Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Happy B'Day PK: पहलवानों के घर से निकला क्रिकेटर, चोट की वजह से खत्म हुआ करियर

    प्रवीण कुमार का बचपन परिवार के लोगों को अखाड़े में देखते हुए बीता, क्योंकि उनके परिवार में अधिकतर पहलवान रहे. प्रवीण के पिता पुलिस में थे और उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.
    प्रवीण कुमार का बचपन परिवार के लोगों को अखाड़े में देखते हुए बीता, क्योंकि उनके परिवार में अधिकतर पहलवान रहे. प्रवीण के पिता पुलिस में थे और उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

    प्रवीण कुमार का बचपन परिवार के लोगों को अखाड़े में देखते हुए बीता, क्योंकि उनके परिवार में अधिकतर पहलवान रहे. प्रवीण के पिता पुलिस में थे और उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 2, 2020, 11:50 AM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर प्रवीण कुमार आज अपना 34वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं. प्रवीण कुमार का जन्म 2 अक्टूबर 1986 को शामली जिले के छोटे से गांव लापरना में हुआ था. प्रवीण ने 2010 में नेशनल लेवल शूटर रहीं सपना चौधरी से शादी की. प्रवीण कुमार का बचपन परिवार के लोगों को अखाड़े में देखते हुए बीता, क्योंकि उनके परिवार में अधिकतर पहलवान रहे. प्रवीण के पिता पुलिस में थे और उन्हें पहलवान बनाना चाहते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

    गली में क्रिकेट खेलते हुए उन्होंने गेंद को स्विंग कराने की कला सीखी और फिर इसी को अपना करियर बनाया. प्रवीण कुमार ने 2005-06 में रणजी ट्रॉफी में डेब्यू किया. रणजी के अपने डेब्यू सीजन में उन्होंने 41 विकेट झटके और 386 रन बनाए. अपनी इस शानदार परफॉर्मेंस के दम पर वह 'प्लेयर ऑफ द ईयर' चुने गए. इस सीजन में उन्होंने 4 मैचों में 5 विकेट, एक मैच में 10 विकेट लेने के अलावा तीन अर्धशतक भी जड़े थे.

    प्रवीण कुमार ने अपना टेस्ट डेब्यू जून 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था और उन्होंने इसी साल अपना आखिरी टेस्ट भी खेला. उनका आखिरी टेस्ट अगस्त 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ रहा. अपने एक साल के टेस्ट करियर में उन्होंने केवल 6 मैच खेले, जिसमें 27 विकेट झटके। इंग्लैड दौरे के दौरान उन्होंने तीन मैचों में उन्होंने 15 विकेट लिए थे.



    IPL 2020: धोनी के नाम दर्ज होगा IPL का यह खास रिकॉर्ड, सुरेश रैना को छोड़ेंगे पीछे
    प्रवीण कुमार ने नवंबर 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। उन्होंने अपना आखिरी वनडे मार्च 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. अपने वनडे करियर में उन्होंने
    68 मैच खेले, जिसमें 77 विकेट झटके.

    प्रवीण कुमार ने 2008 में अपना टी-20 डेब्यू किया. 2012 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आखिरी टी-20 मैच खेला. उन्होंने अपने टी-20 इंटरनेशनल करियर में 10 मैचों में 8 विकेट लिए.

    प्रवीण कुमार का इंटरनेशनल करियर चोटों की वजह से लंबा नहीं चल पाया. 2011 वर्ल्ड कप के दौरान उनका सिलेक्शन टीम में हुआ था, लेकिन चोट की वजह से वह इसका हिस्सा नहीं बन पाए. उनकी जगह एस श्रीसंत को चुना गया. प्रवीण कुमार ने 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया.

    IPL 2020: इरफान पठान ने बताया, क्यों संघर्ष कर रही है धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स

    प्रवीण कुमार आईपीएल में पांच टीमों- गुजरात लायंस, किंग्‍स इलेवन पंजाब, रॉयल चैंलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेल चुके हैं. 2016 में प्रवीण कुमार ने समाजवादी पार्टी ज्वाइन करके राजनीति में कदम रखा था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज