राहुल द्रविड़ को हितों के टकराव मामले में क्‍लीन चिट: CoA

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने इंडिया सीमेंट्स (India Cements) से अवैतनिक अवकाश मांगा था जिसके बाद एमपीसीए (MPCA) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने द्रविड़ के खिलाफ शिकायत की थी.

News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 6:56 PM IST
राहुल द्रविड़ को हितों के टकराव मामले में क्‍लीन चिट: CoA
राहुल द्रविड़.
News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 6:56 PM IST
पूर्व क्रिकेटर राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को बीसीसीआई (BCCI) की प्रशासकों की समिति (Committee of administrators) ने हितों के टकराव मामले (Conflict of Interest) में क्‍लीन चिट दे दी है. सीओए ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के क्रिकेट प्रमुख के रूप में राहुल द्रविड़ की नियुक्ति में ‘हितों के टकराव’ का कोई मसला नहीं है. लेफ्टिनेंट जनरल रवि थोडगे (Ravi Thodge) ने कहा कि गेंद अब बीसीसीआई के लोकपाल सह आचरण अधिकारी डीके जैन के पाले में है.

'राहुल के मामले में हितों का टकराव नहीं'
थोडगे ने कहा, ‘राहुल के मामले में हितों का टकराव नहीं है. उसे नोटिस मिला था और हमने उसकी नियुक्ति को मंजूरी दी थी. हमें हितों का टकराव नहीं दिखा लेकिन अगर लोकपाल को लगता है तो हम उन्हें अपना पक्ष स्पष्ट करेंगे. उसके बाद वह इस पर गौर करेंगे. यह एक प्रक्रिया है जो जारी रहेगी.’

इंडिया सीमेंट्स के कर्मचारी होने के चलते लगा आरोप

भारतीय क्रिकेट के सबसे सम्मानित व्यक्तियों में से एक द्रविड़ पर एनसीए में नियुक्ति के बाद हितों के टकराव का आरोप लगा था चूंकि वह इंडिया सीमेंट्स (India Cements) के कर्मचारी है जो चेन्नई सुपर किंग्स टीम की मालिक है. द्रविड़ ने अपना जवाब जैन को भेज दिया है लेकिन अभी यह पता नहीं चला है कि उन्होंने पद से इस्तीफा दिया है या नहीं. सीओए ने उनकी नियुक्ति के समय स्पष्ट किया था कि द्रविड़ को इंडिया सीमेंट्स के उपाध्यक्ष का पद छोड़ना होगा या कार्यकाल पूरा होने तक छुट्टी पर रहना होगा.

rahul dravid, rahul dravid conflict of interest, bcci coa, bcci committee of administrators, राहुल द्रविड़, हितों का टकराव बीसीसीआई, बीसीसीआई सीओए
राहुल द्रविड़ पर इंडिया सीमेंट का कर्मचारी होने के चलते हितों के टकराव का आरोप लगा है.


द्रविड़ ने इंडिया सीमेंट्स से अवैतनिक अवकाश मांगा था जिसके बाद एमपीसीए के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने द्रविड़ के खिलाफ शिकायत की थी.
Loading...

जस्टिस जैन ने दिया था ये जवाब
इससे पहले इस मामले में जस्टिस डीके जैन ने कहा था कि वे शिकायत के आधार पर काम कर रहे हैं. उन्‍होंने बताया, 'मुझे द्रविड़ के बारे में शिकायत मिली और इसमें आधार था तो मैंने उन्‍हें नोटिस भेजा. मुझे उनके जवाब का इंतजार है. किसी नौकरी से छुट्टी लेने का मतलब यह नहीं है कि आपके पास वह पोस्‍ट नहीं है. हितों के टकराव के नियम साफ है और मैं उन्‍हीं का पालन कर रहा हूं.'

बता दें कि द्रविड़ को नोटिस भेजे जाने पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्‍त प्रशासकों की समिति ने सुझाव दिया था कि उन्‍होंने इंडिया सीमेंट से गैरमौजूद रहने की छुट्टी ले रखी है. लेकिन जस्टिस जैन का कहना है कि द्रविड़ को 14 दिन में जवाब देना होगा.

राहुल द्रविड़ पर सख्त BCCI इथिक्‍स ऑफिसर, बोले- 'पैसे नहीं लेते और छुट्टी पर हैं' वाला बहाना नहीं चलेगा

इंडिया का कोच कौन: यहां मिलेगी सभी दावेदारों की पूरी डिटेल
First published: August 13, 2019, 6:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...