होम /न्यूज /खेल /VIDEO: बिशन सिंह बेदी मिले पूर्व पाक कप्तान इंतिखाब आलम से, हंसे-रोए और गुनगुनाया

VIDEO: बिशन सिंह बेदी मिले पूर्व पाक कप्तान इंतिखाब आलम से, हंसे-रोए और गुनगुनाया

बिशन सिंह बेदी करतारपुर साहिब में पाकिस्तान से आए दोस्तों से मिले. (PIC: Angad Bedi/Instagram)

बिशन सिंह बेदी करतारपुर साहिब में पाकिस्तान से आए दोस्तों से मिले. (PIC: Angad Bedi/Instagram)

4 अक्टूबर को एक सुंदर, भावनात्मक दृश्य देखने को मिला, जब भारत और पाकिस्तान के दो क्रिकेट दिग्गज एक-दूसरे से मिले. वे भा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बिशन सिंह बेदी पत्नी अंजू के साथ करतारपुर साहिब गए थे.
बेदी से मिलने करतारपुर साहिब में पाकिस्तान से उनके दोस्त आए.
बिशन सिंह बेदी से मिलने पूर्व पाकिस्तान कप्तान इंतिखाब आलम आए.

नई दिल्ली. भारत के महान स्पिनर बिशन सिंह बेदी जब करतारपुर साहिब में अपने पुराने दोस्त और पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंतिखाब आलम से मिले तो इतने भावविभोर हो गए कि साथ में हंसे, गुनगुनाया और रोए भी. 76 वर्ष के बेदी नवंबर 2019 में करतारपुर कोरिडोर खुलने के बाद वहां मत्था टेकने के लिए सरहद पार यात्रा करना चाहते थे. गुरू नानक देव ने अपना अंतिम समय करतारपुर में बिताया था. कोरोना संक्रमण और खराब स्वास्थ्य के कारण बिशन सिंह बेदी वहां पहले नहीं जा सके थे. आखिरकार वह मंगलवार को करतारपुर गए.

उनकी पत्नी अंजू ने बताया, ”बिशन अब बेहतर महसूस कर रहे हैं लेकिन सौ फीसदी स्वस्थ नहीं हैं. वह नियमित यात्रा नहीं कर सकते. हमें अपने पोते के जन्मदिन के लिए अमृतसर आना ही था तो हमने सोचा कि साथ में करतारपुर साहिब भी मत्था टेक लें.” ऐसे में जब बिशन सिंह बेदी करतारपुर पहुंचे तो सरहद के उस पार पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इंतिखाब आलम और शफकत राणा उनका इंतजार कर रहे थे.

‘आप कहें तो उल्टा लटक के ट्रेनिंग…’ शादाब खान ने ट्रोलर की कर दी बोलती बंद

इंतिखाब आलम ने लाहौर से पीटीआई से कहा, ”मेरी और बिशन की दोस्ती 50 साल पुरानी है. उसे देखकर बहुत अच्छा लगा हालांकि व्हीलचेयर पर देखकर अच्छा नहीं लगा, लेकिन शुक्र है कि वह तेजी से ठीक हो रहा है. मैं आखिरी बार उससे 2013 में कोलकाता में मिला था, लेकिन हम व्हॉटसएप और फोन पर संपर्क में थे.”

उन्होंने कहा, ”मैंने सोचा भी नहीं था कि हम करतारपुर साहिब में मिलेंगे. हम दोनों के लिए यह काफी जज्बाती पल था. हमने पुरानी यादें ताजा की और हमारी पलकें भीग गई, लेकिन पंजाबी होने के नाते फिर हंसी मजाक शुरू कर दिया.” पाकिस्तान की एक पत्रकार ने बिशन सिंह बेदी, इंतिखाब आलम और शफकत राणा की इस मुलाकात का एक वीडियो अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है.

बता दें कि इंतिखाब आलम का जन्म पंजाब के होशियारपुर में हुआ था और 2000 में वह भारत की पंजाब की टीम के कोच भी रहे हैं. दो महान क्रिकेटरों और उनके परिवारों ने गुरुद्वारे में एक साथ लंगर खाने के बाद आलम से अंजू ने गाने का एक विशेष अनुरोध किया. इस पर आलम ने लुइस आर्मस्ट्रांग की ‘व्हेन द सेंट्स गो मार्चिंग इन’ की कुछ पंक्तियां गाईं, जो उन्हें बेदी और खुद दोनों को 1971 में ऑस्ट्रेलिया के बाकी विश्व दौरे पर वापस ले गईं.

VIDEO: भारतीय खिलाड़ियों ने छोड़े कैच, बॉल ब्वॉय ने लपका, फैन्स ने किया ट्रोल

आलम ने कहा, ”मैंने स्कॉटलैंड में अपने खेल के दिनों के दौरान ब्रायन हार्डी नामक एक लड़के से यह गाना उठाया था. अंजू भाभी ने मुझसे गाने का अनुरोध किया और मैं ना नहीं कह सका. मैं उस समय बिशन को भावुक होते हुए देख सकता था.” पिछले साल अपनी सर्जरी के बाद बिशन सिंह बेदी बहुत से लोगों को नहीं पहचान सके, लेकिन जब उन्होंने पाकिस्तान के अपने दोस्तों को देखा तो उनका चेहरा खिल उठा.

Tags: Bishan singh bedi, Kartarpur Sahib, Off The Field

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें