लाइव टीवी

सीएसी के मामले में विनोद राय ने कहा, मुझे हितों का कोई टकराव नजर नहीं आता

भाषा
Updated: September 29, 2019, 7:24 PM IST
सीएसी के मामले में विनोद राय ने कहा, मुझे हितों का कोई टकराव नजर नहीं आता
विनोद राय ने सीएसी का बचाव किया है

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (MPCA) के आजीवन सदस्य संजय गुप्ता (Sanjay Gupta) की शिकायत पर हितों के टकराव का नोटिस जारी होने के बाद शांता (Shantha Rangaswamy) ने इस्तीफा दे दिया है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 29, 2019, 7:24 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. प्रशासकों की समिति (COA) के प्रमुख विनोद राय ने रविवार को कहा कि उनकी समिति को कपिल देव (Kapil Dev) की अगुआई में बनी क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में हितों का कोई टकराव नजर नहीं आता.

सीएसी एक तदर्थ समिति है जिसका गठन पुरुष टीम के मुख्य कोच की नियुक्ति के लिए किया गया था. बीसीसीआई (BCCI) के आचरण अधिकारी न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डीके जैन ने कपिल और सीएसी के उनके साथी सदस्यों शांता रंगास्वामी (Shantha Rangaswamy)  और अंशुमन गायकवाड़ (Anshuman Gaekwad) को नव गठित भारतीय क्रिकेटर्स संघ (आईसीए) का निदेशक होने के लिए नोटिस जारी किया था.

शांता रंगास्वामी ने दिया इस्तीफा

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के आजीवन सदस्य संजय गुप्ता की शिकायत पर हितों के टकराव का नोटिस जारी होने के बाद शांता ने इस्तीफा दे दिया है.

राय ने पीटीआई को बताया, ‘हमने सीएसी की नियुक्ति तदर्थ इकाई के रूप में की थी जिसका काम पुरुष राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच की नियुक्ति करना था. सीओए के रूप में हमें इसमें हितों का कोई टकराव नजर नहीं आता.’ समझा जा रहा है कि मुख्य कोच के रूप में रवि शास्त्री की नियुक्ति के बाद तदर्थ सीएसी का अब कोई अस्तित्व नहीं है. राय से हालांकि जब जैन के आदेश के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

कपिल देव और अंशुमन को देना है जवाब

पूर्व कैग राय ने कहा, ‘आचरण अधिकारी का पद अर्द्धन्यायिक है. मैं यह अंदाजा नहीं लगा सकता कि वह क्या आदेश देंगे और ना ही मैं ऐसा करने वाला हूं. मैंने सिर्फ इतना कहा कि सीओए के रूप में हमने कभी महसूस नहीं किया कि कपिल, शांता या अंशुमन का हितों को टकराव था.’
Loading...

अब यह देखना होगा कि अगर जिस तदर्थ समिति पर सवाल उठाया जा रहा है उसका अब अस्तित्व नहीं है तो क्या कपिल और गायकवाड़ नोटिस का जवाब देंगे या सुनवाई के लिए न्यायमूर्ति जैन के समक्ष पेश होंगे.

बड़ी खबर: नोटिस मिलने के बाद कपिल देव की समिति की अहम सदस्‍य शांता रंगास्वामी ने छोड़ा पद

52 गेंदों में जड़े नाबाद 106 रन, नेपाल के इस बल्‍लेबाज ने विराट कोहली को पीछे छोड़कर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 7:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...