अपना शहर चुनें

States

Coronavirus के बीच ऐसे किया जाए टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन, इस दिग्गज ने निकाली राह

टी20 वर्ल्ड कप इसी साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है.
टी20 वर्ल्ड कप इसी साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप (T20 World Cup) पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2020, 3:46 PM IST
  • Share this:
मेलबर्न. कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दुनियाभर में खेल सहित सभी गतिविधियां रोक दी हैं. खेलों के महाकुंभ ओलिंपिक को भी एक साल के लिए टाल दिया गया, जबकि दुनिया की सबसे लोकप्रिय टी20 लीग आईपीएल को भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. अब आशंका जताई जा रही है कि कोरोना वायरस की गाज ऑस्ट्रेलिया (Australia) में होने वाले टी20 विश्व कप (T20 World Cup) पर भी गिर सकती है. फटाफट प्रारूप का ये टूर्नामेंट इस साल अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होना है. ऐसे में जबकि इसके आयोजन पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं, तो ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज स्पिनर ब्रैड हॉग (Brad Hogg) ने एक सुझाव दिया है.

खिलाड़ियों को एक महीना पहले चार्टर्ड फ्लाइट में लाया जाए
दरअसल, ब्रैड हॉग (Brad Hogg) ने कहा है कि उनके देश को इस साल पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टी20 विश्व कप आयोजन करने के लिए हरसंभव प्रयास करना चाहिए, भले ही इसके लिए टीमों को एक महीने पहले चार्टर्ड फ्लाइट में लाना पड़े और सभी प्रतिभागी खिलाड़ियों का कोविड-19 परीक्षण कराना पड़े. कोविड-19 महामारी के कारण दुनिया भर में एक लाख 20 हजार से अधिक लोगों की जान गई है और कई देशों में लॉकडाउन घोषित किया गया है.

मैं नहीं चाहता कि रद्द या स्थगित हो टूर्नामेंट
ब्रैड हॉग (Brad Hogg) ने कहा कि वह टूर्नामेंट को स्थगित या रद्द करने के विचार के खिलाफ हैं और टूर्नामेंट के सुचारू आयोजन के लिए आयोजकों को समय रहते कुछ जरूरी कदम उठाने होंगे. हॉग ने अपने ट्विटर हैंडल पर डाले वीडियो में कहा, ‘इस तरह की बातें हो रही हैं कि ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप को रद्द किया जा सकता है या इसका समय बदला जा सकता है. मुझे यह पसंद नहीं है... लेकिन कुछ समस्याएं हैं जिनका हल निकालने की जरूरत है.’



यहीं आकर तैयारी करें सभी खिलाड़ी
ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व स्पिनर ने कहा, ‘काफी खिलाड़ी लॉकडाउन (Lockdown) से गुजर रहे हैं. वह बाहर नहीं निकल पा रहे हैं और टी20 विश्व कप जैसे टूर्नामेंट के लिए ट्रेनिंग और तैयारी नहीं कर पा रहे. इसलिए हमें उन्हें यहां एक या डेढ़ महीना पहले लाना होगा. व्यावसायिक उड़ानें उपलब्ध नहीं हैं, इसलिए हमें चार्टर्ड उड़ानों का सहारा लेना होगा... चार्टर्ड फ्लाइट में बैठने से पहले सभी खिलाड़ियों का परीक्षण होना चाहिए.’

सोशल डिस्टेंसिंग में नहीं होगी कोई समस्या
ब्रैड हॉग (Brad Hogg) के अनुसार, ‘ऑस्ट्रेलिया (Australia) में आने के बाद सभी खिलाड़ियों को दो हफ्तों के लॉकडाउन (Lockdown) से गुजरना होगा. दो हफ्ते का पृथक रहने का समय पूरा होने के बाद उनका दोबारा परीक्षण होगा और अगर वे परीक्षण में सफल रहते हैं तो बाहर जाने, तैयारी और ट्रेनिंग करने के लिए स्वतंत्र होंगे.’ उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी बनाना क्रिकेट में समस्या नहीं होगी क्योंकि अधिकांश समय खिलाड़ी एक-दूसरे से एक-डेढ़ मीटर से अधिक की दूरी पर ही रहते हैं. एकमात्र समस्या स्लिप में हो सकती है लेकिन इसके लिए नियम बनाया जा सकता है कि स्लिप में दो खिलाड़ियों के बीच कम से कम दो मीटर की दूरी होगी.

ब्रैड हॉग के सुझाव
1. एक-डेढ़ महीने पहले खिलाड़ियों को चार्टर्ड विमान से लाया जाए.
2. विमान में बैठने से पहले सभी का कोविड टेस्ट हो.
3. ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद दो सप्ताह तक खिलाड़ी आइसोलेशन में रहें.
4. आइसोलेशन अवधि पूरी होने के बाद फिर से टेस्ट हो.
5. इसके बाद टी20 विश्व कप की तैयारी करें. स्लिप में खड़े होने के लिए अलग नियम बनाए जाएं.

वाह अमेरिका! कोरोना से 26 हजार मौतें...और ये 'खेल' किया जरूरी सेवाओं में शामिल

रोहित के मुरीद हुए बटलर, कहा-विरोधी टीम को घुटनों पर ला देते हैं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज