लाइव टीवी

हितों के टकराव के मामले में सचिन को मिली जीत, BCCI के लोकपाल ने उठाया ये कदम

News18Hindi
Updated: May 28, 2019, 7:40 AM IST
हितों के टकराव के मामले में सचिन को मिली जीत, BCCI के लोकपाल ने उठाया ये कदम
सचिन तेंदुलकर के खिलाफ हितों के टकराव के आरोप खारिज. (photo-twitter)

बीसीसीआई के लोकपाल की भूमिका भी निभा रहे जैन ने कहा कि तेंदुलकर ने अपने वकील अमित सिब्बल के जरिये बयान जारी किया जो कि मामला खारिज करने के लिये पर्याप्त है.

  • Share this:
टीम इंडिया के महान बल्‍लेबाज़ सचिन तेंदुलकर पिछले काफी समय से हितों के टकराव के मामले को लेकर चर्चा में थे, लेकिन यह मामला अब खत्‍म हो गया है. बीसीसीआई के लोकपाल और पूर्व न्यायमूर्ति डीके जैन ने सोमवार को सचिन तेंदुलकर के खिलाफ हितों के टकराव के आरोप खारिज कर दिये, क्योंकि इस दिग्गज क्रिकेटर ने सहमति योग्य ‘कार्यक्षेत्र की शर्तें’ उपलब्ध नहीं कराने की दशा में क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएससी) का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया है.

जैन ने अपने दो पेज के फैसले में आरोपों को निराधार करार देते हुए कहा कि तेंदुलकर ने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी कि वह सीएसी के सदस्य के रूप में काम नहीं करेंगे जिसके बाद यह मामला निबटा दिया गया.

उन्होंने अपने फैसले में कहा, ‘एक बार जब बीसीसीआई कार्यक्षेत्र की शर्तों तथा कार्यकाल को स्पष्ट कर देता है तो वह इसका हिस्सा बनने के बारे में फैसला करेंगे. तेंदुलकर खुद को क्रिकेट सलाहकार समिति का हिस्सा नहीं मानते और इस रूप में काम नहीं करेंगे. इस कारण वर्तमान शिकायत कोई मायने नहीं रखती और उसे खारिज किया जाता है. इस प्रकार उसका निबटान किया जाता है.’

सचिन नहीं करेंगे ये काम

बीसीसीआई के लोकपाल की भूमिका भी निभा रहे जैन ने कहा कि तेंदुलकर ने अपने वकील अमित सिब्बल के जरिये बयान जारी किया जो कि मामला खारिज करने के लिये पर्याप्त है.

इसका मतलब है कि अगर सीओए कार्यक्षेत्र की उचित शर्तों को उपलब्ध नहीं कराते तो फिर तेंदुलकर विश्व कप के बाद नये कोच की चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं होंगे.

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के सदस्य संजीव गुप्ता ने तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण पर हितों के टकराव का आरोप लगाया था क्योंकि वे सीएसी सदस्य होने के साथ आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों से भी जुड़े थे.
सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्‍मण. (Photo-PTI)


सचिन-लक्ष्‍मण की शिकायत करने वाला महिला से 'गंदी बात' के मामले में फंसा

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता पर एक महिला के साथ अश्‍लील बातें करने का आरोप है. शादी कराने वाली एक वेबसाइट का दुरुपयोग कर वॉट्सऐप पर एक महिला से अश्लील बातों करने का एक ईमेल मेल एमपीसीए के सदस्यों के पास आया है. इसमें कहा गया है कि संजीव ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए पहले महिला से संपर्क साधा और फिर अश्लील बातें की. महिला की शिकायत के बाद यह मामला सामने आया. महिला ने संजीव गुप्‍ता को ब्‍लॉक करने की मांग वेबसाइट से की थी.

बता दें कि संजीव गुप्‍ता आईपीएल 2019 के दौरान भी सुर्खियों में आए थे. उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण पर हितों के टकराव का आरोप लगाया था. उनका कहना था कि बीसीसीआई की सलाहकार समिति में रहते हुए ये दोनों आईपीएल टीमों के साथ भी जुड़े हुए हैं. इस की शिकायत बीसीसीआई के लोकपाल डीके जैन को की गई थी.

धोनी के आलोचकों पर बरसा ये दिग्‍गज, कहा- उसे मत सिखाओ संन्‍यास कब लेना है
जेसन होल्डर का बड़ा बयान, IPL में होश उड़ाने वाला खिलाड़ी जितायेगा वर्ल्ड कप!
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 28, 2019, 7:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर