klusener) आज अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं. चार सितंबर 1971 को डरबन में जन्में क्लूजनर ने जनवरी 1996 में वनडे क्रिकेट से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था. इसके बाद 27 नवंबर 1996 में  भारत के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करते हुए क्लूजनर  (Lance Klusener) ने दूसरी पारी में आठ विकेट लेकर तहलका मचा दिया था.

1999 वर्ल्ड कप में क्लूजनर  (Lance Klusener) साउ‌थ अफ्रीका के हीरो बनकर उभरे. उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों से कमाल किया. लेकिन जिस टीम के क्लूजनर स्टार बने थे, उन्हें उसी टीम के लिए खतरा बताकर टीम के बाहर कर दिया गया और एक तूफानी ऑलराउंडर का करियर बहुत ही जल्द खत्म हो गया. 2004 में क्लूजनर ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

वर्ल्ड कप के रहे थे हीरो

1999 वर्ल्ड कप में क्लूजनर  (Lance Klusener)  साउ‌थ अफ्रीकन टीम के हीरो बनकर उभरे थें. उन्होंने 281 रन बनाए. उनकी बल्लेबाजी का औसत 140 से ऊपर का था. टूर्नामेंट में क्लूजनर का सर्वाधिक स्ट्राइक रेट 122.20 का रहा था. जबकि टूर्नामेंट में उन्होंंने 17 विकेट लिए थे.

तत्कालीन कप्तान ग्रैम स्मिथ उन्हें अपनी टीम में शामिल करना नहीं चाहते थे


वर्ल्ड कप में संघर्ष के बाद मिली हार के बाद जब साउथ अफ्रीकन (South Africa) टीम वापस अपने देश लौटीं तो हीरो जैसा उनका स्वागत हुआ. उसी समय क्लूजनर को नेल्सन मंडेला (Nelson Mandela) ने फोन किया, जिस पर टीम के साथियों को बिल्कुल भी विश्वास नहीं हुआ. इसके बाद क्लूजनर और मंडेजा के बीच जुलु (साउथ अफ्रीका की भाषा) में बात हुई.

टीम के लिए खतरा बन गए थे क्लूजनर
Loading...

जिस खिलाड़ी पर पूरे देश का नाज हो रहा था, वो देखते ही देखते अपनी टीम के लिए खतरा बन गया. बात 2003 की है, जब इंग्लैंड दौरे के लिए क्लूजनर (Lance Klusener) को टीम से बाहर कर दिया गया. जब कप्तान ग्रैम स्मिथ (Graeme Smith) से इसका कारण पूछा गया तो उन्होंने बताया कि वह अपनी टीम में क्लूजनर को नहीं चाहते.  उन्होंने क्लूजनर को युवा खिलाड़ियों के लिए खतरा बताया. स्मिथ ने कहा कि वह एक अच्छे क्रिकेटर तो हैं, लेकिन टीम के रूप में वह योग्य नहीं हैं, लेकिन क्लूजनर का मानना था कि स्मिथ को उनसे डर लगता है.

वनडे के घातक गेंदबाज थे क्लूजनर

वनडे क्रिकेट में क्लूजनर (Lance Klusener) ने छह बार पांच विकेट लिए. जो साउथ अफ्रीकन खिलाड़ी का वनडे क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. क्लूजनर (Lance Klusener) ने 49 टेस्ट मैचों की 89 पारियों में जहां चार शतक और आठ अर्धशतक सहित कुल 1906 रन बनाए थे. वहीं कुल 80 विकेट लिए. वनडे क्रिकेट में इन्होंने 171 मैचों में दो शतक और 19 अर्धशतक सहित कुल 3576 रन बनाए. जबकि 192 विकेट लिए.

IPL: केएल राहुल को मिल सकती है किंग्स इलेवन पंजाब की कमान

ICC टेस्ट रैंकिंग में नंबर 3 गेंदबाज बने बुमराह

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 9:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...