• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • सचिन के सामने शतक ठोकने वाला बल्लेबाज बेचने लगा ड्रग्स, जूस की बोतल में रखी थी कोकीन

सचिन के सामने शतक ठोकने वाला बल्लेबाज बेचने लगा ड्रग्स, जूस की बोतल में रखी थी कोकीन

सचिन को डॉन ब्रैडमैन के 29 टेस्ट शतक के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर ऑटोमोबाइल कंपनी फिएट ने फरारी गिफ्ट की थी. फिएट ने गिफ्ट की गई इस कार की इंपोर्ट ड्यूटी देने से मना कर दिया था. ऐसे में सचिन को 8.30 करोड़ रुपए की कार के लिए 2 करोड़ रुपए इंपोर्ट ड्यूटी के तौर पर चुकानी पड़ी थी. 2011 में 8000 किमी चलाने के बाद सचिन ने सूरत के कारोबारी और राजहंस ग्रुप के मालिक जयेश देसाई को 1.2 करोड़ रुपये में इसे बेच दिया था.

सचिन को डॉन ब्रैडमैन के 29 टेस्ट शतक के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर ऑटोमोबाइल कंपनी फिएट ने फरारी गिफ्ट की थी. फिएट ने गिफ्ट की गई इस कार की इंपोर्ट ड्यूटी देने से मना कर दिया था. ऐसे में सचिन को 8.30 करोड़ रुपए की कार के लिए 2 करोड़ रुपए इंपोर्ट ड्यूटी के तौर पर चुकानी पड़ी थी. 2011 में 8000 किमी चलाने के बाद सचिन ने सूरत के कारोबारी और राजहंस ग्रुप के मालिक जयेश देसाई को 1.2 करोड़ रुपये में इसे बेच दिया था.

इंग्लैंड के ऐसे ऑलराउंडर की कहानी जिसने सचिन (Sachin Tendulkar) की सामने धमाकेदार बल्लेबाजी की लेकिन फिर उसने ऐसा कदम उठाया कि उसकी जिंदगी ही बर्बाद हो गई

  • Share this:
    नई दिल्ली. क्रिकेट के मैदान पर नाम और पैसा दोनों मिलता है. लेकिन जब कोई खिलाड़ी संन्यास लेकर मैदान को छोड़ता है तो उसकी जिंदगी पहले जैसी नहीं रहती. कुछ खिलाड़ी जरूर खेल से जुड़े रहते हैं और लाखों-करोड़ों कमाते हैं लेकिन कुछ खिलाड़ियों को अपनी जिंदगी नए सिरे से शुरू करनी होती है. जिम्बाब्वे, वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को ही देख लीजिये, ये खिलाड़ी संन्यास के बाद आम लोगों की तरह जॉब्स करते हैं. हालांकि क्रिकेट इतिहास (Cricket History) में एक खिलाड़ी ऐसा भी है जो संन्यास के बाद एक गलत रास्ते पर निकल गया. उसने ड्रग्स तस्करी शुरू कर दी.

    क्रिस लुइस की कहानी
    14 फरवरी, 1990 ये वो तारीख है जब इंग्लैंड की टीम में ऑलराउंडर क्रिस लुइस (Chris Lewis) ने कदम रखा था जो कि पैदा तो गयाना में हुए थे लेकिन उन्होंने अपना इंटरनेशनल डेब्यू इंग्लैंड के लिए किया. लीटस्टरशर, नॉटिंघमशायर और सरे के लिए खेलने वाले इस ऑलराउंडर को इंग्लैंड का अगला इयान बॉथम तक कहा जाता था.

    साल 1993 में क्रिस लुइस (Chris Lewis) ने भारत दौरे पर धमाकेदार बल्लेबाजी से सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था. इस ऑलराउंडर ने चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में शानदार शतक लगाया था जिसके बाद उन्हें इंग्लैंड का अगला स्टार माने जाने लगा. इस मैच में सचिन और नवजोत सिंह सिद्धू ने भी शानदार शतक ठोका था. हालांकि लुइस अपनी टीम की हार नहीं टाल सके थे और उनका करियर भी वैसा नहीं रहा जिसकी उनसे उम्मीद थी. लुइस ने 32 टेस्ट मैचों में 23.01 की औसत से 1105 रन बनाए. 40 वनडे पारियों में वो 374 रन ही बना सके. इसके अलावा टेस्ट में वो 93 और वनडे में 66 विकेट झटकने में कामयाब हुए.

    ड्रग्स तस्कर बने क्रिस लुइस
    साल 2008 में क्रिस लुइस (Chris Lewis) के चाहने वालों को उस वक्त बहुत बड़ा झटका लगा जब वो कोकीन के साथ गिरफ्तार हुए. इंग्लैंड का ये पूर्व ऑलराउंडर क्रिकेट छोड़ने के बाद ड्रग्स की तस्करी करने लगा. 8 दिसंबर, 2008 को क्रिस लुइस गैटविक एयरपोर्ट पर 3.37 किलो लिक्विड कोकीन के साथ गिरफ्तार हुए, जिसकी कीमत 1.26 करोड़ रुपये थी. लुइस ने ये कोकीन एक फ्रूट जूस की बोतल में रखी हुई थी. साल 2009 में क्रिस लुइस को 13 साल की सजा सुनाई गई. हालांकि साल 2015 में 6 साल की सजा काटने के बाद लुइस को रिहा कर दिया गया.

    क्रिस लुइस ने ठोका था चेन्नई टेस्ट में शतक


    जेल से रिहा होने के बाद लुइस ने बताया कि वो अपने भविष्य को लेकर डरे हुए थे, इसीलिए उन्होंने गलत कदम उठाया. लुइस ने बयान दिया, 'मैं अपने भविष्य को लेकर डरा हुआ था शायद इसीलिए मैंने ये गलत कदम उठा लिया. मैं अपने गलत फैसलों के लिए माफी मांगता हूं. मैंने 6 साल जेल में बिताए जो मैं कभी नहीं चाहता था.' साल 2016 में लुइस एक बार फिर काउंटी क्रिकेट में उतरे और उन्होंने मिडिलसेक्स काउंटी क्रिकेट लीग में वेंबले क्रिकेट क्लब की कप्तानी की.

    शोएब अख्तर, अकरम जैसे गेंदबाजों की धुनाई की, आज एक्टर है ये भारतीय बल्लेबाज

    मोहम्मद आमिर और हारिस सोहेल ने पाकिस्तानी टीम से नाम वापस लिया, नहीं जाएंगे इंग्लैंड

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज